Categories
sports

चारों तरफ आग थी, सिर्फ चीखें सुनाई दे रही थीं; 10 फीट नीचे छलांग लगाकर खुद को बचाया


  • कराची में शुक्रवार को लैंडिंग से कुछ मिनट पहले प्लेन क्रैश हुआ था, 97 लोग मारे गए सिर्फ 2 बचे
  • इंजन फेल होने की वजह से हादसा हुआ, रिहायशी इलाके में क्रैश होने से कई घरों को भी नुकसान

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 12:46 PM IST

कराची. पाकिस्तान के कराची में शुक्रवार को हुए प्लेन हादसे में 99 में से सिर्फ 2 लोग बच पाए। इनमें से एक मोहम्मद जुबेर हैं। उन्होंने मीडिया को फोन पर हादसे के बाद का हाल बताया। जुबैर ने कहा- “चारों तरफ आग ही आग दिख रही थी। कुछ नजर नहीं आ रहा था, सिर्फ लोगों की चीख सुनाई पड़ रही थी। एक तरफ थोड़ी लाइट नजर आई, मैं अपनी सीट बेल्ट खोलकर उसी तरफ बढ़ गया। मैंने 10 फीट नीचे कूदकर खुद को बचाया।”

मोहम्मद जुबेर कराची के सिविल अस्पताल में भर्ती हैं।

लोग ईद मनाने आ रहे थे

पेशे से मैकेनिकल इंजीनियर जुबेर गुजरांवाला में एक प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। प्लेन क्रैश होने की वजह से थोड़े जख्मी हो गए, लेकिन गनीमत रही कि जान बच गई। उन्होंने बताया- “ईद मनाने के लिए कई परिवार लाहौर से कराची आ रहे थे। जिस तरह सफर रहा उससे किसी को नहीं लगा कि कोई दिक्कत होगी, बल्कि सभी को सेफ लैंडिंग की उम्मीद थी।

लैंडिंग के एनाउंसमेंट के 2-3 मिनट में प्लेन क्रैश हो गया

जुबेर ने बताया- “पायलट ने लैंडिंग का एनाउंसमेंट कर दिया था, लेकिन अचानक प्लेन झटके खाने लगा। लोग सलामती की दुआ मांगने लगे। पायलट ने 10-15 मिनट के बीच लैंडिंग की दूसरी कोशिश की, लेकिन इस बार एनाउंसमेंट के 2-3 मिनट में ही प्लेन क्रैश हो गया।

बैंक ऑफ पंजाब के प्रेसिडेंट भी बचे

जुबेर के अलावा बचे दूसरे पैसेंजर पाकिस्तान के बैंक ऑफ पंजाब के प्रेसिडेंट जफर मसूद हैं। उन्हें 4 फ्रैक्चर हुए हैं, लेकिन हालत ठीक है। मसूद का रिश्ता भारत से भी है। वे उत्तर प्रदेश के अमरोहा शहर से ताल्लुक रखते हैं और पाकीजा फिल्म के डायरेक्टर कमाल अमरोही के खानदान से हैं।

अस्पताल में जफर मसूद।