Categories
sports

3736 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से 50 लाख प्रवासियों ने सफर किया; अब ऐसी स्पेशल ट्रेनों में एडवांस रिजर्वेशन पीरियड 30 दिन से बढ़ाकर 120 किया गया


  • आने वाले दिनों में स्पेशल ट्रेनों से लगेज और पार्सल बुकिंग की सुविधा भी शुरू की जाएगी
  • एक मई से अब तक 3736 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलीं और इनमें से 3157 मंजिल तक भी पहुंचीं

दैनिक भास्कर

May 28, 2020, 10:22 PM IST

नई दिल्ली. रेलवे ने सभी स्पेशल ट्रेनों में एडवांस रिजर्वेशन पीरियड को 30 दिन से बढ़ाकर 120 दिन कर दिया है। इन ट्रेनों में अब पार्सल और लगेज बुकिंग की सुविधा भी दी जाएगी। रेलवे ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। रेलवे ने बताया कि 1 मई से अब तक 3736 स्पेशल ट्रेनों से 50 लाख प्रवासी मजदूरों ने सफर किया है। 

सबसे ज्यादा 1520 ट्रेनें उत्तर प्रदेश पहुंचीं
रेलवे के आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, 5 राज्यों से सबसे ज्यादा श्रमिक ट्रेनों ने सफर की शुरुआत की यानी इन ट्रेनों का ओरिजिनेटिंग डेस्टिनेशन इन्हीं राज्यों में था। गुजरात से 979, महाराष्ट्र से 695, पंजाब से 397, उत्तर प्रदेश से 236 और बिहार से 263 ट्रेनें शुरू हुईं। 5 राज्यों में सबसे ज्यादा श्रमिक स्पेशल ट्रेनें पहुंचीं। इनमें 1520 ट्रेनें उत्तर प्रदेश, 1296 ट्रेनें बिहार, 167 ट्रेनें झारखंड, 121 ट्रेनें मध्य प्रदेश और 139 ट्रेनें ओडिशा पहुंचीं। 

84 लाख फूड पैकेट और 1.24 करोड़ पानी की बोतलें मुफ्त दीं
रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट किया- मुझे इस बात की खुशी है कि कोरोनावायरस के वक्त में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से 50 लाख से ज्यादा मुसाफिरों ने सफर किया। सभी सुरक्षित तरीके से अपने घरों तक पहुंचे। इस दौरान रेलवे ने 84 लाख फूड पैकेट और 1.24 करोड़ पानी की बोतलें मुफ्त दीं। श्रमिक ट्रेनों से सफर करने वाले हर मुसाफिर को खाना और पानी रेलवे की ओर से दिया जा रहा है। 

Categories
sports

55 नए केस आए, गुड़गांव में कोरोना से तीसरी मौत; राज्य में अब तक 19 की जान गई


  • गुरुवार को गुड़गांव में 30, फरीदाबाद में 13, करनाल में 5, कैथल में 4, फतेहाबाद में 2, कुरुक्षेत्र में एक मरीज मिला
  • 14 मरीज अस्पतालों से किए गए डिस्चार्ज, अब तक कुल 838 मरीजों को मिल चुकी छुट्टी

दैनिक भास्कर

May 28, 2020, 06:25 PM IST

पानीपत. हरियाणा में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1400 पार करते हुए 1440 पहुंच गया है। गुरुवार को 55 नए मरीज आए। वहीं गुड़गांव में कोरोना से तीसरी मौत हो गई। अब प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 19 हो गई है। गुरुवार को गुड़गांव में 30, फरीदाबाद में 13, करनाल में 5, कैथल में 4, फतेहाबाद में 2, कुरुक्षेत्र में 1 मरीज मिला। अभी तक 838 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी भी मिल चुकी है। गुरुवार को 14 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। 

तीन दिन से मरीजों की संख्या बढ़ी तो रिकवरी रेट गिरी
हरियाणा में इस समय 578 एक्टिव मरीज प्रदेश के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती हैं। सबसे ज्यादा 171 एक्टिव मरीज गुड़गांव में मौजूद हैं। अभी तक 1 लाख 6389 के सैंपल जांच के लिए भेजे जा चुके हैं। इनमें से 1 लाख 900 निगेटिव पाए गए हैं जबकि 1440 पॉजिटिव मिले हैं। अभी 4 हजार 58 सैंपल का इंतजार है। पिछले तीन दिन में लगातार बड़ी संख्या में मरीजों के आने से हरियाणा में रिकवरी रेट गिर गया है। अब रिकवरी रेट 59.17 फीसदी पर आ गया है। वहीं मरीजों के डबल होने का रेट 19 दिन से 17 दिन आ गया है। 

करनाल में 5 मरीज मिले एक 10 साल की बच्ची भी कोरोना पॉजिटिव
करनाल में गुरुवार को 5 मरीज पॉजिटिव मिले। इनमें से एक ओल्ड चार चमन, एक मीरा घाटी, एक मरीज शांति नगर, एक कुंजपुरा गांव व एक पखाना गांव में मिला है। अधिकतर की ट्रैवल हिस्ट्री दिल्ली है। इनमें एक 10 साल की बच्ची भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई है।

हरियाणा में अब तक 19 मरीजों की मौत

हरियाणा में अब तक सबसे ज्यादा 7 मरीजों की मौत फरीदाबाद में, 3 मरीजों की मौत गुड़गांव में, 3 की मौत पानीपत में,  2 की अम्बाला में, 1 की सोनीपत में, 1 की जींद में, 1 की करनाल में और 1 मौत रोहतक में हो चुकी है। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1440 पहुंचा

  • अमेरिका से लौटे 21 कोरोना पॉजिटिव के साथ-साथ गुड़गांव में 367, फरीदाबाद में 275, सोनीपत में 174, झज्जर में 97, नूंह में 66, अंबाला में 47, पलवल में 51, पानीपत में 59, पंचकूला में 25, जींद में 27, करनाल में 42, रोहतक में 19, महेंद्रगढ़ में 36 रेवाड़ी में 18, सिरसा में 11, फतेहाबाद में 11, यमुनानगर में 8, हिसार में 22, कुरुक्षेत्र में 22, भिवानी में 11, कैथल में 10, चरखी-दादरी में 7 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।
  • हरियाणा में अब कुल 838 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 193, फरीदाबाद में 120, सोनीपत में 124, नूंह में 65, झज्जर में 90, अंबाला में 40, पलवल 39, पानीपत में 33, पंचकूला में 25, जींद में 18, करनाल में 16, यमुनानगर में 8, सिरसा में 9, रोहतक में 11, महेंद्रगढ़ में 6, भिवानी में 6,  हिसार में 3, कैथल में 4, फतेहाबाद में 6, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1, रेवाड़ी में 4 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

जरूरतमंदों की सहायता के लिए जंगल में पैदल निकल पड़ती हैं तेलंगाना की ये विधायक, जहां भूख लगती है वहीं बैठ भोजन भी कर लेती हैं


  • मात्र 16 साल की उम्र में बंदूक उठाकर जो लड़की गरीबों और आदिवासियों को न्याय दिलाने के लिए चल पड़ी थीं
  • आज 48 साल की उम्र में विधायक के रूप में गरीबों और आदिवासियों की मदद में जुटी हैं, आज भी अंदाज वही है

दैनिक भास्कर

May 28, 2020, 11:44 AM IST

हैदराबाद. सिर पर भारी सामान का बोझ लादे घने जंगल में चली जा रही यह महिला कोई मजदूर नहीं बल्कि तेलंगाना के मुलुगु निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस विधायक हैं। वैसे तो इनका नाम दानसरी अनुसूया है मगर इन्हें लोग सितक्का के नाम से ज्यादा जानते हैं। वह पिछले 60 दिनों से लगातार घने जंगलों में कभी पैदल, कभी मोटर साइकिल तो कभी बैलगाड़ी में चल रही हैं। उनका मकसद कोरोना महामारी के चलते लगे लॉकडाउन से परेशान उन गरीब आदिवासियों की मदद करना है, जिनके पास अब खाने के लिए रोटी तक नहीं है।

कभी केवल 16 साल की उम्र में बंदूक उठाकर गरीबों और आदिवासियों की मदद करने के लिए निकल पड़ी लड़की आज 48 साल की हो चुकी हैं। फर्क बस इतना है कि आज विधायक के रूप में लोगों की मदद कर रही हैं। जंगल की यह बेटी आज भी लोगों की मदद के लिए कई किलोमीटर तक पैदल ही चल पड़ती हैं। सितक्का ने करीब 16 साल पहले आत्म समर्पण कर दिया था। 

सितक्का जनसेवा के इरादे से राजनीति में आईं

इसके बाद समाज की मुख्य धारा में आईं सितक्का ने एलएलबी की पढ़ाई पूरी की। फिर जनसेवा के इरादे से राजनीति में आ गईं। फिलहाल सितक्का तेलंगाना के मुलुगु निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस विधायक हैं। इन दिनों वह अपने निर्वाचन क्षेत्र के दुर्गम इलाकों में घूम-घूमकर जरूरतमंद लोगों तक सीधे सहायता पहुंचा रही हैं।

माओवादी कमांडर से जननेता तक का सफर

एक जमाने में माओवादी कमांडर के रूप में बुलेट की राह पर चली सितक्का आज बैलेट की ताकत से लोगों के दिलों पर राज करती हैं। किसी भी गांव में राशन पहुंचाने के लिए खुद ही सामान लादकर मदद के लिए निकल पड़ती हैं। यदि भूख लग जाए तो वहीं बैठकर भोजन भी कर लेती हैं।

सितक्का इन दुर्गम आदिवासी इलाकों में आवश्यक वस्तुएं पहुंचाने के साथ-साथ लोगों को कोरोना वायरस के प्रति जागरूक भी करती हैं। इन दिनों सोशल मीडिया पर उनकी खासी तारीफ भी हो रही है।

गो हंगर गो मिशन के जरिए कर रही हैं मदद

गो हंगर गो मिशन के जरिए लोगों की मदद करने के लिए सितक्का बीते करीब दो महीनों से सुबह-सुबह ही अपने समर्थकों के साथ निकल पड़ती हैं। उनके साथ होती हैं आवश्यक वस्तुएं। दाल-चावल, फल-सब्जियां आदि। कुछ दानदाताओं के द्वारा उपलब्ध सामग्री होती है तो कुछ सितक्का खुद जुटाती हैं। चूंकि, ज्यादातर जगह सीधी सड़क नहीं तो कभी गाड़ी तो कभी बैलगाड़ी तो कभी साइकिल, जो मिलता है सितक्का उससे चल पड़ती हैं। 

मुलुगु निर्वाचन क्षेत्र में लगभग 700 गांव हैं। इनमें से 500 से ज्यादा गांवों में सितक्का वस्तुएं पहुंचा चुकी हैं। उनकी लोकप्रियता का आलम यह है कि जहां वे जाती हैं, लोग उनके लिए ढोल बजाने लगते हैं। सितक्का न सिर्फ लोगों को भोजन परोसती हैं बल्कि उन्हीं के साथ बैठकर भोजन करती भी हैं।

सिर्फ अपने निर्वाचन क्षेत्र में ही नहीं बल्कि पड़ोसी राज्य आंध्र के पूर्वी और पश्चिम गोदावरी जिले के दुर्गम इलाकों में भी सितक्का बोट के द्वारा तो कहीं पैदल पहुंच जाती हैं। पूर्वी गोदावरी के चिंतूर में कुछ इलाके इतने दुर्गम हैं कि पांच पहाड़ियां पार करके वहां पहुंचना पड़ता है मगर सितक्का ने वहां जाकर भी मदद की है।

Categories
sports

32 नए मरीज मिले, फरीदाबाद में 28 पॉजिटिव आए, इनमें 6, 9 और 10 साल की तीन बच्ची भी शामिल


  • बुधवार को हरियाणा के फरीदाबाद में 28, रोहतक में 3, सिरसा में एक पॉजिटिव मिला
  • 4 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया, अब तक 824 मरीज ठीक होकर जा चुके घर

दैनिक भास्कर

May 27, 2020, 06:17 PM IST

पानीपत/फरीदाबाद. हरियाणा में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बुधवार को बढ़कर 1341 पहुंच गई। 32 नए मरीजों का इजाफा हुआ। अकेले फरीदाबाद में 28 मरीज मिले हैं। वहीं रोहतक में 3, सिरसा में 1 कोरोना पॉजिटिव सामने आया है। बुधवार को 4 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी मिली। प्रदेश में अब तक 824 मरीज ठीक हो चुके हैं। 

फरीदाबाद में दो दिन के अंदर आए 51 केस

फरीदाबाद में दो दिन के अंदर 51 केस आ चुके हैं। मंगलवार को यहां 23 केस मिले थे, जबकि बुधवार को 28 केस मिले हैं। इन 28 में तीन बच्चे भी शामिल हैं। इनमें ग्रीन फील्ड कॉलोनी की 6 वर्षीय बच्ची, पर्वतीय कॉलोनी की 9 साल की बच्ची और आदर्श नगर बल्लभगढ़ की 10 वर्षीय बच्ची भी पॉजिटिव पाई गई है। स्वास्थ्य विभाग ने पॉजिटिव मिलने वाले इलाकों को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1341 पहुंचा

  • अमेरिका से लौटे 21 कोरोना पॉजिटिव के साथ-साथ गुड़गांव में 317, फरीदाबाद में 262, सोनीपत में 163, झज्जर में 93, नूंह में 66, अंबाला में 47, पलवल में 43, पानीपत में 59, पंचकूला में 25, जींद में 29, करनाल में 36, रोहतक में 19, महेंद्रगढ़ में 36 रेवाड़ी में 18, सिरसा में 11, फतेहाबाद में 9, यमुनानगर में 8, हिसार में 22, कुरुक्षेत्र में 21, भिवानी में 11, कैथल में 6, चरखी-दादरी में 7, भिवानी में 11 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • हरियाणा में अब कुल 828 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 183, फरीदाबाद में 120, सोनीपत में 124, नूंह में 65, झज्जर में 90, अंबाला में 40, पलवल 39, पानीपत में 33, पंचकूला में 25, जींद में 18, करनाल में 16, यमुनानगर में 8, सिरसा में 9, रोहतक में 11, महेंद्रगढ़ में 6, भिवानी में 6,  हिसार में 3, कैथल में 4, फतेहाबाद में 6, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1, रेवाड़ी में 4 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

फरीदाबाद में बढ़ते मामलों के बीच कोरोना फैलाव रोकने के लिए 5 कमेटियां गठित


  • सभी कमेटियां एक साथ एक कमांड पर काम करेंगी
  • हरियाणा में कोरोना के मरीजों की संख्या 1300 पार

दैनिक भास्कर

May 27, 2020, 12:20 PM IST

पानीपत. हरियाणा में लॉकडाउन फेस-4 का 10वां दिन है। प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1300 पार कर गई है। मंगलवार को प्रदेशभर में करीब 100 मरीज मिले थे। फरीदाबाद और गुड़गांव में लगातार मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। फरीदाबाद में बढ़ते मरीजों के आंकड़े के मद्देनजर जिला प्रशासन ने कोरोना फैलाव को रोकने के लिए 5 कमेटियां गठित की हैं। ये सभी कमेटियां एक साथ एक कमांड पर कार्य करेंगी। सभी कमेटियों को प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। 

डीसी यशपाल यादव ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं। उनका कहना है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी है कि एक बड़ी श्रृंखला बनाई जाए ताकि कम से कम घरों पर लोकल कमेटी के एक सदस्य को नियुक्त किया जाए। यह सदस्य अपने आसपास के क्षेत्र में कोरोना जैसे लक्षण वाले व्यक्ति की पहचान करने, आसपास के लोगों की ट्रैवल हिस्ट्री पर नजर रखने, सरकार व जिला प्रशासन की ओर से जारी हिदायतों व एसओपी की अनुपालना करवाने, क्वारंटाइन किए लोगों को घरों में रखने, कंटेनमेंट जोन में जरूरी वस्तुओं की सप्लाई सुनिश्चित करवाने, लोगों में जागरूकता पैदा करने आदि कार्य करेंगे तथा इसकी नियमित रिपोर्टिंग करेंगे।

गर्मी की वजह से प्रदेशभर में बाजारों में लोगों की आवाजाही कम हुई

हरियाणा में तेज धूप और लू की वजह से कई शहरों में तापमान 47 डिग्री पहुंच गया है। ऐसे में दोपहर के समय बाजारों और सड़कों पर लोगों की आवाजाही कम हो गई है। इससे कहीं न कहीं कोरोना को हराने में भी सहायता मिल रही है। हालांकि सुबह और शाम के समय बाजारों में लोगों की भीड़ नजर आ रही है। पुलिस को अब भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाना पड़ रहा है। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1300 पार पहुंचा

  • अमेरिका से लौटे 21 कोरोना पॉजिटिव के साथ-साथ गुड़गांव में 317, फरीदाबाद में 234, सोनीपत में 163, झज्जर में 93, नूंह में 66, अंबाला में 47, पलवल में 43, पानीपत में 59, पंचकूला में 25, जींद में 29, करनाल में 36, रोहतक में 16, महेंद्रगढ़ में 36 रेवाड़ी में 18, सिरसा में 10, फतेहाबाद में 9, यमुनानगर में 8, हिसार में 22, कुरुक्षेत्र में 21, भिवानी में 11, कैथल में 6, चरखी-दादरी में 7, भिवानी में 11 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • हरियाणा में अब कुल 824 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 183, फरीदाबाद में 120, सोनीपत में 124, नूंह में 65, झज्जर में 90, अंबाला में 40, पलवल 39, पानीपत में 33, पंचकूला में 24, जींद में 18, करनाल में 16, यमुनानगर में 8, सिरसा में 9, रोहतक में 11, महेंद्रगढ़ में 6, भिवानी में 6,  हिसार में 3, कैथल में 4, फतेहाबाद में 6, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1, रेवाड़ी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

अवैध शराब बेचने वाले को कोर्ट ने भेजा जेल, 5वें दिन पता चला वह पॉजिटिव है; अब थाना, कोर्ट, जेल सब हो रही सैनिटाइज


  • हरियाणा में सिरसा जिले के बणी गांव का रहने वाला है कोरोना पॉजिटिव
  • ऐलनाबाद कोर्ट में पेश किया था और ऐलनाबाद में ही लिया गया था सैंपल

दैनिक भास्कर

May 26, 2020, 04:31 PM IST

सिरसा. सिरसा में सोमवार शाम को करीवाला पुलिस चौंकी, ऐलनाबाद कोर्ट और सिरसा जेल में अचानक से टेंशन बढ़ गई। दरअसल, इसका कारण एक अवैध शराब बेचने वाला आरोपी था, जिसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इस बात का पता 5वें दिन चला, क्योंकि उसकी रिपोर्ट 25 मई को आई थी और उसे जेल 21 मई को जेल भेजा गया था। अब इन सभी जगहों को सैनिटाइज किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग उसके संपर्क में आए सभी की थर्मल स्क्रीनिंग कर रहा है। 

16 अप्रैल से 25 अप्रैल तक का ये है पूरा घटनाक्रम

  • ये पूरा घटनाक्रम शुरू हुआ बणी गांव के एक व्यक्ति से जो चाय की दुकान चलाता है। पुलिस ने उसके पास से 16 मई को 50 अवैध शराब की बोतलें पकड़ी। इसके बाद 20 मई को फिर से उसके पास से 20 शराब की बोतलें पकड़ी गई। इनमें घर पर निकाली गई शराब भरी हुई थी। 
  • सिरसा के करीवालां गांव की पुलिस उसे करीवाला चौकी ले गई। 1 रात उसे करीवाला चौकी में रखा गया। इसके बाद 21 मई को उसे ऐलनाबाद सिविल अस्पताल में ले जाया गया। वहां उसका मेडिकल करवाया गया। मेडिकल के दौरान उसका कोरोना सैंपल भी ले लिया गया। 
  • 21 मई को ही आरोपी को ऐलनाबाद कोर्ट में पेश किया गया। वहां से उसे सिरसा जेल भेज दिया गया। आरोपी एक दिन जेल में रहा। इसके बाद 22 मई को उसे जमानत मिल गई। वह अपने घर ही रह रहा था कि 25 मई को उसकी कोरोना रिपोर्ट आ गई, जिसमें पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई। 
  • अब उसे सिविल अस्पताल में क्वारैंटाइन कर दिया गया है। अब करीवाला चौकी, ऐलनाबाद कोर्ट, सिरसा जेल को सैनिटाइज किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग वहां थर्मल स्क्रीनिंग कर रहा है। यहां काम करने वाले कर्मचारियों की भी टैंशन बढ़ गई है। कोरोना पॉजिटिव पाए गए व्यक्ति की हिस्ट्री खंगाली जा रही है। चर्चा ये भी है कि वह राजस्थान आता-जाता था, इसी दौरान वह कोरोना संक्रमित हुआ। 
Categories
sports

23 नए केस आए, गुड़गांव में 12 पॉजिटिव केस मिले, प्रदेशभर में महज 1 मरीज हुआ डिस्चार्ज


  • हरियाणा में मंगलवार तक 1 लाख से ज्यादा मरीजों के सैंपल की हुई जांच
  • 96 हजार 285 लोगों की रिपोर्ट आई निगेटिव, 3484 की रिपोर्ट का अभी इंतजार

दैनिक भास्कर

May 26, 2020, 04:13 PM IST

पानीपत. हरियाणा में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1234 पहुंच गया है। मंगलवार दोपहर तक 23 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इनमें सबसे ज्यादा गुड़गांव के 12 मरीज शामिल है। इसके अलावा पानीपत में 5, भिवानी में 3, फरीदाबाद में 2 और सिरसा में 1 मरीज मिला है। वहीं ठीक होने वाले मरीजों की बात करें तो मंगलवार को कैथल में 1 मरीज डिस्चार्ज हुआ। इस समय 415 एक्टिव मरीज मौजूद हैं। 

हरियाणा में 1 लाख से ज्यादा सैंपल भेजे जा चुके हैं जांच के लिए

हरियाणा में अभी तक 1 लाख 1 हजार 3 मरीजों के सैंपल कोरोना जांच के लिए भेजे जा चुके हैं। इनमें से 96 हजार 285 मरीजों के सैंपल निगेटिव आए हैं, जबकि 3484 की रिपोर्ट का अभी इंतजार है। वहीं 1234 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। रिकवरी रेट 65.34 प्रतिशत पहुंच गया है। मरीजों का डबलिंग रेट 19 दिन पहुंच गया है।

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1234 पहुंचा

  • अमेरिका से लौटे 21 कोरोना पॉजिटिव के साथ-साथ गुड़गांव में 296, फरीदाबाद में 213, सोनीपत में 163, झज्जर में 93, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 41, पानीपत में 59, पंचकूला में 25, जींद में 29, करनाल में 33, रोहतक में 16, महेंद्रगढ़ में 21, रेवाड़ी में 16, सिरसा में 10, फतेहाबाद में 9, यमुनानगर में 8, हिसार में 20, कुरुक्षेत्र में 18, भिवानी में 8, कैथल में 6, चरखी-दादरी में 7, भिवानी में 11 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • हरियाणा में अब कुल 803 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 166, फरीदाबाद में 120, सोनीपत में 124, नूंह में 65, झज्जर में 90, अंबाला में 40, पलवल 37, पानीपत में 33, पंचकूला में 24, जींद में 18, करनाल में 16, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 10, महेंद्रगढ़ में 6, भिवानी में 6,  हिसार में 3, कैथल में 4, फतेहाबाद में 6, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1, रेवाड़ी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

जमातियों की वजह से एक समय सबसे ज्यादा प्रभावित जिला रहा नूंह अब कोरोना मुक्त, सभी मरीज हुए ठीक


  • नूंह जिले में 65 कोरोना संक्रमित मरीज थे, जो ठीक होकर हुए डिस्चार्ज
  • हरियाणा में कोरोना मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 1200 के पार

दैनिक भास्कर

May 26, 2020, 11:35 AM IST

पानीपत/गुड़गांव. हरियाणा में लॉकडाउन के चौथे चरण का 8वां दिन है। हरियाणा में इस समय कोरोना मरीजों की संख्या 1200 पार करते हुए 1213 पहुंच गई है। वहीं एक अच्छी खबर ये है कि एक समय कोरोना की वजह से सबसे ज्यादा संक्रमित रहा नूंह जिला अब कोरोना मुक्त हो गया है। यहां कोरोना संक्रमित सभी 65 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। पिछली 16 मई से यहां कोई केस नहीं आया है। यहां कोरोना की वजह से किसी की मौत भी नहीं हुई है। 

65 में से 42 जमाती थे, जमातियों की वजह से ही ज्यातार मामले आए थे

नूंह जिले में मिले 65 पॉजिटिव केस में से 42 जमाती थे। जमातियों की वजह से ही यहां पर एकदम से कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़ गया था। अब एक भी कोरोना एक्टिव केस नहीं है। जिला प्रशासन फिर भी एहतियात के तौर पर लॉकडाउन की अनुपालना करने के लिए लगातार निर्देश जारी कर रहा है। मुस्लिम आबादी वाले नूंह जिले में कोरोना की वजह से लोगों ने ईद की नमाज भी घरों में अदा की, मस्जिदों में कोई नहीं गया। 

ठीक हो चुके जमातियों को भेजा गया उनके राज्यों में

नूंह जिले में मिले कोरोना संक्रमित सभी जमाती ठीक हो चुके हैं। इसके अलावा जो जमाती पॉजिटिव नहीं थे। उन्हें क्वारैंटाइन किया गया था। इनमें ज्यादातर दूसरे राज्यों व विदेशी थे। दूसरे राज्यों के जमातियों को उनके गृह राज्यों में भेज दिया गया है। जबकि विदेशियों पर मामला दर्ज कर उन्हें जेल भेजा गया है। 

ये था प्रदेश में संक्रमित जमातियों का आंकड़ा

प्रदेश में मिले कुल संक्रमित में से जमातियों की संख्या 121 है। इनमें सबसे ज्यादा संख्या नूंह जिले की है। यहां कुल 42 जमाती संक्रमित मिले थे। इसके अलावा पलवल में 29, फरीदाबाद में 17, गुरुग्राम में 15, अम्बाला में 5, पंचकूला और यमुनागर में तीन-तीन, भिवानी में 2, कैथल, चरखी दादरी, जींद, फतेहाबाद और सोनीपत में एक-एक जमाती संक्रमित मिला था। इन्हें अलग-अलग मस्जिदों व गांवों से पकड़ा गया है।  

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1213 पहुंचा

  • अमेरिका से लौटे 21 कोरोना पॉजिटिव के साथ-साथ गुड़गांव में 284, फरीदाबाद में 211, सोनीपत में 163, झज्जर में 93, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 41, पानीपत में 54, पंचकूला में 25, जींद में 29, करनाल में 33, रोहतक में 16, महेंद्रगढ़ में 21, रेवाड़ी में 16, सिरसा में 9, फतेहाबाद में 9, यमुनानगर में 8, हिसार में 20, कुरुक्षेत्र में 18, भिवानी में 8, कैथल में 6, चरखी-दादरी में 7, भिवानी में 8 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • हरियाणा में अब कुल 802 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 166, फरीदाबाद में 120, सोनीपत में 124, नूंह में 65, झज्जर में 90, अंबाला में 40, पलवल 37, पानीपत में 33, पंचकूला में 24, जींद में 18, करनाल में 16, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 10, महेंद्रगढ़ में 6, भिवानी में 6,  हिसार में 3, कैथल में 3, फतेहाबाद में 6, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1, रेवाड़ी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

अल्फांसो और केसर 30% तक सस्ते, दशहरी हो सकता है 25% महंगा


  • निर्यात में गिरावट से महंगे आमों को नहीं मिल रहे खरीदार, देश में ही करनी पड़ रही है खपत
  • उत्तर प्रदेश में आंधी और ओलावृष्टि के कारण दशहरी की आधी फसल खराब होने का दावा

बिजल नवलखा, मंगेश फल्ले

May 26, 2020, 11:19 AM IST

अहमदाबाद/पुणे/लखनऊ. कोरोनावायरस के चलते पूरी दुनिया परेशान है, लेकिन इसकी वजह से भारत में अल्फांसो और केसर जैसे महंगे आमों का स्वाद ज्यादा लोग ले सकेंगे। वजह है इनकी कीमत में 30% तक की गिरावट होना। यह गिरावट निर्यात में कमी आने के चलते हुई है। हालांकि, मौसम की मार झेल चुके एक अन्य प्रमुख आम दशहरी के लिए शायद आपको इस साल जेब ज्यादा ढीली करनी पड़ जाए।  

जो अल्फांसो मुंबई और पुणे जैसे शहरों में 700 रुपए प्रति दर्जन तक बिकता था, वह अब 400 से 500 रुपए में बिक रहा है। गुजरात के आम कारोबारियों के मुताबिक, केसर आम का मौसम अब शुरू हुआ है और धीरे-धीरे ये बाजार में आना शुरू हो रहे हैं। यहां मौसम की वजह से उत्पादन में कमी आने का अनुमान है।

लेकिन, निर्यात की खराब हालत देखते हुए इनकी कीमतों में भी इस साल पिछले साल की तुलना में 20 से 30% फीसदी तक की कमी आना तय माना जा रहा है। 

दशहरी 25 से 30% महंगा रहने के आसार 
उत्तर प्रदेश के आम कारोबारी डीके शर्मा के मुताबिक, पिछले महीने आंधी और ओलावृष्टि से लखनऊ समेत कई जिलों में दशहरी आम 70% तक खराब हो गए हैं। आपूर्ति कम होने व ट्रांसपोर्टेशन की लागत बढ़ने की वजह से इसकी कीमतों में पिछले साल की तुलना में 25 से 30% इजाफा होने की उम्मीद है। 

इस बार 75% तक गिरा आम का निर्यात
भारत दुनिया का सबसे बड़ा आम उत्पादक और निर्यातक है। दुनियाभर में 40% आमों का निर्यात भारत करता है। एपीडा के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल भारत ने 385 करोड़ रुपए से अधिक मूल्य वाले 48468 टन आमों का निर्यात किया। निर्यातकों की मानें तो इस साल 12 हजार टन का निर्यात भी मुश्किल लग रहा है। भारतीय आम के तीन सबसे बड़े बाजार खाड़ी देश, यूरोप और अमेरिका हैं।

पैकिंग और ग्रेडिंग के लिए नहीं मिल रहे मजदूर

कोरोनावायरस महामारी की वजह से इस साल निर्यात मुश्किल हो रहा है। थोड़ा बहुत जो कारोबार हो रहा है, उसमें भी परेशानी आ रही है, क्योंकि पैकिंग और ग्रेडिंग के लिए मजदूर नहीं मिल रहे हैं।
-बटुकभाई, आशापुरा फार्म, कच्छ

Categories
sports

वायरस को मात देने वालों की संख्या बढ़ी, 37 मरीज ठीक हुए, अब तक 802 को मिली अस्पताल से छुट्टी


  • सोमवार को 29 नए मामले आए, अब कुल 1213 मरीज संक्रमित
  • प्रदेश में मरीजों का डबलिंग रेट 18 दिन पर आया

दैनिक भास्कर

May 25, 2020, 08:25 PM IST

पानीपत. मई माह के अंतिम सप्ताह की शुरूआत राहत के साथ हुई। कोरोना को मात देने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है तो संक्रमण फैलने की गति धीमी पड़ रही है। सोमवार का दिन राहत भरा रहा, 37 मरीज ठीक होकर घर लौटे तो 29 नए संक्रमण की चपेट में आए। 

हालांकि एनसीआर से सटे गुरुग्राम व फरीदाबाद में लगातार आ रहे मरीजों से संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। गुरुग्राम में तो आंकड़ा 300 के करीब पहुंच चुका है। हालांकि लगातार ठीक हो रहे मरीजों से रिकवरी व डबलिंग रेट बढ़ने से कोरोना नियंत्रण में दिखाई दे रहा है। 

सोमवार को को 29 नए मामलों के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 1213 पर पहुंच गया जबकि 37 मरीज ठीक होकर घर की ओर लौटे, अब केवल 395 एक्टिव मरीज बचे हैं। हालांकि संदिग्धों के सैंपल लेने की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है, प्रत्येक 10 लाख पर जांच का आंकड़ा 3944 पर पहुंच गया। 

29 नए मरीजों में गुरुग्राम में 13, सोनीपत में 4, जींद व कुरुक्षेत्र में 3-3, फरीदाबाद में 2, करनाल, फतेहाबाद, हिसार व चरखी-दादरी में 1-1 मरीज आया तो गुरुग्राम से 18, सोनीपत से 8, करनाल से 5, भिवानी व महेंद्रगढ़ से 2-2 तथा पानीपत व रोहतक से 1-1 मरीज ठीक होकर घर लौटा। प्रदेश में कोरोना संदिग्धों के सैंपल लेने का आंकड़ा एक लाख के करीब पहुंच गया। अभी तक 99987 सैंपल लिए गए हैं, जिसमें से 94725 की रिपोर्ट नेगेटिव आए हैं तो 4049 की रिपोर्ट का इंतजार है। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1213 पहुंचा

  • अमेरिका से लौटे 21 कोरोना पॉजिटिव के साथ-साथ गुड़गांव में 284, फरीदाबाद में 211, सोनीपत में 163, झज्जर में 93, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 41, पानीपत में 54, पंचकूला में 25, जींद में 29, करनाल में 33, रोहतक में 16, महेंद्रगढ़ में 21, रेवाड़ी में 16, सिरसा में 9, फतेहाबाद में 9, यमुनानगर में 8, हिसार में 20, कुरुक्षेत्र में 18, भिवानी में 8, कैथल में 6, चरखी-दादरी में 7, भिवानी में 8 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।
  • हरियाणा में अब कुल 802 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 166, फरीदाबाद में 120, सोनीपत में 124, नूंह में 65, झज्जर में 90, अंबाला में 40, पलवल 37, पानीपत में 33, पंचकूला में 24, जींद में 18, करनाल में 16, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 10, महेंद्रगढ़ में 6, भिवानी में 6,  हिसार में 3, कैथल में 3, फतेहाबाद में 6, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1, रेवाड़ी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

मौसम विभाग ने कहा- 27 मई तक गर्मी से राहत नहीं; 29 से कम हो सकती है तपिश, जून के पहले हफ्ते में केरल पहुंचेगा मॉनसून


  • माैसम विभाग विज्ञानी डाॅ. एन.कुमार ने बताया कि पंजाब, हरियाणा, दक्षिणी उप्र, मप्र, राजस्थान, तेलंगाना और तटीय आंध्र में तापमान बढ़ेगा
  • तापमान 47 डिग्री तक भी जा सकता है, दिल्ली में 25 और 26 मई काे अधिकतम तापमान 46 डिग्री रहने का अनुमान
  • रविवार काे राजस्थान का चूरू 47.4 डिग्री तापमान के साथ देश में सबसे गर्म स्थान था, ओडिशा के टिटलागढ़ में पारा 45 डिग्री पर

दैनिक भास्कर

May 25, 2020, 07:43 PM IST

नई दिल्ली. भीषण गर्मी से जूझ रहे लोगों को कम से कम दो दिन इसका सामना और करना पड़ेगा। मौसम विभाग के मुताबिक, गर्मी अपने चरम पर पहुंच चुकी है। 27 मई तक ऐसा ही मौसम रहेगा यानी तीखी तपिश जारी रहेगी। 29 मई से राहत के आसार हैं। मौसम विभाग के वैज्ञानिक राजेंद्र कुमार के मुताबिक, 29 मई से गर्मी कम हो सकती है। कुमार ने न्यूज एजेंसी से कहा, “गर्मी अपने चरम पर पहुंच चुकी है। ये तपिश 27 मई तक जारी रहेगी। 29 मई से इसमें कुछ राहत मिलने की उम्मीद है क्योंकि मॉनसून करीब होगा। ये जून के पहले हफ्ते में केरल पहुंचेगा। इस साल मॉनसून सामान्य रहेगा।”

नाैतपा भी शुरू

साेमवार से नाैतपा भी शुरू हो गए। माैसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले पांच दिन पांच राज्याें राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और तेलंगाना के अधिकतर हिस्से भीषण लू की चपेट में रहेंगे। वहीं 45 डिग्री से ज्यादा तापमान रहने से दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और राजस्थान के लिए रेड वार्निंग जारी की गई है। माैसम विभाग विज्ञानी डाॅ. एन.कुमार ने बताया कि पंजाब, हरियाणा, दक्षिणी उप्र, मप्र, राजस्थान, तेलंगाना और तटीय आंध्र में तापमान लगातार बढ़ेगा। तापमान 47 डिग्री तक भी जा सकता है। दिल्ली में 25 और 26 मई काे अधिकतम तापमान 46 डिग्री तक रह सकता है।

चूरू 47.4 डिग्री तापमान के साथ देश का सबसे गर्म स्थान रहा
उधर, रविवार काे राजस्थान का चूरू 47.4 डिग्री तापमान के साथ देश का सबसे गर्म स्थान रहा। शनिवार काे राजस्थान का ही पिलानी 46.7 डिग्री के साथ सबसे गर्म स्थान था। निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट के महेश पालावत के अनुसार, दिल्ली और आसपास, पंजाब के उत्तरी हिस्से, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में प्री-माॅनसून गतिविधियाें के चलते राहत मिलेगी। शनिवार काे दिल्ली का तापमान 46.2 डिग्री दर्ज किया गया था, जाे इस माैसम का अधिकतम था।

ओडिशा के लिए यलाे वार्निंग, टिटलागढ़ में पारा 45 डिग्री से ऊपर

माैसम विभाग ने रविवार काे ओडिशा के लिए यलाे वार्निंग जारी की है। राज्य के 13 माैसम केंद्राें पर रविवार काे तापमान 41 डिग्री सेल्सियस से अधिक रिकाॅर्ड किया गया है। इसमें बाेलंगिर जिले का टिटिलागढ़ सबसे ऊपर है। यहां 45.5 डिग्री तापमान रहा। 48 घंटाें में पश्चिमी हिस्से में तापमान 2 से 3 डिग्री बढ़ सकता है।

उधर, पूर्वोत्तर के राज्यों में बारिश हो रही

  • मेघालय में बादल फटने से तबाही: राज्य के पश्चिमी गारो पर्वतीय जिले के कई गांवों में शनिवार रात बादल फटने से भारी तबाही हुई है। रक्सामगरे और तिक्रीकिला तालुका में भीषण बारिश से कई गांवों में पानी भर गया। कलेक्टर राम सिंह के मुताबिक, बाजार, स्कूल और घर जलमग्न हो गए हैं। कोई जनहानि नहीं हुई है।
  • सिक्किम में भूस्खलन, महिला की माैत: उत्तरी जिले में कुछ दिन से हाे रही बारिश के बीच रविवार काे हुए भूस्खलन से एक महिला की माैत हाे गई। दाे अन्य घायल हाे गईं।
  • असम में भारी बारिश के आसार: माैसम विभाग ने असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश के कुछ स्थानाें पर अगले 24 घंटाें में भारी से अत्यधिक भारी बारिश के आसार जताए हैं।
Categories
sports

फरीदाबाद में गुड़गांव से आए व्यक्ति की कोरोना से मौत, गुड़गांव में महिलाओं के मुकाबले दोगुने पुरुष संक्रमित


  • हरियाणा में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंची 1187
  • 791 मरीज अस्पतालों से डिस्चार्ज होकर पहुंचे घर

दैनिक भास्कर

May 25, 2020, 04:49 PM IST

पानीपत/फरीदाबाद/गुड़गांव. हरियाणा में लॉकडाउन-4 का 7वां दिन है। फरीदाबाद में सोमवार को गुड़गांव के एक व्यक्ति की कोरोना की वजह से मौत हो गई। उसे गुड़गांव से यहां रेफर किया गया था। इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। इसकी पुष्टि फरीदाबाद के कोरोना के नोडर अधिकारी ने की है। प्रदेशभर के हालात की बात करें तो ईद के दिन मस्जिदों में कोई नमाजी नहीं पहुंचा। मस्जिदों के बाहर बाकायदा पोस्टर लगे मिले कि लॉकडाउन के चलते ईद की नमाज अपने घर में ही अदा करें। बाजार सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक खुले। कुछ जगह लोग जिला प्रशासन के नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए अपने मन से दुकानें खोल रहे हैं, वहां जिला प्रशासन, नगर निकाय और पुलिस टीमों द्वारा दुकानदारों के चालान किए जा रहे हैं। 

फरीदाबाद में प्रोटोकॉल के तहत किया अंतिम संस्कार 

फरीदाबाद के सेक्टर-21 बी निवासी 21 वर्षीय एक कोरोना संभावित मरीज की रविवार को मौत हो गई। कोविड-19 के प्रोटोकॉल के तहत उसका अंतिम संस्कार किया गया। बताया जा रहा है कि युवक को कुछ दिनों से बुखार और गले में दर्द की शिकायत थी। शनिवार देर रात युवक के पिता ने उन्हें बादशाह खान अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया था। उपचार कर रहे डॉक्टर के अनुसार युवक की हालत बहुत की गंभीर थी। युवक ने रविवार सुबह से अस्पताल में अंतिम सांस ली। 

उच्च अधिकारियों को सूचना मिली तो आपातकाल में भर्ती मरीजों को दूसरे वॉर्ड में शिफ्ट कर पूरे वार्ड को सेनेटाइज कर एक घंटे के लिए बंद कर दिया गया। वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ. विकास शर्मा ने बताया कि सरकारी गाइड लाइन के अनुसार यदि किसी भी बुखार से पीड़ित मरीज की अस्पताल में मौत होती है, तो उसे कोविड-19 के प्रोटोकॉल के अनुसार अंतिम संस्कार कराने के निर्देश हैं। मृतक के शव का अंतिम संस्कार कराने के लिए नगर निगम को सौंप दिया गया है। 

गुड़गांव में कोरोना मरीजों का आंकड़ा ज्यादा

गुड़गांव में कोरोना मरीजों का आंकड़ा प्रदेशभर में सबसे ज्यादा है। यहां भर्ती 271 मरीजों में से 67 फीसदी मरीज पुरुष हैं, जबकि 33 फीसदी मरीज महिलाएं हैं। ऐसे में महिलाओं के मुकाबले पुरुषों की संख्या दोगुनी है। कोरोना मरीजों में बच्चे भी शामिल हैं। गुड़गांव में 2 बच्चे कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1187 पहुंचा

  • अमेरिका से लौटे 21 कोरोना पॉजिटिव के साथ-साथ गुड़गांव में 271, फरीदाबाद में 210, सोनीपत में 159, झज्जर में 93, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 41, पानीपत में 54, पंचकूला में 25, जींद में 26, करनाल में 33, रोहतक में 16, महेंद्रगढ़ में 21, रेवाड़ी में 16, सिरसा में 9, फतेहाबाद, व यमुनानगर में 8-8, हिसार में 20, कुरुक्षेत्र में 15, भिवानी में 8, कैथल में 6, चरखी-दादरी में 6, भिवानी में 8 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।
  • हरियाणा में अब कुल 791 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 166, फरीदाबाद में 120, सोनीपत में 116, नूंह में 65, झज्जर में 90, अंबाला में 40, पलवल 37, पानीपत में 33, पंचकूला में 24, जींद में 18, करनाल में 14, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 9, महेंद्रगढ़ में 6, भिवानी में 6,  हिसार में 3, कैथल में 3, फतेहाबाद में 6, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1, रेवाड़ी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

सोनीपत में भाजपा नेता मनोज तिवारी ने खेला क्रिकेट, सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाने पर ट्रोल हुए


  • गन्नौर में क्रिकेट एकेडमी के बुलावे पर पहुंचे दिल्ली भाजपा अध्यक्ष
  • बिना मास्क लगाए खेले, 9 चौके और 2 छक्के लगाकर 67 रन बनाए

दैनिक भास्कर

May 25, 2020, 02:21 PM IST

पानीपत. एक तरफ तो देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना संक्रमण के चलते मास्क लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने की सलाह दे रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ उनकी पार्टी के दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी इसकी धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे हैं। मनोज तिवारी हरियाणा के सोनीपत जिले के गन्नौर कस्बे में स्थित एक क्रिकेट एकेडमी में गए हुए थे। मैच होता देखकर वे खुद को रोक नहीं पाए और खुद भी खेलने लगे। इस पर लोगों ने उनकी फोटो सोशल मीडिया पर ट्रोल कर दी। इसके बाद सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का माखौल बनाने पर उनकी आलोचना की जा रही है। 

मैदान में क्रिकेट की पूरी किट पहने बैठे दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी।

जानकारी के मुताबिक, मनोज तिवारी सोनीपत के गांव शेखपुरा में यूनिक क्रिकेट स्टेडियम में पहुंचे थे। वहां पर वे स्टेडियम मालिक के बुलावे पर पहुंचे। मैदान में क्रिकेट हो रहा था तो मनोज तिवारी ने भी क्रिकेट खेलने की इच्छा जाहिर की। इसके बाद उन्हें भी एक टीम में शामिल किया गया। उन्होंने अपनी टीम के लिए बल्लेबाजी की और 9 चौकों और 2 छक्कों की मदद से कुल 67 रन बनाए। इसके बाद वे कैचआउट हो गए। मनोज तिवारी ने गेंदबाजी भी की। उन्होंने तीन ओवर फेंके। 

जिला प्रशासन ने कहा- स्टेडियम खोलने की अनुमति दी जा चुकी है

गन्नौर के एसडीएम स्वप्निल रविंद्र पाटिल का कहना है कि लॉकडाउन के चौथे चरण में खेल स्टेडियम खोलने की अनुमति दी जा चुकी है। लेकिन उसके लिए नियम भी बनाए गए हैं, जिनकी अनुपालन किया जाना चाहिए। उन्हें मैच के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। इस बारे में पता कराया जाएगा।

हरियाणा सरकार ने खेल व खिलाड़ियों के लिए बनाए हैं नियम

हरियाणा में लॉकडाउन-4 में दी गई रियायतों के बीच सभी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स और स्टेडियम खिलाड़ियों के लिए खोले गए हैं। टीम-स्पर्धाओं के मामले में किसी मैदान में एक घंटे के लिए 18 खिलाड़ी और दो कोच मौजूद रह सकते हैं। सभी कर्मचारियों, खेल प्रशिक्षकों और प्रशिक्षणार्थियों को मास्क पहनना अनिवार्य है। सभी खेल कर्मचारियों और खिलाड़ियों के लिए आरोग्य सेतु का उपयोग जरूरी है। प्रशिक्षुओं और कर्मचारियों को व्यक्ति के बीच न्यूनतम 1.5 से 2 मीटर की सोशल डिस्टेंसिंग के मानदंड का कड़ाई से पालन किया जाना है।

Categories
sports

यहां के 6500 से ज्यादा गांवों में बुजुर्गों ने संक्रमण रोक दिया, सभी रास्ते सील कर 24 घंटे निगरानी की


  • अरुणाचल और नगालैंड कोरोना फ्री, यहां 17 मार्च से ही आवाजाही पर रोक लगी
  • गांव के बाहर लोगों को रखने के लिए क्वारैंटाइन सेंटर बनाए

अनिरुद्ध शर्मा

May 25, 2020, 06:18 AM IST

नई दिल्ली. पूर्वोत्तर के 8 में से 5 राज्य अब कोरोना मुक्त हैं। लेकिन अरुणाचल और नगालैंड में कोरोना से सीधा लोहा लिया लाल कोट पहने कुछ अनुभवी बुजुर्गों ने, जिन्हें रेड आर्मी भी कहा जाता है। पहाड़ों से कोरोना संक्रमण को दूर रखने के लिए इन्होंने न सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग को गांवों में सख्ती से लागू कराया, बल्कि क्वारैंटाइन लोगों की निगरानी भी की। गांव के लोगों को घर में ही उनकी जरूरत का सामान पहुंचाया।

इन बुजुर्गों को यहां गांव बूढ़ा या गांव बूढ़ी कहा जाता है। दरअसल, पूर्वोत्तर के अधिकांश राज्यों में ग्राम पंचायत की जगह विलेज काउंसिल हैं। सबसे बुजुर्ग व्यक्ति को मुख्य गांव बूढ़ा या गांव बूढ़ी (जीबी) चुना जाता है। इनकी मदद के लिए तीन से पांच जीबी होते हैं, जो दोबाशी कहलाते हैं। यह परंपरा 1842 से चली आ रही है। सरकार इन्हें हर महीने डेढ़ हजार रुपए वेतन देती है। इनकी जिम्मेदारी गांववालों की सुरक्षा और उनकी जरूरतों का ध्यान रखना है।

जरूरत की चीजों को ही गांव तक आने की इजाजत है
अरुणाचल प्रदेश के सिआंग जिले के लाइलेंग गांव के गांव बूढ़ा तानोम मिबांग बताते हैं कि जब कोरोना संक्रमण शुरू हुआ तो गांव से आने-जाने पर रोक लगा दी गई। हमने गांव की आबादी से 100 मीटर दूर ही रास्ते को बांस लगाकर बंद कर दिया। दूध, राशन, दवाएं जैसी जरूरत की चीजों को ही गांव तक आने की इजाजत है।

5200 से ज्यादा गांवों में यही व्यवस्था इन दिनों लागू हैं
अरुणाचल के 5200 से ज्यादा गांवों में यही व्यवस्था इन दिनों लागू हैं। वहीं नगालैंड के मोकोकचंग जिले के खेनसा गांव के इमनाकुंबा लोंगचार बताते हैं कि जरूरत की चीजों को गांव बूढ़ों के सहयोगी घर-घर पहुंचा रहे हैं। गांव के लोगों को अपने खेत तक जाने की अनुमति है।

इस पाबंदी को अब अक्टूबर तक बढ़ा दिया गया है
बता दें नगालैंड के 1400 गांवों में करीब ढाई हजार गांव बूढ़ा, गांव बूढ़ी हैं। इधर सिक्किम की बात करें, तो कैलाश मानसरोवर यात्रा रद्द कर दी गई और नाथु ला पास से भारत-चीन कारोबार बंद कर दिया गया। यहां 5 मार्च से ही अंतरराष्ट्रीय पर्यटक और 17 मार्च से भारतीय पर्यटकों के आने पर रोक है। इस पाबंदी को अब अक्टूबर तक बढ़ा दिया गया है। 5 हजार लोगों ने सिक्किम वापस आने की इच्छा जताई थी, सरकार उन्हें 200-300 के बैच में वापस लाई।

परंपराः दूसरे गांव जाने के लिए इजाजत लेनी होती है
नगालैंड में जनजातियों के अलग गांव हैं। चाकेसंग जनजाति के गांव के व्यक्ति को अंगामी जनजाति के गांव में प्रवेश करना हो, तो उसे पहले अंगामी के गांव बूढ़ा से इजाजत लेनी होती है। इसके बिना प्रवेश नहीं होता। 

Categories
sports

ओयो के मालिक रितेश अग्रवाल चीन में ‘ली ताई शी’ के नाम से जाने जाते हैं, सबसे कठिन मंदारिन भाषा सीखकर चीन में अव्वल


  • रितेश ओडिशा के रायगढ़ा के रहने वाले हैं, फेलोशिप के पैसे से शुरू किया था होटल बिजनेस
  • चीन में ओयो के 337 शहरों में 5 लाख से ज्यादा रूम्स और 2317 करोड़ रुपए का टर्नओवर

दैनिक भास्कर

May 25, 2020, 06:18 AM IST

नई दिल्ली. ओयो होटल्स के संस्थापक और अपने दम पर अरबपति बनने वाले दुनिया के दूसरे सबसे युवा रितेश अग्रवाल चीन में ‘ली ताई शी’ के नाम से जाने जाते हैं। चीन में ओयो को सबसे बड़ी होटल कंपनी के रूप में स्थापित करने वाले 26 साल के रितेश अग्रवाल ने इसके लिए दुनिया की सबसे कठिन समझी जाने वाली चीनी भाषा ‘मंदारिन’ कुछ ही महीनों में सीख ली थी।

अब वे न केवल अपने पार्टनर और कर्मचारी, बल्कि ग्राहकाें के साथ भी चीनी भाषा में ही बात करते हैं। चीन में ओयो के 337 शहरों में 5 लाख से ज्यादा रूम्स हैं और 2 हजार 317 करोड़ रुपए का टर्नओवर है जो उनके कुल राजस्व का 32.3% है।

रितेश ने कहा- हमने पहले से ही कोई धारणा या रणनीति नहीं बनाई थी
बिजनेस इनसाइडर से बातचीत में रितेश ने कहा कि चीन में ओयो को स्थापित करने के लिए हमने पहले से ही कोई धारणा या रणनीति नहीं बनाई थी। हमारे दिमाग में तस्वीर बिल्कुल साफ थी। हम चीन के बाजार में वैश्विक स्टार्ट-अप सेटिंग शॉप की तरह नहीं उतरे, बल्कि चीनी खिलाड़ियों की तरह रहने के लिए सिर्फ गुणवत्ता वाले स्थानों को ही चुना।

नियुक्ति को लेकर भी हमने कोई बाध्यता नहीं रखी। अमूमन विदेशी कंपनियां दो से ज्यादा भाषाओं की जानकारी रखने वालों को ही तवज्जो देती हैं, जबकि हमने ऐसा नहीं किया। अगर हम भी दो भाषाओं की जानकारी रखने वालों को तरजीह देते, तो कई प्रतिभाएं खो देते।

विश्व स्तर पर ओयो की कमाई भी 50-60% तक गिर गई
यही वजह है कि हमने 2017 में दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था का दर्जा रखने वाले चीन में सबसे बड़ी होटल चेन के रूप में स्थापित किया। रितेश ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण ओयो को भी अपने होटल्स बंद करने पड़े। कंपनी के कई कर्मचारी महामारी से प्रभावित हुए थे, लेकिन अब कंपनी के करीब 70% होटल खुल गए हैं और एक-डेढ़ महीने में बाकी भी शुरू हो जाएंगे।

महामारी के कारण विश्व स्तर पर ओयो की कमाई भी 50-60% तक गिर गई। चीन समेत दुनियाभर में बड़ी संख्या में कर्मचारियों को हटाना पड़ा था, लेकिन अब वे फिर से नई उम्मीदों को जिंदा करने की कवायद में जुट गए हैं।

रितेश ने फेलोशिप के पैसे से शुरू किया था होटल बिजनेस
ओडिशा के रायगढ़ा के रहने वाले रितेश छोटी उम्र से ही बिल गेट्स, स्टीव जॉब्स और मार्क जकरबर्ग से बहुत प्रेरित रहे हैं। रितेश को 2013 में जब 1 लाख डॉलर की फेलोशिप की राशि मिली, तब उन्होंने इसी पैसे से ओयो रूम्स की शुरुआत की थी।

2018 में ओयो रूम्स ने 1 अरब डॉलर का निवेश जुटाया। जुलाई 2019 में उन्होंने इस कंपनी में अपनी हिस्सेदारी 3 गुना बढ़ा दी है और 2 अरब डॉलर के शेयर खरीदे। रितेश कॉलेज ड्रॉपआउट हैं। उनका कहना है कि भारत में ड्राॅपआउट का मजाक बनाया जाता है। उन्हें स्मार्ट और समझदार नहीं समझा जाता है, लेकिन मुझे उम्मीद है कि अगले कुछ साल में देश में कुछ और ड्राॅपआउट नाम कमाएंगे।

Categories
sports

53 नए मामले आए, फरीदाबाद में 14, गुड़गांव में 9, करनाल के 8 मरीजों समेत 10 जिलों में पॉजिटिव केस


  • हरियाणा में अब कुल 765 मरीज ठीक हो गए, 15 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी मिली
  • करनाल में एक ही परिवार के 7 सदस्य पॉजिटिव, 3 सदस्य पहले मिले थे 4 अब आए सामने

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 08:43 PM IST

पानीपत. हरियाणा में रविवार को 53 नए मरीजों के साथ कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 1184 पहुंच गई। फरीदाबाद में 14, गुड़गांव में 9, करनाल में 8, हिसार में 7, रेवाड़ी में 5, सोनीपत में 5, झज्जर में 2, पानीपत में 1, रोहतक में 1, कैथल में 1 नया केस मिला है। वहीं हरियाणा में अब कुल 765 मरीज ठीक हो गए हैं। रविवार को 15 मरीजों को छुट्टी मिली। गुड़गांव से 8, फरीदाबाद में 5, फतेहाबाद में 1 और रेवाड़ी में 1 मरीज को डिस्चार्ज किया गया। 

करनाल में एक ही परिवार के 7 हुए संक्रमित

करनाल में रविवार को 8 कोरोना पॉजिटिव केस आए, इनमें से चार चमन गार्डन के पास के एक ही परिवार के हैं। इस परिवार के 7 सदस्य संक्रमित हो गए हैं। एक सप्ताह पहले एक शादी समारोह में दिल्ली गए थे। शनिवार को इस परिवार के सदस्यों में माता-पिता और बेटा संक्रमित मिले थे। रविवार को छोटा बेटा, बड़े बेटे की बहू, दो पोते संक्रमित मिले हैं।  

ये शादी में गए थे। वहां से वापस आए तो एक व्यक्ति में बुखार के लक्षण दिखाई दिए थे। मेडिकल कॉलेज में टेस्ट करवाया तो वह कोरोना पॉजीटिव मिला। उसके साथ परिवार के दो अन्य सदस्यों का भी टेस्ट हुआ और वह भी कोरोना पॉजीटिव पाए गए। इसके बाद परिवार के दूसरे सदस्यों के टेस्ट किए गए तो वे भी पॉजिटिव मिले। 

फरीदाबाद में 200 पार पहुंचे कोरोना मरीज

फरीदाबाद में कुल कोरोना संक्रमित का आंकड़ा 200 पार करते हुए 209 हो गया है। हरियाणा सरकार ने जो पैरामीटर तय किए हैं, उन मानकों के अनुसार अगर जिले में 200 से ज्यादा पॉजिटिव केस पाए जाएंगे, तो वह रेड जोन में आ जाएंगे। इससे उद्योगों व व्यापार पर असर पड़ सकता है। हालांकि, अभी तक राज्य के सभी जिले ऑरेंज जोन में हैं।

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1184 पहुंचा

  • अमेरिका से लौटे 21 कोरोना पॉजिटिव के साथ-साथ गुड़गांव में 271, फरीदाबाद में 209, सोनीपत में 159, झज्जर में 93, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 41, पानीपत में 54, पंचकूला में 25, जींद में 26, करनाल में 32, रोहतक में 16, महेंद्रगढ़ में 21, रेवाड़ी में 16, सिरसा में 9, फतेहाबाद, व यमुनानगर में 8-8, हिसार में 19, कुरुक्षेत्र में 15, भिवानी में 8, कैथल में 6, चरखी-दादरी में 6, भिवानी में 8 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • हरियाणा में अब कुल 765 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 148, फरीदाबाद में 120, सोनीपत में 116, नूंह में 65, झज्जर में 90, अंबाला में 40, पलवल 37, पानीपत में 32, पंचकूला में 24, जींद में 18, करनाल में 11, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 9, महेंद्रगढ़ में 4, भिवानी में 4,  हिसार में 3, कैथल में 3, फतेहाबाद में 6, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1, रेवाड़ी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

हैदराबाद में माता-पिता ने 22 हजार में नवजात को बेचा, पुलिस ने जांच शुरू की


  • स्थानीय लोगों की मदद से मामला सामने आया
  • पुलिस ने आरोपियों का पीछा कर नवजात को छुड़ाया

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:31 PM IST

हैदराबाद. (सूर्य प्रकाश तिवारी). बाप बड़ा न भैया सबसे बड़ा रुपया, यह कहावत हैदराबाद में हुई घटना पर पूरी तरह लागू होती है। यहां पति-पत्नी ने रुपयों की लालच में अपने दो माह के नवजात बेटे को 22 हजार रुपयों में बेच दिया। घटना हैदराबाद के जिडीमेटला पुलिस थाने के इलाके की है। 

यहां बतकम्मा कुंडा क्षेत्र में रहने वाले सिंह-सरिता दंपति ने अपने नवजात बेटे को शेषु नामक व्यक्ति को किसी दलाल की मध्यस्तता से बेच दिया। जब मामला स्थानीय लोगों के जरिये पुलिस तक पहुंचा तो पुलिस ने आरोपियों का पीछा कर नवजात को छुड़ाया।

हालांकि, नवजात की मां का कहना है कि उसके शराबी पति ने ही उसके बेटे को बेचा है। इस मामले को लेकर पुलिस दोनों ओर से आरोपियों से पूछताछ कर रही है। इस बीच नवजात को उसकी मां को सौंप दिया गया है।

Categories
sports

कोरोना मुक्त होने के सर्टिफिकेट पर ही बुक होंगे होटल-टैक्सी, कैशलेस होगा ट्रांजैक्शन


  • 2019 में 1.08 करोड़ विदेशी पर्यटक भारत आए, 2.2 लाख करोड़ रु. मिले
  • अब कोरोना से इस सेक्टर को 10 लाख करोड़ के नुकसान का अनुमान
  • मंत्रालय ने बनाया ड्राफ्ट, जून से शुरू हो सकता है पर्यटन

प्रमोद कुमार

May 24, 2020, 05:52 AM IST

नई दिल्ली. कोरोना संकट के कारण 22 मार्च से बंद टूरिज्म और हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री को फिर से शुरू करने के लिए केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने ड्राफ्ट तैयार किया है। भास्कर के पास उपलब्ध इस ड्राफ्ट के अनुसार, होटल रिसेप्शन और टूर एंड ट्रेवल्स का दफ्तर बिल्कुल अस्पताल के काउंटर की तरह होगा। होटल या टैक्सी वो पर्यटक ही बुक कर सकेंगे जिन्हें कोरोना नहीं है।

इसके लिए मेडिकल सर्टिफिकेट अनिवार्य किए जाने की तैयारी है। ड्राफ्ट में ज्यादा से ज्यादा डिजिटल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करने और टच पाइंट कम करने पर जोर दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक, जून से टूरिज्म गतिविधियों को सशर्त शुरू किया जा रहा है। सरकार इसी ड्राफ्ट को मामूली संशोधन के साथ लागू कर सकती है।

कुछ अनिवार्य नियमों के अलावा सुझाव भी दिए जाएंगे
खास बात यह है कि अब होटलों और ट्रैवल एजेंसियों को यात्री की पूरी ट्रैवल हिस्ट्री (किससे मिला, कहां गया) लॉगबुक बनाकर रखनी होगी। ड्राफ्ट भविष्य को ध्यान में रखकर बनाया गया है। इसमें रिस्क कम करने के साथ गेस्ट ट्रेसिंग को आसान बनाने पर जोर दिया गया है। कुछ अनिवार्य नियमों के अलावा सुझाव भी दिए जाएंगे, जिन्हें राज्य और केंद्र शासित प्रदेश आवश्यकतानुसार लागू करेंगे।

गौरतलब है कि दुनिया के कई देशों में टूरिज्म शुरू हो चुका है। इटली, न्यूजीलैंड ने टूरिज्म शुरू कर दिया है और फ्रांस शुरू करने जा रहा है।

पर्यटन और होटलों को लेकर ये अहम बदलाव होने की बातः

1. अब पर्यटकों की लॉग बुक बनेगी, एलर्जी का भी रिकॉर्ड
होटल और पर्यटन से संबंधी बुकिंग कराते समय बताना पड़ेगा कि पर्यटक को कोरोना नहीं है। इसके लिए मेडिकल प्रमाणपत्र मांगा जा सकता है। यात्री का पूरा रिकॉर्ड, ट्रैवल हिस्ट्री की लॉगबुक बनाना अनिवार्य होगा। हर यात्री की उम्र, हेल्थ हिस्ट्री, एलर्जी का रिकॉर्ड रखा जाएगा। हर यात्री की आने-जाने की जगह, मिलने वाले लोगों का नाम-पता, ठहरने आदि की तमाम हिस्ट्री रखना आवश्यक होगी। यह बात होटल और ट्रैवल बुकिंग करने वाली संस्था दोनों पर लागू होगी।  

2. हर एंगल पर सीसीटीवी ताकि पर्यटक का मूवमेंट पता रहे
टूरिज्म सर्विस प्रोवाइडर के ऑफिस और होटल परिसर को लगातार सैनिटाइज किया जाए। हफ्ते में दो बार डीप क्लीन एवं डीप सैनिटाइज किया जाए। यहां हर एंगल पर सीसीटीवी कैमरा होगा, जिससे जरूरत होने पर संक्रमित होने वाले व्यक्ति के पूरे मूवमेंट को देखा जा सके। एक अलग स्पेस होना चाहिए, जो ऑफिस कर्मचारी या विजिटर के बीमार होने पर शिफ्ट करने में काम आए।

3. होटल में एंट्री से पहले स्क्रीनिंग-सैनिटाइजेशन
किसी भी होटल में प्रवेश  से पहले यात्रियों की पूरी तरह स्क्रीनिंग की जाएगी और सैनिटाइजेशन के बाद ही होटल में प्रवेश मिलेगा। होटलों में ट्रांजेक्शन पूरी तरह कैशलेस होगा। इसकी बुकिंग भी सिर्फ ऑनलाइन माध्यमों से ही की जा सकेगी। पर्यटन विभाग से जुड़ी टैक्सी बुक करने और किराए का भुगतान करने के लिए भी ऑनलाइन ट्रांजेक्शन ही करना पड़ेगा। 

4. छोटे समूहों में होगा पर्यटन, आईडी का प्रिंट नहीं देना
हर पर्यटक की जानकारी केवल डिजिटल माध्यमों से लेंगे। आईडी आदि की फोटो कॉपी का प्रिंट नहीं देना पड़ेगा। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए 10 से 15 लोगों से ज्यादा बड़ा ग्रुप स्वीकार नहीं किया जाएगा। ट्रैवल एजेंसी से जुड़े हर ड्रायवर के पास हेल्थ सर्टिफिकेट होना अनिवार्य होगा। ड्रायवर, हेल्पर्स को हमेशा मास्क और दस्ताने पहनने होंगे। हर नए असाइनमेंट से पहले थर्मल स्क्रीनिंग से गुजरना होगा। 10 लोगों से ज्यादा व्यक्तियों के टूर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट का कम से कम इस्तेमाल।

5. वाहनों में जरूरी होंगे डिस्पोजेबल सीट कवर
सभी टूरिस्ट वाहनों में डिस्पोजल सीट कवर एवं हैंड रेस्ट कवर का उपयोग जरूरी होगा। कोशिश करनी होगी कि ड्रायवर और पैसेंजर के बीच फाइबर ग्लास पार्टीशन हो। हर वाहन में हैंड सैनिटाइजर और मास्क होना अनिवार्य होगा। एसी बस के एयर डक्ट को हर सप्ताह अंदर से साफ करना आवश्यक होगा। वाहन में इमरजेंसी नंबर होना चाहिए।

…और ये तीन चीजें भी जरूरी

  • होटल के सभी कर्मचारियों का हेल्थ चेकअप और स्वास्थ्य बीमा होना आवश्यक है। सभी कर्मचारियाें के मोबाइल पर आरोग्यसेतु ऐप होना चाहिए।
  • पर्यटकों का स्वागत नमस्ते से ही किया जाए। हाथ न मिलाया जाए। वाहन में बोर्डिंग से पहले मास्क और टेम्प्रेचर चेक अनिवार्य रूप से करें। वाहन में चढ़ने से पहले सभी को सैनिटाइज किया जाए।
  • गाइड और पर्यटक माइक्रोफोन का इस्तेमाल करें, जिससे साइटसीइंग के दौरान दूरी बनी रहे। संभव हो तो ऑडियो गाइड का इस्तेमाल करें।
Categories
sports

टेस्ट में गेंदबाजों के लिए 2-3 महीने की ट्रेनिंग जरूरी, नहीं तो चोट का खतरा ज्यादा


  • कोरोना के कारण मार्च से क्रिकेट स्थगित है, जुलाई से शुरुआत हो सकती है
  • आईसीसी ने खेल फिर से शुरू करने के लिए गाइडलाइन जारी की है

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:52 AM IST

नई दिल्ली. आईसीसी ने क्रिकेट की वापसी के लिए गाइडलाइन जारी कर दी है। मार्च से कोरोनावायरस के कारण इंटरनेशनल मैच नहीं हुआ है। टेस्ट में उतरना गेंदबाजों के लिए सबसे ज्यादा चुनौती वाला रहेगा। आईसीसी की गाइडलाइंस के अनुसार टेस्ट मैच खेलने से पहले गेंदबाजों को दो से तीन महीने की ट्रेनिंग जरूरी है। ये गेंदबाजों की उम्र, पुरानी चोट, तकनीक और गति पर निर्भर करेगा।

आईसीसी ने कहा कि अगर गेंदबाज जल्दबाजी करते हैं तो चोट का खतरा बढ़ेगा। रिसर्च में बताया गया है कि 7 हफ्ते तक आराम करने से स्पाइन में 2% बोन लॉस हो सकता है। इसे भरने में 24 हफ्तों के समय लग सकता है। इसलिए गेंदबाजों पर धीरे-धीरे लोड बढ़ान‌े का सुझाव दिया गया है।

आईसीसी ने टीमों को बड़े स्क्वायड का उपयोग करने और गेंदबाजों के लोड पर सावधानी बरतने की सलाह दी है। ट्रेनिंग में शामिल होने वाले खिलाड़ियों का कोरोना टेस्ट किया जाएगा।

वनडे और टी20 में वापसी के लिए भी छह हफ्ते की ट्रेनिंग जरूरी है

वनडे में एक गेंदबाज अधिकतम 10 और टी20 में 4 ओवर फेंक सकता है। 5-6 हफ्तों की ट्रेनिंग के बाद गेंदबाज वनडे या टी20 मैच खेल सकता है। भारतीय खिलाड़ियों ने अभी तक ट्रेनिंग शुरू नहीं की है। अगर वे 1 जून से भी ट्रेनिंग शुरू करते हैं तो जुलाई के अंत तक सीमित ओवरों का मैच खेलने के लिए तैयार हो पाएंगे। टीम को जुलाई में श्रीलंका दौरे पर जाना पड़ सकता है।

पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के इंग्लैंड दौरे पर सवाल खड़े हुए

पाकिस्तान और वेस्टइंडीज को जुलाई-अगस्त में टेस्ट सीरीज के लिए इंग्लैंड का दौरा करना है। इंग्लैंड के गेंदबाजों ने ट्रेनिंग शुरू कर दी है। लेकिन वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के खिलाड़ियों ने ट्रेनिंग शुरू नहीं की है। ऐसे में इन दोनों सीरीज के आयोजन पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। दोनों देश के खिलाड़ियों को दौरे पर जाने के बाद क्वारैंटाइन में भी रहना होगा।

हर खिलाड़ी अपने-अपने सामान का उपयोग करेगा

  • ट्रेनिंग शुरू करने के लिए सरकार की अनुमति जरूरी। सरकार और आईसीसी की गाइडलाइंस का खिलाड़ियों को पालन करना होगा।
  • खेल की वापसी का प्लान तैयार करने के लिए चीफ मेडिकल ऑफिसर की नियुक्ति जरूरी।
  • खिलाड़ियों के जोखिम कम करने के लिए आवश्यक सावधानी बरतने के लिए प्रशिक्षण, मैच स्थलों का जोखिम मूल्यांकन किया जाना चाहिए।
  • ट्रेवल के लिए चार्टर्ड प्लेन का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग और हाइजेनिक फूड जरूरी।
  • टीम को स्थानीय नियम के अनुसार टेस्टिंग और स्क्रीनिंग कराना जरूरी है। अगर क्वारेंटाइन का नियम है तो उसका पालन करना पड़ेगा।
  • सभी खिलाड़ियों को अलग-अलग कमरों में ठहराया जाए। मुमकिन हो तो सभी को अलग-अलग फ्लोर मिले।
  • कोई भी खिलाड़ी साथी खिलाड़ियों के साथ अपनी चीजें शेयर नहीं करेगा। अगर कोई इक्विपमेंट शेयर करता है तो साफ-सफाई के नियमों का पालन होना चाहिए।
  • सबसे पहले इंडिविजुअल ट्रेनिंग शुरू होगी। इसके बाद छोटे ग्रुप में फिर टीम साथ में ट्रेनिंग करेगी।
Categories
sports

कोरोना ने एक दिन में 135 लोगों की जान ली; 100 से ज्यादा मौतों वाला 8वां राज्य बना तमिलनाडु, दिल्ली एम्स के रिटायर्ड डॉक्टर ने दम तोड़ा


  • महाराष्ट्र में मरने वालों का आंकड़ा 1577 पहुंचा, गुजरात में 829 लोगों की हो चुकी है मौत
  • तीन दिनों में 426 संक्रमितों ने दम तोड़ा, मुंबई में आज 40 लोगों की मौत हुई

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 12:16 AM IST

नई दिल्ली. देश में कोरोना संक्रमण के चलते मरने वालों की संख्या 3861 हो गई है। शनिवार को 135 संक्रमितों ने दम तोड़ा। इनमें सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में 60 मौतें हुईं। यहां अब तक 1577 लोग जान गंवा चुके हैं। अकेले मुंबई में 949 कोरोना मरीजों की मौत हुई है। तमिलनाडु देश का 8वां राज्य हो गया है जहां 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। यहां शनिवार को 5 मरीजों की मौत हुई। मरने वालों का आंकड़ा 104 हो गया है।    

उधर, गुजरात में 27 लोगों की मौत हुई। यहां मरने वालों का आंकड़ा 829 हो गया है। देश की राजधानी दिल्ली में 23 लोगों ने जान गंवा दी। दिल्ली एम्स के मेडिसिन विभाग के पूर्व अध्यक्ष डॉ. जेएन पांडेय ने भी दम तोड़ दिया। उन्हें पिछले हफ्ते कोरोना संक्रमित पाया गया था। दिल्ली में अब तक 231 लोग जान गंवा चुके हैं।

इसके अलावा मध्य प्रदेश में 9, पश्चिम बंगाल में 4, राजस्थान में 3, जम्मू कश्मीर, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और कर्नाटक में 1-1 संक्रमित की मौत हुई। इसके पहले शुक्रवार को 142 लोगों की जान गई थी। 

इन आठ राज्यों में 100 से ज्यादा मौतें
महाराष्ट्र (1577), गुजरात (829), मध्य प्रदेश (281), पश्चिम बंगाल (269), दिल्ली (231),राजस्थान (156), उत्तर प्रदेश (152) और तमिलनाडु में 104 लोगों की मौत हुई है। पिछले तीन दिनों में देशभर में 426 लोगों ने जान गंवाई। 

संक्रमण से कहां कितनी मौतें?

राज्य

मौतें                            
महाराष्ट्र                               1577
गुजरात 829
मध्य प्रदेश 281
पश्चिम बंगाल 269
राजस्थान 156
दिल्ली 231
उत्तर प्रदेश 152
आंध्र प्रदेश 56
तमिलनाडु 104
तेलंगाना 49
कर्नाटक 42
पंजाब 39
जम्मू-कश्मीर 21
हरियाणा 16
बिहार 11
झारखंड 03
हिमाचल प्रदेश 04
केरल 05
असम 04
उत्तराखंड 01
मेघालय 01
ओडिशा 07
कुल 3861

टॉप-10 शहर जहां सबसे ज्यादा मौतें हुईं 

शहर

मौतें
मुंबई                           949       
अहमदाबाद 669
पुणे 257
कोलकाता 178
इंदौर 111
जयपुर 75
उज्जैन 51
सूरत 60
ठाणे 84
भोपाल 42

17 मई को सबसे ज्यादा 165 मौतें

तारीख

मौतें
15 मई               95
16 मई 106
17 मई 165
18 मई 131
19 मई 147
20 मई  132
21 मई 148               
22 मई 147
Categories
sports

69 नए पॉजिटिव मिले, पानीपत में बाल पुनर्वास केंद्र में 4 बच्चों समेत कुक और एक महिला संक्रमित


  • अमेरिका से लौटे 76 लोगों में से 21 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हरियाणा में कुल 750 मरीज ठीक हुए, 44 केस पॉजिटिव हुए

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 08:18 PM IST

पानीपत. हरियाणा में अमेरिका से पहुंचे 76 लोगों में से 21 के कोरोना पॉजिटिव आने पर प्रदेश के कुल कोरोना संक्रमित मरीजों के आंकड़े में उछाल आ गया है। प्रदेश में शनिवार को 69 कुल पॉजिटिव आए, इसके बाद अब प्रदेश में कुल संक्रमित का आंकड़ा 1141 हो गया है। वहीं 44 मरीज ठीक भी हुए हैं, जिसके बाद कुल ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 750 हो गए हैं।  

शनिवार को गुड़गांव में 12, फरीदाबाद में 10, पानीपत में 7, जींद में 3, करनाल में 4, सोनीपत में 3, हिसार में 3, फरीदाबाद में 2, भिवानी में 2, पलवल में 1,कुरुक्षेत्र में 1 और अमेरिका से लौटे 21 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले। रिकवर करने वाले 44 मरीजों में फरीदाबाद और सोनीपत में 11-11, गुड़गांव में 9, नूंह में 5, जींद में 3, फतेहाबाद में 2, रोहतक में 2, झज्जर में 1 मरीज ठीक हुआ। 
पानीपत में 7 नए केस आए

शनिवार को पानीपत में 7 नए केस सामने आए हैं। इनमें से छह केस शिव नगर में स्थित बाल पुनर्वास केंद्र से जुड़े हैं। यहां रह रहे चार बच्चे, एक कुक और एक महिला जो बच्चों की देखभाल करती थी, वो कोरोना पॉजिटिव मिली है। इसके अलावा एक केस गंगाराम कॉलोनी से आया है। इसके बाद अब पानीपत में कुल मरीजों की संख्या 27 हो गई है। 

करनाल में चारों पॉजिटिव का दिल्ली कनेक्शन

करनाल में शनिवार को चार पॉजिटिव मरीज मिले। सभी का दिल्ली कनेक्शन है। चमन गार्डन का परिवार एक सप्ताह पहले दिल्ली कार्यक्रम में गए थे, शुक्रवार को टेस्ट कराया तो परिवार के तीनों सदस्य पॉजिटिव मिले। चौथा केस खेड़ा गांव का है। 30 वर्षीय युवक पॉजिटिव मिला है। यह युवक नोएडा में एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता है। शुक्रवार को नोएडा से आने के बाद टेस्ट कराया तो पॉजिटिव मिला है। करनाल में अब तक 27 मरीज पॉजिटिव आए हैं। 

भिवानी में दो नए केस, हरियाणा पुलिस का जवान भी संक्रमित

  • भिवानी में शनिवार को 2 पॉजिटिव केस आए। इनमें गुड़गांव से आई एक महिला और तिगड़ाना गांव निवासी हरियाणा पुलिस का जवान है, जो गुड़गांव में ड्यूटी दे रहा था। फिलहाल, स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कोरोना संक्रमित महिला और उसके संपर्क के लोगों को आईसोलेट कर दिया है और पुलिस जवान के परिजनों को घर पर क्वारैंटाइन कर दोनों गांवों में नाकेबांदी कर दी है। 

  • पॉजिटिव मिली 51 वर्षीय महिला गुड़गांव के खांडसा गांव से भिवानी के रेवाड़ी खेड़ा गांव में अपनी बेटी से मिलने आई हुई थी। वहीं तिगड़ाना निवासी 27 वर्षीय युवक हरियाणा पुलिस में कांस्टेबल है और फिलहाल गुड़गांव के डीएलएफ फेस-2 में तैनात है। कोरोना संक्रमित महिला व उसके संपर्क के 7 लोगों को चौ. बंसीलाल नागरिक अस्पताल में आईसोलेट किया गया है। 

शनिवार को फरीदाबाद में 10 नए केस आए

फरीदाबाद में कोरोना के 10 पॉजिटिव मामले के बाद यहां संक्रमितों की संख्या 195 हो गई है। शनिवार को आठ पॉजिटिव में तीन लोग एक ही परिवार के बताए गए हैं।  

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1141 पहुंचा

  • अमेरिका से लौटे 21 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले। इनके साथ-साथ सबसे ज्यादा गुरुग्राम में 262, फरीदाबाद में 195, सोनीपत में 154, झज्जर में 91, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 41, पानीपत में 53, पंचकूला में 26, जींद में 26, करनाल में 27, रोहतक में 15, महेंद्रगढ़ में 21, रेवाड़ी में 11, सिरसा में 9, फतेहाबाद, व यमुनानगर में 8-8, हिसार में 12, कुरुक्षेत्र में 15, भिवानी में 6, कैथल में 5, चरखी-दादरी में 6, भिवानी में 8 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • हरियाणा में अब कुल 750 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 140, फरीदाबाद में 115, सोनीपत में 1116, नूंह में 65, झज्जर में 90, अंबाला में 40, पलवल 37, पानीपत में 32, पंचकूला में 24, जींद में 18, करनाल में 11, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 9, महेंद्रगढ़ में 4, भिवानी में 4,  हिसार में 3, कैथल में 3, फतेहाबाद में 5, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

फरीदाबाद में तीन पॉजिटिव लापता, सैंपल देते वक्त लिखवाया था गलत पता


  • फरीदाबाद के स्वास्थ्य विभाग ने तीनों के खिलाफ दर्ज करवाई एफआईआर
  • प्रदेश में अब तक 718 संक्रमित रिकवर होकर घर लौट चुके हैं

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 03:31 PM IST

पानीपत/फरीदाबाद. हरियाणा में कोरोना लॉकडाउन फेज-4 का छठवां दिन है। प्रदेश में कुल कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1084 पहुंच गया। जबकि अब तक 718 मरीज ठीक हो चुके हैं। इनमें सबसे ज्यादा 250 गुड़गांव के हैं। वहीं फरीदाबाद में तीन कोरोना संक्रमित अपने घर से फरार हो गए हैं। उन्होंने सैंपल रिपोर्ट में गलत मोबाइल नंबर भी लिखवाया हुआ था। पुलिस अब उनकी तलाश कर रही है।

दरअसल, कोरोना संक्रमित होने की आशंका पर एक महिला समेत तीन लोग बीके अस्पताल में टेस्ट कराने पहुंचे थे। इन्हें कोरोना की पहले से ही आशंका थी, इसलिए इन्होंने जांच के दौरान अपना पता व मोबाइल नंबर गलत लिखवाया था। पॉजिटिव जांच रिपोर्ट आने के बाद जब उन्हें होम क्वारैंटाइन करने के लिए पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम उनके दिए पते पर पहुंची तो तीनों फरार मिले।

उन्होंने जो मोबाइल नंबर दिए थे उन पर संपर्क किया गया तो वे किसी दूसरे को मिल रहे थे। इस बात की जानकारी मिलते ही पुलिस और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। आखिर में पुलिस ने तीनों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है। लेकिन अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है। ऐसे में फरार तीनों अब कहां हैं और कितने लोगों को संक्रमित कर रहे होंगे इसका अंदाजा लगा पाना मुश्किल है। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1084 पहुंचा

  • सबसे ज्यादा गुरुग्राम में 250, फरीदाबाद में 193, सोनीपत में 151, झज्जर में 91, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 40, पानीपत में 46, पंचकूला में 26, जींद में 26, करनाल में 24, रोहतक में 15, महेंद्रगढ़ में 21, रेवाड़ी में 11, सिरसा में 9, फतेहाबाद, व यमुनानगर में 8-8, हिसार में 13, कुरुक्षेत्र में 14, भिवानी में 6, कैथल में 5, चरखी-दादरी में 6, भिवानी में 5 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • प्रदेश में अब कुल 718 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 140, फरीदाबाद में 104, सोनीपत में 105, नूंह में 60, झज्जर में 90, अंबाला में 40, पलवल 37, पानीपत में 32, पंचकूला में 24, जींद में 15, करनाल में 11, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 7, महेंद्रगढ़ में 4, भिवानी में 4,  हिसार में 3, कैथल में 3, फतेहाबाद में 5, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

कोरोना से 24 घंटे में 142 ने दम तोड़ा, इंदौर में डॉक्टर ने जान गंवाई; 80% मौतें महाराष्ट्र, गुजरात समेत 5 राज्यों में


  • महाराष्ट्र में मरने वालों का आंकड़ा 1517 पहुंचा, गुजरात में 802 लोगों की हो चुकी है मौत
  • शुक्रवार को महाराष्ट्र में 63, गुजरात में 29, उप्र और दिल्ली में 14-14 संक्रमितों ने दम तोड़ा

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 01:10 AM IST

नई दिल्ली. देश में कोरोना संक्रमण के चलते मौतों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। अब तक 3726 लोगों की जान जा चुकी है। शुक्रवार को 142 लोगों ने दम तोड़ा। इंदौर में एक डॉक्टर की मौत हुई। महाराष्ट्र, गुजरात, मध्यप्रदेश, पश्चिम बंगाल और दिल्ली 5 ऐसे राज्य और केंद्र शासित प्रदेश हैं, जो कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। देश में हुई कुल मौतों में से 80% यहीं हुई हैं।

महाराष्ट्र में मृतकों की संख्या 1517 हो गई है। यहां शुक्रवार को 63, गुजरात में 29, उत्तरप्रदेश और दिल्ली में 14-14, प. बंगाल में 6, तेलंगाना में 3, राजस्थान में 2, मध्यप्रदेश, केरल और आंध्रप्रदेश में एक-एक की जान गई। दिल्ली में मरने वालों का आंकड़ा 200 पार कर गया। यहां अब तक 208 लोग दम तोड़ चुके हैं। इसी तरह तमिलनाडु में भी मौत का आंकड़ा 99 हो गया है। इसके पहले गुरुवार को 148 लोगों ने दम तोड़ा था।

संक्रमण से कहां कितनी मौतें?

राज्य

मौतें                            
महाराष्ट्र                               1517
गुजरात 802
मध्य प्रदेश 272
पश्चिम बंगाल 265
राजस्थान 153
दिल्ली 208
उत्तर प्रदेश 152
आंध्र प्रदेश 55
तमिलनाडु 99
तेलंगाना 48
कर्नाटक 41
पंजाब 39
जम्मू-कश्मीर 20
हरियाणा 16
बिहार 11
झारखंड 03
हिमाचल प्रदेश 04
केरल 05
असम 04
उत्तराखंड 01
मेघालय 01
ओडिशा 07
कुल 3726

टॉप-10 शहर जहां सबसे ज्यादा मौतें हुईं 

शहर

मौतें
मुंबई                           909        
अहमदाबाद 645
पुणे 243
कोलकाता 176
इंदौर 109
जयपुर 75
उज्जैन 51
सूरत 57
ठाणे 84
भोपाल 40

17 मई को सबसे ज्यादा 165 मौतें

तारीख

मौतें
15 मई               95
16 मई 106
17 मई 165
18 मई 131
19 मई 147
20 मई  132
21 मई 148             
Categories
sports

23 नए केस आए, जींद के कैंसर पीड़ित कोरोना मरीज के संपर्क में आए हिसार के दो नर्सिग स्टाफ पॉजिटिव


  • महेंद्रगढ़ में 10, कुरुक्षेत्र में 5, हिसार में 4, रोहतक, सिरसा, रेवाड़ी, फरीदाबाद में 1-1 केस आए
  • हिसार के हांसी में कोरोना का पहला पॉजिटिव मामला सामने आया

दैनिक भास्कर

May 22, 2020, 07:13 PM IST

पानीपत/हांसी/हिसार. हरियाणा में शुक्रवार को कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1053 पहुंच गई। शुक्रवार को 23 नए मरीज आए हैं जबकि 14 मरीज ठीक भी हुए हैं। शुक्रवार को महेंद्रगढ़ में 10, कुरुक्षेत्र में 5, हिसार में 4, रोहतक, सिरसा, रेवाड़ी, फरीदाबाद में 1-1 केस आए। हरियाणा में 695 मरीज ठीक हो चुके हैं, शुक्रवार को 14  मरीज अकेले फरीदाबाद से ठीक हुए। 

हिसार जिले में एक साथ मिले कोरोना के 4 नए मामले

हिसार जिले में एक साथ कोरोना के 4 नए पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। दो मामले सर्वोदय अस्पताल से जुड़े हुए हैं। सर्वोदय अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ के दो सदस्य कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। एक पॉजिटिव मरीज गांव चौधरीवास का है। दूसरा मूल रूप से सिरसा का रहने वाला है। लेकिन हाल ही में कुछ दिन अस्पताल के पीछे बैंक कॉलोनी के नजदीक सुभाष नगर में रहा था। ये दोनों अस्पताल कर्मी जींद के एक कोरोना पॉजिटिव मरीज के सम्पर्क में आए थे। 

जींद का पेगा गांव निवासी एक व्यक्ति कैंसर के इलाज के लिए दो दिन सर्वोदय अस्पताल में भर्ती रहा था। इससे पहले वो मरीज आधार अस्पताल होकर आया था। यहां वह जिंदल अस्पताल में दो दिन इलाज करवाने के बाद पहुंचा था। जिंदल अस्पताल में रहते हुए उसका कोरोना सैम्पल लिया गया था लेकिन ये बात सर्वोदय अस्पताल एडमिनिस्ट्रेशन को नहीं पता थी। उसकी सैम्पल रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अस्पताल में हड़कंप मच गया था। जींद के कोरोना पेशंट की बाद में अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। उसके सम्पर्क में आये 33 लोगों के सैम्पल लिए गये थे, जिनमें से 2 पॉजिटिव मिले हैं और 4 की रिपोर्ट आनी अभी बाकि है। दोनों पॉजिटिव मरीजों की उम्र 28 व 32 वर्ष है।

नारनौंद में मिला एक कोरोना पॉजिटिव

इसके अलावा एक कोरोना पॉजिटिव नारनौंद के पास गांव बडाला में ही कोरोना पीड़ित तीन मरीजों के परिवार का सदस्य है। ये बडाला में सबसे पहले कोरोना पॉजिटिव मिले सिक्योरिटी गार्ड का 45 वर्षीय भाई है। इससे पहले इसी परिवार में एक महिला व एक किशोरी भी कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। इस तरह कुल मिलाकर बडाला में एक ही परिवार के 4 सदस्य कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। अब कहा जा सकता है कि हिसार में भी अब कोरोना मरीजों के कान्टेक्ट में आने वाले लोग कोरोना का शिकार होने लगे हैं।

हांसी में पहला मामला आया

चौथा मरीज हांसी शहर में तिकोना पार्क के पास सेठी चौक के पास का है। ये 36 वर्षीय व्यक्ति टेक्सी चालक है और हाल ही में दिल्ली के एक अस्पताल में अपने किसी परिचित से मिलकर लौटा था। हिसार में सैम्पल लिए जाने पर उसका रिजेल्ट पॉजिटिव मिला है। इन चारों मरीजों का टेस्ट अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में ही किया गया है। अब इनका टेस्ट एनआरसीई में भी किया जायेगा। 

कुरुक्षेत्र में पांच कोरोना पॉजिटिव मिले

कुरुक्षेत्र जिले के लाडवा उपमंडल में पांच कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से लाडवा मंडी में सब्जी विक्रेता व आढ़तियों के कोरोना सैंपल लिए थे, जिसमें से पांच लोगों की रिपोर्ट पॉटिजिव आई है। इस बात की पुष्टि लाडवा एसडीएम अनिल यादव ने मीडिया के समक्ष की।

रेवाड़ी में एक कोरोना पॉजिटिव मिला

रेवाड़ी के मायन गांव का एक युवक कोरोना पॉजिटिव मिला है। नोडल अधिकारी डॉ. विजय प्रकाश ने बताया कि मामंडिया अहीर में मिले कोविड पॉजिटिव की कांटेक्ट ट्रेसिंग के आधार पर इस युवक का सैम्पल लिया गया था। जिला रेवाड़ी में अब 10 कोविड पॉजिटिव केस हो गए हैं। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1053 पहुंचा

  • सबसे ज्यादा गुरुग्राम में 239, फरीदाबाद में 182, सोनीपत में 150, झज्जर में 91, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 40, पानीपत में 46, पंचकूला में 26, जींद में 23, करनाल में 21, रोहतक में 15, महेंद्रगढ़ में 21, रेवाड़ी में 10, सिरसा में 9, फतेहाबाद, व यमुनानगर में 8-8, हिसार में 13, कुरुक्षेत्र में 14, भिवानी में 6, कैथल में 5, चरखी-दादरी में 6, भिवानी में 3 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • प्रदेश में अब कुल 695 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 131, फरीदाबाद में 104, सोनीपत में 101, नूंह में 60, झज्जर में 84, अंबाला में 40, पलवल 36, पानीपत में 31, पंचकूला में 24, जींद में 15, करनाल में 11, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 7, महेंद्रगढ़ में 4, भिवानी में 4,  हिसार में 3, कैथल में 3, फतेहाबाद में 3, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

प्रदेश के 22 जिलों में रोडवेज बसों का संचालन शुरू, अभी टिकट ऑनलाइन ही मिलेंगे


  • हरियाणा में कोरोना मरीजों की कुल संख्या 1053 पहुंची
  • प्रदेश में रिकवरी रेट में सुधार, 695 मरीज ठीक भी हुए

दैनिक भास्कर

May 22, 2020, 04:03 PM IST

पानीपत. हरियाणा में लॉकडाउन फेज-4 का चौथा दिन है। शुक्रवार से हर डिपो में बसों का संचालन शुरू हो गया। कुल 24 डिपो में से 22 में बसें चल पड़ी। जो एक जिले से दूसरे जिलों के लिए रवाना की गई। वहीं प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या 1053 पहुंच गई है। हालांकि इनमें से 681 मरीज ठीक भी हो चुके हैं।

1.94 लाख यात्रियों को दूसरे प्रदेशों में छोड़ा

हरियाणा राज्य परिवहन की करीब 3700 बसों ने यूपी, एमपी, राजस्थान, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, दिल्ली आदि में अब तक 1.94 लाख से अधिक यात्रियों को पहुंचाया है। हरियाणा रोडवेज की बसें यूपी के गोरखपुर, लखनऊ तक गई हैं। दो दिन पहले ही बसों को अमृतसर भेजा गया था।

डाक्टरों को कोरोना के खतरे से बचाने को पोर्टा कैबिन में लगेंगी ओपीडी

गुड़गांव के सेक्टर-10 सिविल अस्पताल परिसर में लगने वाले ओपीडी अब पोर्टा केबिन में लगेंगी। अभी तक खुले में टेंट लगाकर ओपीडी लगाई जा रही थी। जिससे डॉक्टरों के अलावा अन्य स्टॉफ को भी संक्रमण का खतरा रहता है। अब प्लास्टिक और शीशे के पारदर्शी पोर्टा केबिन बनाए जाएंगे। इस केबिन में माइक लगा होगा। माइक पर बोलकर मरीज अपनी बीमारी डॉक्टर को बताएंगे। डॉक्टर मरीजों का मर्ज सुनकर उन्हें दवा आदि लिखेंगे। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1053 पहुंचा

  • सबसे ज्यादा गुरुग्राम में 239, फरीदाबाद में 182, सोनीपत में 150, झज्जर में 91, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 40, पानीपत में 46, पंचकूला में 26, जींद में 23, करनाल में 21, रोहतक में 15, महेंद्रगढ़ में 21, रेवाड़ी में 10, सिरसा में 9, फतेहाबाद, व यमुनानगर में 8-8, हिसार में 13, कुरुक्षेत्र में 14, भिवानी में 6, कैथल में 5, चरखी-दादरी में 6, भिवानी में 3 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • प्रदेश में अब कुल 695 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 131, फरीदाबाद में 104, सोनीपत में 101, नूंह में 60, झज्जर में 84, अंबाला में 40, पलवल 36, पानीपत में 31, पंचकूला में 24, जींद में 15, करनाल में 11, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 7, महेंद्रगढ़ में 4, भिवानी में 4,  हिसार में 3, कैथल में 3, फतेहाबाद में 3, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

कोरोना से 24 घंटे में 147 संक्रमितों ने दम तोड़ा, महाराष्ट्र में 64 की मौत; देशभर में 10 दिन में 1341 ने जान गंवाई


  • महाराष्ट्र में मरने वालों का आंकड़ा 1454 पहुंचा, गुजरात में 773 लोगों की हो चुकी है मौत
  • गुरुवार को दिल्ली में 18, उत्तरप्रदेश में 11, तमिलनाडु में 7 और प. बंगाल में 6 की जान गई

दैनिक भास्कर

May 21, 2020, 11:38 PM IST

नई दिल्ली. देश में कोरोना संक्रमण के चलते मौतों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। अब तक 3583 लोगों की जान जा चुकी है। बीते 10 दिन का आंकड़ा देखें तो इस बीच सबसे ज्यादा 1341 लोगों ने दम तोड़ा। गुरुवार को 147 लोगों की मौत की पुष्टि हुई। महाराष्ट्र में कोरोना के कारण 1454 लोगों ने जान गंवाई है। आज ठाणे में 45 साल की महिला कॉन्स्टेबल की मौत हो गई। वहीं, दिल्ली में सीआरपीएफ के सब इंस्पेक्टर की जान गई।

बीते 24 घंटे में सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में 64, गुजरात में 24, दिल्ली में 18, उत्तरप्रदेश में 11 और तमिलनाडु में 7 मौतें हैं। वहीं, प. बंगाल में 6, मध्यप्रदेश में 4 और राजस्थान में 3 की जान गई। बुधवार को देशभर में कोरोना से 132 मौतें हुई थीं।

संक्रमण से कहां कितनी मौतें?

राज्य

मौतें                            
महाराष्ट्र                               1454
गुजरात 773
मध्य प्रदेश 271
पश्चिम बंगाल 259
राजस्थान 150
दिल्ली 194
उत्तर प्रदेश 138
आंध्र प्रदेश 54
तमिलनाडु 95
तेलंगाना 45
कर्नाटक 41
पंजाब 39
जम्मू-कश्मीर 20
हरियाणा 14
बिहार 09
झारखंड 03
हिमाचल प्रदेश 04
केरल 04
असम 04
उत्तराखंड 01
मेघालय 01
ओडिशा 07
चंडीगढ़ 03
पुडुचेरी 01
कुल 3583

टॉप-10 शहर जहां सबसे ज्यादा मौतें हुईं 

शहर

मौतें
मुंबई                           882  
अहमदाबाद 619
पुणे 234
कोलकाता 172
इंदौर 107
जयपुर 74
उज्जैन 51
सूरत 57
ठाणे 81
भोपाल 40

17 मई को सबसे ज्यादा 165 मौतें

तारीख

मौतें
10 मई                  109            
11 मई 112
12 मई 81
13 मई 120
14 मई 136
15 मई 95
16 मई 106
17 मई 165
18 मई 131
19 मई 147
20 मई  132
Categories
sports

राज्य में 1000 पहुंची पॉजिटिव मरीजों की संख्या, 24 घंटे में संक्रमण से 4 की मौत


  • हरियाणा में अब कुल कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1031 पहुंच गई
  • इनमें 681 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज, अब तक 17 की जान जा चुकी है

दैनिक भास्कर

May 21, 2020, 08:14 PM IST

पानीपत. हरियाणा में कोरोना मरीजों का आंकड़ा एक हजार के नजदीक पहुंच गया है।  वहीं, प्रदेश में कोरोना से अब तक 17 मरीजों की जान जा चुकी है। पिछले 24 घंटे में प्रदेश में कोरोना की वजह से चार मरीजों ने दम तोड़ा। इनमें से तीन ने रोहतक पीजीआई में तो एक ने हिसार स्थित आइसोलेशन वार्ड में दम तोड़ दिया।

वहीं, प्रदेश में अभी तक 681 मरीज अस्पताल को डिस्चार्ज हो चुके हैं। पीजीआई रोहतक में भर्ती गुड़गांव से रेफर तीन कोरोना संक्रमित ने दम तोड़ा। इसमें बिहार के रहने वाले हारून, हसन रजा व राधेश्याम शामिल है। हारून व हसन रजा का शव रोहतक के जींद रोड स्थित कब्रिस्तान में दफनाया गया। जबकि राधेश्याम का अंतिम संस्कार रोहतक के वैश्य संस्था के पास स्थित श्मशान घाट में किया गया। जींद के पेगा गांव के व्यक्ति की भी कोरोना से मौत हो गई। उसने हिसार स्थित आइसोलेशन वार्ड में दम तोड़ दिया। वह कैंसर से पीड़ित था। उसका अंतिम संस्कार हिसार में ही होगा। 

अब जल्दी घर लौटेंगे प्रवासी मजदूर

अपने घरों के लिए जाने का इंतजार कर रहे श्रमिक जल्दी से घरों को लौट सकेंगे, क्योंकि, जहां मजदूरों को जाना है उन प्रदेशों में अब किसी तरह की एनओसी की जरूरत नहीं होगी। साथ ही, राज्य सरकार ने श्रमिकों से कहा है कि वे पैदल न चलें, क्योंकि अब एनओसी की जरूरत नहीं है। जितने भी श्रमिक आएंगे, सभी को उनके प्रदेशों में भेज दिया जाएगा। सरकार के इस निर्णय से मजदूरों का पैदल पलायन काफी हद तक रुक जाएगा, क्योंकि सभी की ट्रेनों या बसों से घर भेजा जाएगा। इस संबंध में बुधवार को सीएम मनोहर लाल व गृह मंत्री अनिल विज के बीच चंडीगढ़ में बातचीत हुई है। यूपी के श्रमिकों को बसों के जरिए भेजा जाएगा। वहीं बिहार व एमपी के श्रमिकों को ट्रेनों से भेजा जाना है। यूपी के जो मजदूर दूर जाने वाले हैं, सरकार उनके लिए ट्रेन भी उपलब्ध करा सकती है।

10वीं के परिणाम में लग सकता है 10 दिन से अधिक का समय

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के दसवीं परीक्षा परिणाम के लिए इंतजार करना होगा। परिणाम जारी होने में कितना समय लगेगा यह तो शिक्षा विभाग के आला अधिकारी व शिक्षा मंत्री ही बता सकते हैं लेकिन इतना जरूर है कि वहां से हरी झंड़ी मिलने के बाद ही परीक्षा परिणाम जारी हो पाएगा। हरियाणा शिक्षा बोर्ड ने दसवीं का परीक्षा परिणाम 20 मई को जारी करने की घोषणा की थी, लेकिन लॉकडाउन के कारण मार्किंग में देरी व शेष पेपर को नहीं करवाए जाने से परीक्षा परिणाम में देरी हो रही है। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1031 पहुंचा

  • सबसे ज्यादा गुरुग्राम में 239, फरीदाबाद में 181, सोनीपत में 150, झज्जर में 91, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 40, पानीपत में 46, पंचकूला में 26, जींद में 23, करनाल में 21, रोहतक में 14, महेंद्रगढ़ में 11, रेवाड़ी में 9, सिरसा, फतेहाबाद, व यमुनानगर में 8-8, हिसार में 9, कुरुक्षेत्र में 9, भिवानी में 6, कैथल में 5, चरखी-दादरी में 6, भिवानी में 3 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • प्रदेश में अब कुल 681 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 131, फरीदाबाद में 90, सोनीपत में 101, नूंह में 60, झज्जर में 84, अंबाला में 40, पलवल 36, पानीपत में 31, पंचकूला में 24, जींद में 15, करनाल में 11, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 7, महेंद्रगढ़ में 4, भिवानी में 4,  हिसार में 3, कैथल में 3, फतेहाबाद में 3, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

65 दिन में 1000 पार पहुंचा कोरोना, पहले 500 मरीज 49 दिन में आए थे, फिर 500 सिर्फ 16 दिन में


  • हरियाणा में अब कुल कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1031 पहुंची
  • गुरुवार को 33 मरीज ठीक हुए, इसके बाद अब 681 हुए कुल डिस्चार्ज

दैनिक भास्कर

May 21, 2020, 07:57 PM IST

पानीपत. हरियाणा में कोरोना मरीजों की संख्या एक हजार का आंकड़ा पार कर गई है। पहला मरीज मिलने के बाद से 65 दिन के आंकड़ा 1 हजार पहुंचा है। चिंता की बात ये है कि पहले 500 मरीज 49 दिन के अंदर आए थे। लेकिन बचे हुए 500 मरीज महज 16 दिन में आए हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि कोरोनी किस चाल से प्रदेश में बढ़ रहा है। हालांकि इन कुल मरीजों में से 670 मरीज ठीक भी हो चुके हैं। हरियाणा में गुरुवार को कुल कोरोना मरीजों की संख्या 1031 हो गई है। 

हरियाणा में ऐसे बढ़ा कोरोना का चक्र

हरियाणा में 66.05 प्रतिशत पहुंची रिकवरी रेट

हरियाणा में गुरुवार को 681 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है। हरियाणा में कोरोना का रिकवरी रेट 66.05 प्रतिशत पहुंच गया है। अभी तक 88,138 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं, इनमें से 4735 के रिजल्ट का इंतजार है। 17 मरीजों की मौत हो चुकी है। हरियाणा में मरीजों की डबलिंग रेट 17 है। 

गुरुवार को 38 नए मरीज सामने आए, 33 ठीक हुए

गुरुवार को कोरोना के 38 नए मरीज सामने आए हैं। इनमें गुड़गांव में 13, फरीदाबाद से 11, पानीपत में 4, सोनीपत में 3, कुरुक्षेत्र में 2 और पंचकूला, जींद, करनाल, रोहतक, महेंद्रगढ़ से 1-1 मरीज शामिल है। वहीं 33 मरीज ठीक भी हुए हैं। झज्जर में 22, फरीदाबाद में 4, रोहतक में 3, करनाल में 2 और सोनीपत, फतेहाबाद में 1-1 मरीज ठीक हुआ है। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1031 पहुंचा

  • सबसे ज्यादा गुरुग्राम में 239, फरीदाबाद में 181, सोनीपत में 150, झज्जर में 91, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 40, पानीपत में 46, पंचकूला में 26, जींद में 23, करनाल में 21, रोहतक में 14, महेंद्रगढ़ में 11, रेवाड़ी में 9, सिरसा, फतेहाबाद, व यमुनानगर में 8-8, हिसार में 9, कुरुक्षेत्र में 9, भिवानी में 6, कैथल में 5, चरखी-दादरी में 6, भिवानी में 3 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • प्रदेश में अब कुल 681 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 131, फरीदाबाद में 90, सोनीपत में 101, नूंह में 60, झज्जर में 84, अंबाला में 40, पलवल 36, पानीपत में 31, पंचकूला में 24, जींद में 15, करनाल में 11, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 7, महेंद्रगढ़ में 4, भिवानी में 4,  हिसार में 3, कैथल में 3, फतेहाबाद में 3, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

‘वर्क फ्रॉम होम ने विश्वास जगाया पर आमने-सामने का संवाद, हल्की सी थपकी आपको वो फायदा देती है, जो हजारों शब्द नहीं दे पाते’


  • उद्योगपति गोयनका ने कहा-19वीं शताब्दी तक काम अक्सर घर से या घर के आसपास से किया जाता था
  • उन्होंने कहा- ऑफिस का आइडिया 20वीं शताब्दी से शुरू हुआ और जल्द ही दिनचर्या का हिस्सा बन गया

हर्ष गोयनका, अध्यक्ष, आरपीजी समूह

May 21, 2020, 06:08 AM IST

नई दिल्ली. भविष्य में वर्क फ्रॉम होम को लेकर कई बदलाव देखने को मिलेंगे। देश में इसकी तस्वीर कैसी होगी और कंपनियों पर किस तरह के प्रभाव पड़ेंगे। ऐसे ही कुछ मामलों पर अपनी बात रख रहे हैं जानेमाने उद्योगपति हर्ष गोयनका। 

’19वीं शताब्दी तक काम अक्सर घर से या घर के आसपास से किया जाता था। ऑफिस का आइडिया 20वीं शताब्दी से शुरू हुआ और जल्द ही दिनचर्या का हिस्सा बन गया। रोज सुबह उठना, घर से ऑफिस जाना और सुबह 9 से शाम 5 बजे के बीच सहकर्मियों के साथ मिलकर काम करना, यही काम की परिभाषा बन गई।’

‘सूचना क्रांति ने वक्त की पाबंदी को तोड़ा’

‘पिछले कुछ सालों में टेलीकम्युनिकेशन की वजह से थोड़ा बदलाव आना शुरू हुआ, क्योंकि वैश्विक स्तर पर आधुनिक डिजिटल नेटवर्क स्थापित हो चुके थे। इसकी वजह से रियल एस्टेट के दाम भी बढ़ने लगे। हमारी कंपनी जैसी कई संस्थाओं ने समय की पाबंदी को तोड़ना शुरू किया और इस तरह घर से काम करने की प्रथा चल निकली।’

‘घर आरामदायक ऑफिस बन गया’

‘पिछले दो महीने से घर से ही काम हो रहा है, जिसकी वजह से घर और काम, दोनों की परिभाषा बदल गई है। अचानक घर, सबसे करीब और सबसे आरामदायक कार्यालय बन गया। जो लोग इस तौर-तरीके से अनभिज्ञ थे, उनके लिए ये नई व्यवस्था स्वागत योग्य अचंभा साबित हुई।’

‘हमारी कंपनी हम पर इतना विश्वास करती है कि हमें सुपरवाइज करने की जरूरत नहीं समझती, ये मानसिक स्वतंत्रता का भी अहसास कराता है और आपसी विश्वास को बढ़ाता है। जब लोग घर से काम करते हैं और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग जैसी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हुए एक-दूसरे से संवाद करते हैं तो अपनेपन का भाव बढ़ने लगता है, जिससे पारदर्शिता भी बढ़ जाती है।’

‘घर और ऑफिस आने-जाने का समय बच रहा’

‘ऐसे में बातचीत के दौरान जब अचानक से बच्चे टेबल के नीचे से निकल कर सामने आ जाते हैं या आपके पालतू जानवर उछलकर आपकी गोद में आ जाते हैं, तो ऐसे पल वास्तव में बेहद मजाकिया हो जाते हैं। घर और ऑफिस के बीच आने-जाने का समय बचने से कई ऐसे कामों के लिए समय मिलने लगा, जो पहले प्राथमिकता लिस्ट में नहीं थे।’

‘अब नए काम की नई चुनौतियां सुलझानी होंगी’
‘आपसी मत-भिन्नता को दूर करने के लिए आमने-सामने बैठकर किया गया संवाद बेहद कारगर होता है। एक स्पर्श, कंधे पर दी गई हल्की-सी थपकी वो फायदा दे जाती है, जो हजारों शब्द नहीं दे पाते। कुछ प्रशासनिक समस्याएं भी हैं, जैसे-साइबर सिक्योरिटी एक चुनौती है। हैकिंग की समस्या पहले ही बढ़-चढ़कर परेशानियां खड़ी करती रही है और कुछ वीडियो कॉलिंग ऐप्स भी इनसे अछूते नहीं रहे। जैसे-जैसे कंपनियां काम करने के नए तरीके अपनाएंगी वो आने वाले दिनों-महीनों में इन समस्याओं को सुलझाने पर खासा ध्यान देंगी।’

Categories
sports

आज 14 संक्रमितों ने दम तोड़ा, पिछले 9 दिनों में कोरोना से 1,223 लोगों की जान गई


  • सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में अब तक 1325 लोग जान गंवा चुके हैं, गुजरात में 719 मौतें हुईं
  • आज दिल्ली में 8, मध्य प्रदेश में 2, ओडिशा में 1, आंध्र प्रदेश में 2, हिमाचल प्रदेश में 1 मरीज ने दम तोड़ा

दैनिक भास्कर

May 20, 2020, 06:02 PM IST

नई दिल्ली. कोरोना संक्रमण के चलते देश में मरने वालों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। मौत का ग्राफ देखें तो पिछले 9 दिनों में इसकी रफ्तार सबसे तेज रही है। 10 से 19 मई के बीच 1,223 लोग जान गंवा चुके हैं। इसके पहले 1 मई से 10 मई के बीच दस दिनों में 1,013 लोगों की मौत हुई थी। पूरे देश में मरने वालों की संख्या 3,317 हो गई है। 

आज 14 लोगों की मौत
बुधवार यानी आज 14 लोगों की मौत हुई। इसमें सबसे ज्यादा दिल्ली में 8, मध्य प्रदेश में 2, पंजाब में 1, आंध्र प्रदेश में 1, हिमाचल प्रदेश में 1 और ओडिशा में 1 की जान गई। मंगलवार को 147 लोगों की मौत हुई। इनमें सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में रिकॉर्ड 76 लोगों ने दम तोड़ा। एक दिन में हुई मौतों में यह सबसे ज्यादा है। गुजरात में भी मरने वालों का आंकड़ा 700 पार हो गया। अब तक 719 मौतें हो चुकी हैं। यहां मंगलवार को 25 संक्रमितों की जान गई। 

संक्रमण से कहां कितनी मौतें?

राज्य

मौतें                            
महाराष्ट्र                               1325
गुजरात 719
मध्य प्रदेश 260
पश्चिम बंगाल 250
राजस्थान 143
दिल्ली 176
उत्तर प्रदेश 123
आंध्र प्रदेश 53
तमिलनाडु 85
तेलंगाना 38
कर्नाटक 40
पंजाब 39
जम्मू-कश्मीर 17
हरियाणा 14
बिहार 09
झारखंड 03
हिमाचल प्रदेश 04
केरल 04
असम 04
उत्तराखंड 01
मेघालय 01
ओडिशा 06
चंडीगढ़ 03
पुडुचेरी 01
कुल 3317

टॉप-10 शहर जहां सबसे ज्यादा मौतें हुईं 

शहर

मौतें
मुंबई                           800    
अहमदाबाद 576
पुणे 211
कोलकाता 169
इंदौर 105
जयपुर 68
उज्जैन 48
सूरत 53
ठाणे 74
भोपाल 39

17 मई को सबसे ज्यादा 165 मौतें

तारीख

मौतें
10 मई                  109            
11 मई 112
12 मई 81
13 मई 120
14 मई 136
15 मई 95
16 मई 106
17 मई 165
18 मई 131
19 मई 147