Categories
sports

दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर फिर सील, हरियाणा सीएमओ ने कहा-दिल्ली से बातचीत के बाद खुलेगा बॉर्डर


  • दिल्ली पुलिस हरियाणा से लगती सीमाओं पर वाहनों की आवाजाही पर लगा रही रोक
  • दोनों राज्यों के बीच असमंजस की स्थित, कभी बॉर्डर खोल दिया जाता है, कभी बंद के आदेश दे दिए जाते हैं

दैनिक भास्कर

Jun 03, 2020, 10:57 AM IST

पानीपत. दिल्ली से लगती हरियाणा की सीमाओं को लेकर असमंजस की स्थिति बरकरार है। यहां आने-जाने वाले लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि कभी हरियाणा सरकार बॉर्डर खोल देती है तो कभी बंद कर देती है। इसी तरह दो दिन पहले हरियाणा सरकार ने बॉर्डर खोला तो दिल्ली ने रोक लगा दी। बुधवार को हरियाणा सीएमओ ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि दिल्ली सरकार ने एमएचए की गाइडलाइन के बावजूद भी दिल्ली में दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों की एंट्री बैन कर दी है। अब हरियाणा सरकार भी दिल्ली से लगती सीमाओं को दिल्ली सरकार से बातचीत के बाद ही खोलेगी। इसका सीधा अर्थ है कि हरियाणा ने भी अब सीमाएं दोबारा बैन कर दी हैं। 

हरियाणा और दिल्ली अब दोनों राज्यों की सीमाओं पर आवाजाही के लिए पुलिस सिर्फ जरुरी सेवाओं से जुड़े लोगों को ही आने-जाने की अनुमति दे रही है। इसके अलावा मूवमेंट पास वाले लोग भी आवाजाही कर सकते हैं। इससे पहले मई में बॉर्डर सील रहे, इन्हें जून में खोला गया था लेकिन अब दोबारा सील कर दिया गया। अब बॉर्डर पर सख्ती पहले की तरह बनी रहेगी। 

दिल्ली बॉर्डर पर फिर जाम
गुड़गांव, फरीदाबाद, सोनीपत में दिल्ली बॉर्डर पर फिर से जाम लग गया। सुबह से ही वाहनों की लंबी-लंबी कतार रही। पुलिस को भी लोगों को समझाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। गुड़गांव बॉर्डर पर ज्यादा वाहन नजर आए। 

दिल्ली-गुड़गांव बॉर्डर का दृश्य। जहां दिल्ली पुलिस मूवमेंट पास और आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को ही आने-जाने दे रही है। 

हरियाणा रोडवेज की इंटरस्टेट बस सेवाएं कल से शुरू, आज शुरू हुई अॉनलाइन रिजर्वेशन

हरियाणा रोडवेज में सफर करने वालों के लिए अच्छी खबर है 4 जून से इंटरस्टेट बस सेवाएं शुरू हो जाएंगी। इसके लिए अॉनलाइन टिकट बुकिंग बुधवार से शुरू हो गई है। 157 बसें पड़ोसी राज्यों के लिए चलेंगी। इसमें जयपुर, शिमला, अमृतसर, जालंधर, हरिद्वार, अलीगढ़, मथुरा, आगरा सहित कई प्रमुख शहर शामिल हैं। एक बस में 30 सवारियां ही सफर करेंगी। मास्क लगाना व सैनिटाइजर साथ रखना जरुरी होगा। सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष रुप से ख्याल रखना होगा। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 2718 पहुंचा

  • अमेरिका से लौटे 21 कोरोना पॉजिटिव के साथ गुड़गांव में 1063, फरीदाबाद में 485, सोनीपत में 233, झज्जर में 103, नूंह में 72, अंबाला में 61, पलवल में 79, पानीपत में 64, पंचकूला में 27, जींद में 32, करनाल में 67, रोहतक में 90, महेंद्रगढ़ में 42, रेवाड़ी में 23, सिरसा में 47, फतेहाबाद में 24, यमुनानगर में 9, हिसार में 53, कुरुक्षेत्र में 36, भिवानी में 44, कैथल में 29, चरखी-दादरी में 21 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।
  • हरियाणा में अब कुल 1069 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 284, फरीदाबाद में 168, सोनीपत में 148, नूंह में 65, झज्जर में 92, अंबाला में 40, पलवल 44, पानीपत में 46, पंचकूला में 25, जींद में 24, करनाल में 20, यमुनानगर में 8, सिरसा में 11, रोहतक में 11, महेंद्रगढ़ में 21, भिवानी में 6,  हिसार में 5, कैथल में 6, फतेहाबाद में 7, कुरुक्षेत्र में 17, चरखी दादरी में 1, रेवाड़ी में 4 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं। अमेरिका से लौटे 2 मरीज ठीक हुए हैं।
Categories
sports

फरीदाबाद में तीन पॉजिटिव लापता, सैंपल देते वक्त लिखवाया था गलत पता


  • फरीदाबाद के स्वास्थ्य विभाग ने तीनों के खिलाफ दर्ज करवाई एफआईआर
  • प्रदेश में अब तक 718 संक्रमित रिकवर होकर घर लौट चुके हैं

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 03:31 PM IST

पानीपत/फरीदाबाद. हरियाणा में कोरोना लॉकडाउन फेज-4 का छठवां दिन है। प्रदेश में कुल कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1084 पहुंच गया। जबकि अब तक 718 मरीज ठीक हो चुके हैं। इनमें सबसे ज्यादा 250 गुड़गांव के हैं। वहीं फरीदाबाद में तीन कोरोना संक्रमित अपने घर से फरार हो गए हैं। उन्होंने सैंपल रिपोर्ट में गलत मोबाइल नंबर भी लिखवाया हुआ था। पुलिस अब उनकी तलाश कर रही है।

दरअसल, कोरोना संक्रमित होने की आशंका पर एक महिला समेत तीन लोग बीके अस्पताल में टेस्ट कराने पहुंचे थे। इन्हें कोरोना की पहले से ही आशंका थी, इसलिए इन्होंने जांच के दौरान अपना पता व मोबाइल नंबर गलत लिखवाया था। पॉजिटिव जांच रिपोर्ट आने के बाद जब उन्हें होम क्वारैंटाइन करने के लिए पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम उनके दिए पते पर पहुंची तो तीनों फरार मिले।

उन्होंने जो मोबाइल नंबर दिए थे उन पर संपर्क किया गया तो वे किसी दूसरे को मिल रहे थे। इस बात की जानकारी मिलते ही पुलिस और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। आखिर में पुलिस ने तीनों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है। लेकिन अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है। ऐसे में फरार तीनों अब कहां हैं और कितने लोगों को संक्रमित कर रहे होंगे इसका अंदाजा लगा पाना मुश्किल है। 

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 1084 पहुंचा

  • सबसे ज्यादा गुरुग्राम में 250, फरीदाबाद में 193, सोनीपत में 151, झज्जर में 91, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 40, पानीपत में 46, पंचकूला में 26, जींद में 26, करनाल में 24, रोहतक में 15, महेंद्रगढ़ में 21, रेवाड़ी में 11, सिरसा में 9, फतेहाबाद, व यमुनानगर में 8-8, हिसार में 13, कुरुक्षेत्र में 14, भिवानी में 6, कैथल में 5, चरखी-दादरी में 6, भिवानी में 5 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • प्रदेश में अब कुल 718 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 140, फरीदाबाद में 104, सोनीपत में 105, नूंह में 60, झज्जर में 90, अंबाला में 40, पलवल 37, पानीपत में 32, पंचकूला में 24, जींद में 15, करनाल में 11, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 7, महेंद्रगढ़ में 4, भिवानी में 4,  हिसार में 3, कैथल में 3, फतेहाबाद में 5, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।
Categories
sports

अब कोरोना के मामले आने पर पूरा जिला ब्लॉक नहीं होगा, कंटेनमेंट जोन बनाकर सिर्फ एरिया को सील किया जाएगा


  • हरियाणा में 15 मई से कुछ चुनिंदा रूट्स पर विशेष बस सेवा भी शुरू कर दी जाएगी
  • बस में टिकट बुकिंग भी केवल ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से ही होगी

दैनिक भास्कर

May 14, 2020, 03:12 PM IST

पानीपत. हरियाणा में लॉकडाउन फेज-3 का गुरुवार को 11वां दिन है। हरियाणा में कोरोना मरीजों की संख्या 796 पहुंच गई है। जबकि ठीक होने वालों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। अब 418 मरीज ठीक हो चुके हैं। हरियाणा सरकार ने लगातार लॉकडाउन को देखते हुए बड़ा फैसला लिया है। कोरोना को लेकर अब प्रदेश को ग्रीन, ऑरेंज व रेड जोन के हिसाब से नहीं बांटा जाएगा। बल्कि कोरोना के मामले आने पर पूरा जिला ब्लॉक करने के बजाय कंटेनमेंट जोन बनाकर सिर्फ उस एरिया को सील किया जाएगा। 

हरियाणा में चुनिंदा रूट पर रोडवेज बसें भी चलेंगी

सीएम मनोहर लाल खट्‌टर ने बताया कि 15 मई से कुछ चुनिंदा रूट्स पर विशेष बस सेवा शुरू करने का निर्णय लिया है। बस सेवा हरियाणा से बाहर व कोरोना से अत्यधिक प्रभावित क्षेत्रों में शुरू नहीं होगी। केवल ऑनलाइन पोर्टल https://hartrans.gov.in के माध्यम से ही टिकट बुकिंग होगी। यात्रा के लिए मार्गों का विवरण व किराए से संबंधित जानकारी वेबसाइट पर मिलेगी। एक बस में 30 यात्रियों को ही बैठाया जाएगा। मास्क पहनना अनिवार्य होगा। सीएम ने कहा कि पंचकूला, महेंद्रगढ़, अम्बाला, सिरसा व भिवानी सहित कई जिलों में अलग-अलग रूट पर 2-2, 3-3 बसें चलाई जाएंगी। सोनीपत, पानीपत समेत 10 डिपो से बसें अभी नहीं चलेंगी। स्कूल-कॉलेजों में भी गतिविधियां शुरू करने पर विचार किया जा रहा है।

पहले दिन 50 बसें चलेंगी, थर्मल स्क्रीनिंग के बाद एंट्री, बीच रास्ते में न कोई चढ़ेगा, न उतरेगा

  • 15 मई को करीब 50 बसें ही चलाई जाएंगी। पंचकूला से सुबह 8 व 11 बजे रेवाड़ी के लिए 2 बसें चलेंगी। इसी समय पर 2 बसें वहां से चलेंगी। दूसरे जिलों से भी कुछ लंबी दूरी की बसें चलाए जाने की योजना है।

  • चंडीगढ़, दिल्ली, पानीपत, सोनीपत, गुड़गांव, नूंह, पलवल, फरीदाबाद, झज्जर, गुडगांव डिपो की बसें फिलहाल नहीं चलेंगी। कोरोना से प्रभावित जिलों से गुजरने वाली बसें बाइपास या फ्लाइओवर से गुजरेंगी।
  • ऑनलाइन बुक हुई कंफर्म टिकट देखकर ही बस अड्‌डे में एंट्री मिलेगी। बसों में टिकट नहीं मिलेगा। बस अड्‌डे में प्रवेश से पहले थर्मल स्क्रीनिंग होगी। बिना मास्क पहने यात्री को प्रवेश नहीं मिलेगा।
  • बसें राज्य परिवहन के बस अड्डों से निर्धारित बस अड्डों तक ही जाएंगी। रास्ते में पड़ने वाले अड्‌डे से चढ़ने या उतरने की अनुमति नहीं होगी।
  • यदि बस चलाना संभव नहीं होगा तो दो घंटे पहले सूचना देकर बस परिचालन रद्द कर दिया जाएगा। ऐसी स्थिति में यात्री का किराया रिफंड होगा।

किसानों को 5 मई तक की पेमेंट जारी होगी
गेहूं भुगतान के लिए सरकार ने 5 मई तक की 5900 करोड़ रु. की राशि जमा हो चुकी है। 2000 करोड़ रु. आढ़तियों के खाते में जा चुके हैं। 3900 करोड़ अगले 3 दिनों में किसानों के खातों में पहुंच जाएंगे। मंडियों में करीब 65.66 लाख टन गेहूं की आवक हो चुकी है।

रेवाड़ी में प्रवासी मजदूरों को जब ट्रेन उनके राज्यों के लिए रवाना हुई तो प्रवासी मजदूरों के चेहरे पर कुछ ऐसी खुशी देखने को मिली। एमपी सागर के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन में बैठी महिला अपनी बच्ची के साथ घर जाने की खुशी जताते हुए।

8 लाख प्रवासियों ने कराया रजिस्ट्रेशन, अब तक 1.25 लाख पहुंचे घर

प्रदेश में करीब 8 लाख प्रवासी मजदूरों ने घर जाने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है। सरकार इन्हें स्पेशल ट्रेनों व बसों से भेज भी रही है। लेकिन अब तक करीब 1.25 लाख लोग घर जा पाए हैं। काफी संख्या में ऐसे लोग हैं, जो किसी कारण से रजिस्ट्रेशन न करा पाने के कारण अब पैदल ही निकल पड़े हैं। बड़ी परेशानी पंजाब व आसपास के राज्यों से आ रहे लोगों के कारण बढ़ गई है। सबसे ज्यादा लोग पंजाब से आ रहे हैं। वहां इनको घर भेजने की व्यवस्था नहीं की गई और हरियाणा की ओर भेजा जा रहा है। ये कच्चे व खेत के रास्तों से एंट्री कर पैदल ही जा रहे हैं। सड़कों पर पुलिस नाके होने के चलते कुछ लोग जान जोखिम में डालकर यमुना नदी पार कर सीमा में प्रवेश कर रहे हैं।

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 811 पहुंचा

  • हरियाणा में अब तक गुड़गांव में 166, सोनीपत में 120, फरीदाबाद में 133, झज्जर में 84, नूंह में 60, अम्बाला में 42, पलवल में 37, पानीपत में 36, पंचकूला में 23, जींद में 20, करनाल में 15, यमुनानगर में 8, सिरसा, रोहतक और फतेहाबाद में 7-7, भिवानी, रेवाड़ी और महेंद्रगढ़ में 6-6, हिसार और चरखी दादरी में 4-4, कैथल और कुरुक्षेत्र में 3-3 पॉजिटिव मिले। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • प्रदेश में अब कुल 418 मरीज ठीक हो गए हैं। गुड़गांव में 62, फरीदाबाद में 58, नूंह में 57, सोनीपत में 54, अम्बाला में 38, पलवल 34,  झज्जर में 24, पानीपत में 22, पंचकूला में 18, जींद में 10, करनाल में 5, सिरसा और यमुनानगर में 4-4, यमुनानगर, भिवानी और हिसार में 3-3, कैथल, कुरुक्षेत्र, रोहतक में 2-2, चरखी दादरी, फतेहाबाद 1-1 मरीज ठीक होने पर घर भेजा गया। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।