Categories
sports

चरणबद्ध ढंग से शुरू हुआ ‘मिशन स्टार्ट अगेन’, संगीतकार वाजिद खान का निधन,


  • खास यह है कि जिन उद्योगों और व्यवसायों को खोला जा रहा है उसे खोलने के लिए किसी की अलग से अनुमति नहीं लेनी होगी
  • पूरे राज्य में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा, 3 जून‌, 5 जून और 8 जून को राज्य को अनलॉक किया जाएगा

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 09:54 AM IST

मुंबई. ‘मिशन स्टार्ट अगेन’ के तहत महाराष्ट्र सरकार ने तीन चरणों में कांटेनमेंट जोन को छोड़कर पूरे राज्य को खोलने का ऐलान किया है। इसके तहत 3 जून‌, 5 जून और 8 जून को राज्य को अनलॉक किया जाएगा। हालांकि, पूरे राज्य में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा। खास यह है कि जिन उद्योगों और व्यवसायों को खोला जा रहा है उसे खोलने के लिए किसी की अलग से अनुमति नहीं लेनी होगी।

मुंबई व एमएमआर रीजन की महानगरपालिकाओं, पुणे, सोलापुर, औरंगाबाद, मालेगांव, नासिक, धुले, जलगांव, अकोला, अमरावती और नागपुर महापालिका क्षेत्र में लॉकडाउन में काफी हद तक छूट दी गई है। आउटडोर एक्टिविटी के लिए भी गाइडलाइंस जारी की गई हैं। दुकानों के लिए ऑड-इविन सहित कई नियम बनाए गए हैं।

पहला चरण: 3 जून से 

5 से 7 बजे के बीच आउटडोर फिजिकल एक्टिविटी को मंजूरी

  • आउटडोर फिजिकल एक्टिविटी में साइकिलिंग, जॉगिंग / रनिंग / वाॅकिंग शामिल है, इसे अनुमति दी गई है। समुद्र किनारे, सार्वजनिक / निजी खेल के मैदानों, सोसाइटी/ इंस्टीट्यूशनल मैदान में इन्हें कर सकते हैं। हालांकि, इनडोर स्टेडियम में होने वाले खेलों को अभी अनुमति नहीं मिली है।
  • यह अनुमति सिर्फ सुबह 5 से 7 बजे के बीच के लिए है। बच्चे अगर बाहर निकलते हैं तो उनके साथ एक वयस्क अनिवार्य है। इसमें कोई भी व्यक्ति केवल अपने आसपास का ग्राउंड इस्तेमाल कर सकता है। 
  • प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन, कीट-नियंत्रण से जुड़े लोगों और टेक्नीशियन को उचित दूरी बनाकर घरों में जाकर काम करने की मंजूरी दी गई है। हालांकि, इस दौरान मास्क अनिवार्य किया गया है। 
  • सरकारी कार्यालय में गैर जरूरी सेवाओं से जुड़े विभाग 15 प्रतिशत वर्कफाेर्स के साथ काम करेंगे। इनमें इमरजेंसी, स्वास्थ्य और चिकित्सा, कोषागार, आपदा प्रबंधन, पुलिस, एनआईसी, खाद्य और नागरिक आपूर्ति, एफसीआई, एनवाईके, नगर सेवा समेत जरूरत के अनुसार काम करने वाले जरूरी विभागों पर यह नियम लागू नहीं होगा।

दूसरा चरण: 5 जून से 

  • मॉल और मार्केट कॉम्प्लेक्स को छोड़कर सभी बाजार, दुकानें ऑड-ईवन के आधार पर खोलने की अनुमति दी गई है। यह अनुमति सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे के बीच रहेगी।
  • संक्रमण रोकने के किए कपड़ों की दुकानों में किसी तरह के ट्रायल रूम के इस्तेमाल पर पाबंदी रहेगी। दुकानों में कपड़ों के एक्सचेंज और रिटर्न को बंद कर दिया गया है। 
  • दुकानदार, दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार होंगे और उन्हें फर्श पर पैर के निशान, टोकन प्रणाली, होम डिलीवरी आदि जैसे उपाय करने होंगे।
  • खरीदारी के उद्देश्यों के लिए साइकिल का उपयोग करने की सलाह दी गई है। यह भी कहा गया है कि आस-पड़ोस के बाजारों का उपयोग ही किया जाए। शॉपिंग के लिए कार से निकलने वालों पर कार्रवाई होगी।
  • टैक्सी, रिक्शा, कैब को 2 पैसेंजेर्स के साथ इजाजत होगी। सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का जहां भी उल्लंघन हुआ, उसे तुरंत बंद कर दिया जाएगा।

तीसरा चरण:10 जून से 

  • प्राइवेट ऑफिस में 10 प्रतिशत लोग ही काम करेंगे। बाकी लोगों को वर्क फ्रॉम होम पर रखा जाएगा। किसी बाहर के जिले से आने-जाने की इजाजत नहीं होगी।
  • कंपनियां यह सुनिश्चित करेंगी कि किसी भी बुजुर्ग कर्मचारी को दफ्तर में नहीं बुलाया जाए।

सार्वजनिक और निजी वाहनों से यात्रा करने वालों के लिए निर्देश 

  • टू व्हीलर पर एक राइडर के साथ एक व्यक्ति
  • थ्री व्हीलर पर 1 + 2 यानी 3 लोग
  • फोर व्हीलर पर 1 + 2 यानी तीन लोग
  • डिस्ट्रिक्ट बस सेवा को अधिकतम 50% क्षमता के साथ चलने की अनुमति

कंटेंनमेंट जोन समेत पूरे राज्य में यह रहेंगे बंद

  • स्कूल, कॉलेज, एजुकेशनल ट्रेनिंग सेंटर, कोचिंग क्लासेस 
  • मेट्रो, अंतर राज्य परिवहन और अंतरराष्ट्रीय विमानसेवा 
  • स्विमिंग पूल, जिम, सिनेमाघर, धार्मिक स्थल, सैलून, स्पा, ब्यूटी पार्लर, शॉपिंग मॉल्स, होटल, रेस्तरां

एक जिले से दूसरे जिले में जाने के लिए अनुमति जरुरी

  • राज्य से बाहर जाने या किसी दूसरे राज्य से महाराष्ट्र में आने के लिए पहले अनुमति लेनी होगी। इसी तरह एक जिले से दूसरे जिले में आने-जाने के लिए भी अनुमति लेनी होगी।

हो रही है सरकार को बदनामी करने की कोशिश
मुख्यमंत्री ने कहा, “कोरोना मरीजों की संख्या बता-बता कर महाराष्ट्र को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है, लेकिन सचाई यह है महाराष्ट्र में कोरोना से संक्रमित होने के बाद ठीक होने वाले मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा है। अब तक 28 हजार से ज्यादा मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं।”

अखबारों की होम डिलीवरी भी शुरू हुई
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने ऐलान किया है कि अगले रविवार से राज्य में सभी जगह अखबारों की होम डिलिवरी करने की अनुमति दे दी गई है। मुख्यमंत्री ने रविवार की रात राज्य को संबोधित करते हुए यह भी घोषणा की कि यूनिवर्सिटी के कोर्सों के फाइनल ईयर की परीक्षा नहीं होगी।

बॉलीवुड संगीतकार वाजिद खान का निधन 
मशहूर बॉलीवुड संगीतकार एवं गायक वाजिद खान का कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद सोमवार को एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वह 42 वर्ष के थे। संगीतकार ने सभी काम अपने भाई साजिद के साथ मिलकर किए। इन दोनों की जोड़ी साजिद-वाजिद के नाम से बॉलीवुड में मशहूर हैं। वाजिद के भाई साजिद ने कहा, “उनका निधन दिल का दौरा पड़ने से हुआ।” उन्होंने कुछ दिन पहले वाजिद को कोविड-19 होने की पुष्टि होने की जानकारी भी दी थी। ‘वान्टेड’, ‘दबंग’ और ‘एक था टाइगर’ जैसी सलमान खान की कई हिट फिल्मों में गीत दिया है।

Categories
sports

शिवसेना नेता राउत ने कहा- कोरोना फैलने के लिए नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम जिम्मेदार, इससे गुजरात के बाद मुंबई-दिल्ली में संक्रमण बढ़ा


  • अहमदाबाद में 24 फरवरी को डोनाल्ड ट्रम्प के भारत दौरे पर नमस्ते ट्रम्प कार्यक्रम हुआ था
  • राउत ने शिवसेना के मुखपत्र सामना में साप्ताहिक लेख में कहा- राहुल गांधी ने लॉकडाउन के विफल होने का सटीक विश्लेषण किया था

दैनिक भास्कर

May 31, 2020, 03:31 PM IST

मुंबई. शिवसेना नेता संजय राउत ने देश के महानगरों में कोराेनावायरस फैलने के लिए नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के स्वागत में गुजरात में हुए इस कार्यक्रम के कारण संक्रमण बाद में मुंबई और दिल्ली में फैला। ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 फरवरी को अहमदाबाद में एक रोड शो में हिस्सा लिया था। इसमें हजारों लोग शामिल हुए थे। इसके बाद दोनों नेताओं ने मोटेरा क्रिकेट मैदान में एक लाख से अधिक लोगों को संबोधित किया था।

शिवसेना के मुखपत्र सामना में अपने साप्ताहिक लेख में राउत ने कहा- इससे इनकार नहीं किया जा सकता कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के स्वागत में एकत्रित हुए जनसमूह के कारण गुजरात में कोरोनावायरस फैला है। ट्रंप के साथ आई टीम कुछ सदस्य मुंबई, दिल्ली भी गए थे, जिसके कारण संक्रमण फैला। गुजरात में कोरोनावायरस का पहला मामला 20 मार्च को सामने आया था। जब राजकोट के एक व्यक्ति और सूरत की एक महिला में संक्रमण की पुष्टि हुई थी।

लॉकडाउन बिना योजना के, अब इसे हटाने की जिम्मेदारी राज्यों पर डाली
उन्होंने कहा- लॉकडाउन बिना किसी योजना के लागू किया गया, लेकिन अब इसे हटाने की जिम्मेदारी राज्यों पर छोड़ दी गई है। इस अनिश्चितता से संकट और बढ़ेगा। ये अराजकता इस संकट को बढ़ाने का ही काम करेगी। राउत ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने लॉकडाउन के विफल होने का सटीक विश्लेषण किया था।

राउत ने कहा- यह आश्चर्यजनक है कि कोरोनावायरस मामलों में बढ़ोतरी के लिए महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग कर कुछ लोग राजनीति चमका रहे हैं। अगर राष्ट्रपति शासन लगाने के लिए संक्रमण से निपटने में विफलता आधार है तो इसे 17 अन्य राज्यों में भी लगाया जाना चाहिए। इनमें भाजपा शासित राज्य भी शामिल हैं। महामारी को रोकने में केंद्र सरकार विफल रही है। उसके पास कोई योजना नहीं थी।

सरकार को कोई खतरा नहीं, तीनों पार्टियों का साथ रहना मजबूरी
शिवसेना सांसद ने कहा कि सरकार गिराने की भाजपा की तमाम कोशिशों के बावजूद महाराष्ट्र विकास अघाडी सरकार (एमवीए) को कोई खतरा नहीं है। राउत ने कहा- यहां तक ​​कि अगर सत्तारूढ़ साझेदारों के बीच आंतरिक संघर्ष है, तो भी सरकार को कोई खतरा नहीं है। उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाली इस सरकार का अस्तित्व बचाए रखने के लिए तीनों सहयाेगी पार्टियों शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस का साथ रहना मजबूरी है। 

शिवसेना नेता ने कहा- देवेंद्र फडणवीस की अगुआई वाली भाजपा और शिवसेना की सरकार थी। उन्होंने सत्ताधारी सहयोगियों के बीच आंतरिक संघर्ष देखा, लेकिन तब भी अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा किया। फडणवीस अब विपक्ष के नेता हैं। अघाडी सरकार की अंर्तकलह से पतन की भविष्यवाणी कर रहे हैं। अगर भाजपा और शिवसेना के बीच गहरे आंतरिक संघर्षों के बाद सरकार चली तो अब कैसे गिर सकती है। 

उन्होंने कहा- फडणवीस ने हाल ही में एक ऑनलाइन से मीडिया बातचीत में कहा कि उनका एमवीए सरकार को अस्थिर करने का कोई इरादा नहीं था। यह अपने आप ही ढह जाएगी। उन्होंने कहा, फडणवीस का मतलब यह है कि तीनों सहयोगियों के बीच कलह पैदा करने और विधायकों को तोड़ने के सभी प्रयास विफल हो गए हैं। अब विपक्ष को उम्मीद है कि सहयोगी दलों के बीच कुछ होगा और सरकार टूट जाएगी।

Categories
sports

लॉकडाउन में छूट पर अगले 1-2 दिन में फैसला, फिर एक बार सीएम से मिले शरद पवार, ऑक्सीजन की कमी से 2 घंटे में 7 की मौत का दावा


  • शनिवार को सामने आए कुल 2,940 नए रोगियों में से 1,510 अकेले मुंबई से सामने आये हैं
  • महाराष्ट्र में अब तक 28,081 मरीज वायरस के संक्रमण से स्वस्थ चुके हैं
  • 99 और रोगियों की बीमारी के कारण मृत्यु हो गई, मृतकों की संख्या 2,197 तक पहुंच गई

दैनिक भास्कर

May 31, 2020, 11:04 AM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में रविवार सुबह तक कोरोनावायरस संक्रमण के 2,940 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में कुल केस की संख्या 65,168 तक पहुंच गई। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि 99 और रोगियों की बीमारी के कारण मृत्यु हो गई, जिससे राज्य में मृतकों की संख्या 2,197 तक पहुंच गई। दिनभर में 1,084 मरीज ठीक हुए और उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई। महाराष्ट्र में अब तक 28,081 मरीज वायरस के संक्रमण से स्वस्थ चुके हैं। विभाग ने बताया कि राज्य में 34,890 मरीजों का इलाज चल रहा है। शनिवार को हुई 99 मौतों में से 54 अकेले मुंबई में हुई हैं। शनिवार को सामने आए कुल 2,940 नए रोगियों में से 1,510 अकेले मुंबई से सामने आये हैं।

मुंबई में छूट पर अगले एक दो दिन में फैसला
मुंबई में दुकानें और प्राइवेट ऑफिस खोलने के बारे में अगले दो दिनों में फैसला किया जा सकता है। केंद्र सरकार के फैसले के बाद राज्य सरकार और बीएमसी छूट का ऐलान करेंगी। ई-कॉमर्स कंपनियों को सभी सामान की बिक्री की छूट देने के बाद रिटेल दुकानदार भी दुकानें खोलने की इजाजत मांग रहे हैं। 

मानसून से पहले मुंबई में बीच किनारे से नाव को हटाने के लिए क्रेन का इस्तेमाल करते कुछ मछुआरे, लॉकडाउन फेज-5 में इन्हें भी अपने कारोबार को शुरू करने की अनुमति मिल सकती है।

ऑक्सीजन लेवल कम होने से दो घंटे में 7 मरीजों की मौत!
जोगेश्वरी अस्पताल में शनिवार को महज 2 घंटे के अंदर कोरोना के 7 मरीजों की मौत हो गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक, सभी मरीजों की मौत ऑक्सिजन लेवल कम होने से हुई है. यहां पिछले एक हफ्ते में हॉस्पिटल की लापरवाही से 12 मरीजों की जान जा चुकी है। कहा जा रहा है कि यहां सीनियर डॉक्टरों की भारी कमी है और इसी वजह से यहां कोरोना के मरीजों की देखभाल ठीक तरीके से नहीं हो रही है। अंग्रेजी अखबार ‘मुंबई मिरर’ के मुताबिक, ये घटना शनिवार की है। नाम न बताने की शर्त पर एक नर्स ने कहा, ‘ऐसा मंजर हमने अपने करियर में कभी नहीं देखा। सिर्फ डेढ़ घंटे के दौरान 7 मरीजों की मौत हो गई। इंडिकेटर में दिख रहा था कि ऑक्सिजन का लेवल कम हो गया है। मरीजों को सांस लेने में दिक्कत हो रही थी, वो हांफ रहे थे. जब तक हमलोग कुछ करते उन सबकी मौत हो गई।’ 

लॉकडाउन के बीच मुंबई से उत्तर प्रदेश के लिए जा रहे प्रवासी मजदूरों की भीड़। इस दौरान ज्यादातर सोशल डिस्टेंसिंग के नियम तोड़ते हुए नजर आए।

हॉस्पिटल का ऑक्सीजन की कमी से इनकार
रिपोर्ट के मुताबिक, मरीजों की गंभीर हालत देखकर नर्सों ने तुरंत डॉक्टर को जानकारी दी। लेकिन जब तक आईसीयू में टेक्नीशियन की मदद से ऑक्सिजन लेवल को ठीक किया जाता, मरीजों ने दम तोड़ दिया। इसके बाद मेडिकल सुपरिन्टेन्डेन्ट डॉक्टर माने ने सुबह साढ़े 4 बजे इमरजेंसी मीटिंग बुलाई। हालांकि, डॉक्टर ने इस बात से इनकार किया कि मरीजों की मौत ऑक्सिजन लेवल कम होने से हुई। एक नर्स ने कहा कि यहां कुछ सीनियर डॉक्टरों की कमी है।

महाराष्ट्र के जालना में तीन दिन के कर्फ्यू का आज अंतिम दिन है। मेडिकल और किराना की दुकानें छोड़कर आज यहां सब कुछ बंद है।

पिछले एक महीने में चौथी बार मिले शरद पवार और सीएम ठाकरे
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने शनिवार रात बैठक की। यह मुलाकात केंद्र द्वारा निरूद्ध क्षेत्रों में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाने की घोषणा करने के कुछ घंटों बाद हुई। दोनों नेताओं के बीच हाल के हफ्तों में हुई यह चौथी बैठक है, जो मुख्यमंत्री के आधिकारिक निवास ‘वर्षा’ में हुई। लॉकडाउन का मौजूदा चरण रविवार को समाप्त हो रहा है। पवार चरणबद्ध तरीके से आर्थिक गतिविधियों को फिर से शुरू करने और राज्य के भीतर सड़क परिवहन को फिर से शुरू करने पर जोर देते रहे हैं।

श्रमिक स्पेशल ट्रेन से मुंबई से बिहार पहुंचे प्रवासी मजदूर बसों में बैठने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के नियम तोड़ते नजर आए।

संक्रमण फैलने का खतरा न हो, तभी परीक्षा कराएं: सीएम
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ बात की और कहा कि यह सुनिश्चित करते हुए परीक्षाएं आयोजित की जानी चाहिए कि इससे कोरोना वायरस का प्रसार नहीं होगा। एक आधिकारिक बयान में मुख्यमंत्री के हवाले से कहा गया है कि यह स्पष्ट हो रहा है कि जुलाई में परीक्षाएं नहीं हो सकती हैं, लेकिन इस संबंध में अनिश्चितता समाप्त होनी चाहिए और सभी विकल्पों का पता लगाया जाना चाहिए।

मुंबई से बिहार के दानापुर स्टेशन पर पहुंचे हजारों प्रवासी मजदूर पैदल रेलवे लाइन को क्रॉस करते हुए।

चातुर्मास से पहले जैन साधुओं को यात्रा की अनुमति मिली 
जुलाई में शुरू होने जा रहे जैन समाज के चातुर्मास से पहले जैन साधु-साध्वियों को प्रवास (यात्रा) करने की अनुमति राज्य सरकार ने दे दी है। सरकार के डिजास्टर मैनेजमेंट विभाग ने शनिवार को जारी एक आदेश में यात्रा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने, एक साथ पांच से ज्यादा लोगों के यात्रा न करने, चातुर्मास के दौरान जैन मुनि, साधु-साध्वियों के चातुर्मास व्यतीत करने के स्थान पर भीड़ जमा न होने देने और सुरक्षा मानकों का पालन करने की शर्तों के साथ यह अनुमति दी है। तमाम जैन मुनि, संत, साधु-साध्वी चातुर्मास से पहले अपने निर्धारित स्थान पर पहुंचते हैं और अगले चार महीने तक फिर कोई प्रवास नहीं करते।

श्रमिक स्पेशल ट्रेन पकड़ने का इंतजार कर रहे प्रवासी मजदूरों को मुंबई ट्रैफिक विभाग की ओर से फलों का वितरण किया गया। 

वाशी में तैयार हुआ 1200 बेड का अस्थाई हॉस्पिटल
वाशी स्थित सिडको एग्जिबिशन सेंटर में बनाए जा रहे कोविड-19 तात्कालिक अस्पताल का काम लगभग पूरा हो चुका है। इस अस्पताल को अगले तीन से चार दिनों में खोल दिया जाएगा। इस विशेष कोविड अस्पताल में कुल 1200 बिस्तरों की व्यवस्था होगी, जिसमें से 500 बिस्तर ऑक्सीजन सुविधा से युक्त होंगे।

शनिवार को बीएमसी मुख्यालय के बाहर भाजपा विधायक राहुल नार्वेकर ने पार्टी के अन्य कार्यकर्ताओं के साथ प्रदर्शन किया। विधायक ने आरोप लगाया कि बीएमसी की ढिलाई के कारण मुंबई, वुहान बनने की ओर बढ़ रहा है।

कल्याण में कम्युनिटी किचन आज से बंद 
लॉकडाउन के दौरान बेघर मजदूरों के लिए और गरीबों के लिए कल्याण डोंबिवली महानगरपालिका (बीएमसी) द्वारा शुरू की गई कम्युनिटी किचन 31 मई से बंद कर दी जाएगी। लगभग दो महीने पहले शुरू की गई कम्युनिटी किचन से प्रतिदिन 84 हजार पैकेट बांटे जाते थे। राज्य शासन का कहना है कि अब जब सभी को राशन दिया जा रहा है तो कम्युनिटी किचन की खास उपयोगिता नहीं रह गई है। कल्याण-डोंबिवली में कल्याण, डोंबिवली, टिटवाळा, आंबिवली, मोहना सहित 8 जगहों पर कम्युनिटी किचन संचालित की रही थी।

भारत मर्चेंट्स चेम्बर की ओर से पूर्व मंत्री निलेश वैश्य व समिति सदस्य आनंद सुरेका ‘अस्मिता’ ने बोरिवली पूर्व में दिव्यांग विद्यार्थियों को एक महीने का अनाज, मसाला, होमियोपैथी दवा व भाप लेने की मशीन वितरित की।
Categories
sports

62 हजार संक्रमितों में से 43.3% ठीक होकर घर गए, कोरोना की लड़ाई से जुड़े कर्मचारियों को 50 लाख का बीमा


  • पिछले 24 घंटो में राज्य में 116 लोगो की मौत हुई है। कुल मौत का आकड़ा 2098 हो गया है
  • यहां एक दिन में 8,381 ज्यादा मरीजों को अस्पताल से छुट्टी मिली है,अब तक 26997 मरीज ठीक हुए हैं

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 10:30 AM IST

मुंबई. पिछले 24 घंटों में राज्य के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है। यहां एक दिन में 8,381 ज्यादा मरीजों को अस्पताल से छुट्टी मिली है। देश के किसी भी राज्य में यह एक दिन में ठीक हुए मरीजों की सबसे ज्यादा संख्या है। अब तक 26997 मरीज ठीक होकर घर गए हैं। यानि अब तक कुल 43.3% संक्रमित मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। वहीं 24 घंटों में कोरोना के 2,682 नए मरीज मिले हैं। कुल पॉजिटिव मरीजों का आकड़ा 62228 पहुंच गया है। वहीं पिछले 24 घंटो में राज्य में 116 लोगो की मौत हुई है। कुल मौत का आकड़ा 2098 हो गया है। 

मृतकों में मुंबई डिविजन से 58, नासिक डिविजन से 32, पुणे डिविजन से 16, कोल्हापुर डिविजन से 3, औरंगाबाद डिविजन से 5 और अकोला डिविजन से 2 लोगों की मौत हुई है। मृतकों में 77 पुरुष और 39 महिअलायें शामिल हैं, इनमें से 48 की उम्र 60 साल से अधिक, 55 की उम्र 40 से 60 के बीच और 13 की उम्र 40 साल से कम है। इनमें से 65%मरीजों में डायबिटीज, ह्रदय रोग और हाइपरटेंशन जैसी समस्या थी।

महाराष्ट्र में 16 दिन में डबल हो रहे केस
महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मरीजों की डबलिंग रेट अब 15.7 दिन है। पिछले हफ्ते कोरोना मरीजों की डबलिंग रेट 11 दिन थी। पिछले हफ्ते की तुलना में इसमें सुधार देखा गया है। वहीं महाराष्ट्र में रिकवरी रेट 43.38 प्रतिशत है। मृत्यु दर 3.37 फीसदी है।

श्रमिक स्पेशल ट्रेन पकड़ने के लिए मुंबई के धारावी से रेलवे स्टेशन जा रहे पिता पुत्र। एक आंकड़े के मुताबिक, अबतक 17 लाख लोग मुंबई से पलायन कर चुके हैं।

मुंबई में कोरोना का ग्रोथ रेट 4.93%
बीएमसी ने 22 मई से 28 मई के बीच एक सप्ताह का मुंबई में कोरोना के डेली ग्रोथ रेट का आंकड़ा जारी किया गया है, जिसके मुताबिक इस दौरान कोरोना का ग्रोथ रेट गिरकर 4.93 प्रतिशत रह गया है, जबकि इसके पहले बीएमसी द्वारा जारी ग्रोथ रेट में 21 से 27 मई के बीच मुंबई में कोरोना का ग्रोथ रेट 5.17 प्रतिशत था। गौरतलब है कि मार्च एवं अप्रैल में जहां कोरोना के मामले सबसे कम थे, मई के आखिरी सप्ताह तक वहां सबसे तेजी से कोरोना के मामले बढ़े हैं।

20 दिन में डबल हो रहे हैं कोरोना के केस
अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी ने कहा कि मुंबई में कोरोना का डबलिंग रेट करीब 20 दिन हो गया है। कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित धारावी में कोरोना का डबलिंग रेट 19 दिन है, जबकि वरली में यह 21 दिन तक पहुंच गया है। मुंबई के 11 हॉटस्पॉट में 1500 से अधिक मरीज हैं, इसे कम करने की कोशिश की जा रही है।

मुंबई का हाजी अली ट्रस्ट अपने घरों के लिए जा रही प्रवासी मजदूरों को हर दिन फेस मास्क और सैनिटाइजर दे रहा है।

धारावी में सबसे कम ग्रोथ रेट
कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित धारावी, वरली में कोरोना का ग्रोथ रेट सबसे कम है। वरली में सबसे कम 3.1 प्रतिशत ग्रोथ रेट है, तो धारावी में ग्रोथ रेट 3.6 प्रतिशत है। इसी तरह भायखला नें कोरोना की डेली ग्रोथ रेट 3.8 प्रतिशत, माटुंगा, सायन कोलीवाडा में 3.5 प्रतिशत, गोवंडी में 3.9 प्रतिशत एवं अंधेरी पश्चिम में 3.8 प्रतिशत है।

कोरोना की लड़ाई में जुड़े कर्मचारियों को मिलेगा 50 लाख का बीमा
कोरोना की रोकथाम और उपचार करने वाले संबंधित लोगों को 50 लाख रुपये का बीमा सुरक्षा कवच दिया है। इस संबंध में शुक्रवार को राज्य सरकार के वित्त विभाग ने शासनादेश जारी किया। फिलहाल सरकार की यह योजना 30 सिंतबर 2020 तक लागू रहेगी। शुक्रवार को जारी परिपत्रक के अनुसार, सेवा के दौरान संबंधित कर्मचारियों की कोरोना से मौत होने पर उनके परिजनों को 50 लाख रुपये की सानुग्रह अनुदान राशि दी जाएगी। यह योजना सभी नगर निकायों और राज्य शासकीय सार्वजनिक उपक्रमों में भी लागू की जाएगी।

मुंबई में कई जगहों पर कोरोना को लेकर एक्स-रे टेस्टिंग शुरू हुई है। इसी कड़ी में कालवा इलाके में एक पुलिसवाले का एक्सरे करता हुआ एक स्वास्थ्यकर्मी।

अबतक 25 पुलिसवालों की हुई मौत
राज्य में करीब 2,211 पुलिसकर्मी अभी तक कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और उनमें से 25 संक्रमण से अपनी जान गंवा चुके हैं। यह जानकारी एक अधिकारी ने शुक्रवार को दी। अधिकारी ने कहा कि संक्रमण से जान गंवाने वाले कुल पुलिसकर्मियों में से 16 मुंबई से, तीन अन्य नासिक ग्रामीण से, दो पुणे और एक-एक सोलापुर शहर, सोलापुर ग्रामीण, ठाणे और मुंबई एटीएस से हैं।

1962 कांस्टेबल रैंक के पुलिसकर्मी
पुलिस अधिकारी ने कहा कि इन कोविड-19 रोगियों में से 249 पुलिस अधिकारी जबकि 1,962 कॉन्स्टेबल रैंक के कर्मी हैं। उन्होंने कहा कि इन सभी का अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। अधिकारी ने कहा कि अभी तक इनमें से 970 ठीक हो चुके हैं। उन्होंने कहा, ‘कम से कम 116 कर्मी पिछले 24 घंटे में संक्रमित पाए गए। इस पूरे हफ्ते हर दिन 100 से अधिक पुलिसकर्मियों का लगातार संक्रमित पाया जाना जारी है।’

मुंबई के सीएसएमटी स्टेशन के बाहर जमा लोगों को कुछ सामाजिक संगठन के लोगों की ओर से खाना, मास्क और सैनिटाइजर दिया। 

राज्य में स्थानीय लोगों के लिए पैदा हुए 10 लाख रोजगार के अवसर
महाराष्ट्र में लॉकडाउन की वजह से लाखों कामगारों के पलायन के बाद स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के नए द्वार खुल गए हैं। एक अनुमान के मुताबिक महाराष्ट्र में करीब 10 लाख नए रोजगार के अवसर पैदा हुए हैं। उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने उद्योगपतियों से इन नए रोजगार में भूमिपुत्रों को प्रधानता देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने यह बात विभिन्न उद्योगकर्मियों के साथ आयोजित एक वेबिनार में कही। देसाई ने कहा लॉकडाउन के बाद यहां रहने वाले उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, ओडिशा, बंगाल व तेलंगाना समेत कई राज्यों के मजदूर यहां से पलायन कर चुके हैं। ऐसे में फैक्ट्री को एक बार फिर से शुरू करने के लिए भारी संख्या में कामगारों की जरुरत पड़ेगी। ऐसे में स्थानीय युवाओं के लिए नौकरी हासिल करने का यह अच्छा मौका साबित हो सकता है।    

पश्चिम रेलवे ने चलाई 1162 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें
लॉकडाउन में फंसे 17 लाख 41 हजार 886 मजदूरों को पश्चिम रेलवे ने अपनी 1162 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के माध्यम से उनके गृह राज्यों में पहुंचाया है। इन ट्रेनों में प्रवासी मजदूरों के लिए सबसे अधिक ट्रेनें यूपी-बिहार के लिए चलाई गई हैं। मुंबई और उपनगरीय स्टेशनों से 150 से अधिक्त श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन हुआ है। 

मुंबई के कुंभारवाड़ा स्लम इलाके में संक्रमण के मामले बढ़ने के बाद बड़े पैमाने पर स्क्रीनिंग शुरू हुई है।

हर जिले में लैब व्यावहारिक नहीं: सरकार
संक्रमितों की बढ़ती संख्या के बीच राज्य सरकार ने बॉम्बे हाईकोर्ट को बताया कि राज्य के हर जिले में कोविड-19 लैब बनाना व्यावहारिक रूप से संभव नहीं है। चीफ जस्टिस दीपांकर दत्ता और जस्टिस केके तातेड की पीठ के समक्ष हुई एक जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने बताया कि कोरोना की जांच के लिए राज्य में 72 केंद्र हैं। इनमें 42 लैब सरकारी अस्पतालों में हैं। रनागिरी निवासी एक व्यक्ति ने याचिका में अनुरोध किया है कि अदालत राज्य सरकार को हर जिले में लैब खोलने का आदेश दे।

ठाणे में भी 1000 बेड का हॉस्पिटल
ठाणे के मुंब्रा स्थित मौलाना अब्दुल कलाम आजाद स्टेडियम में जल्द ही एक हजार बेड्स की सुविधा वाला कोविड-19 अस्पताल बनेगा। यहां 500 बेड्स ऑक्सिजन की सुविधा वाले तथा 100 बेड आईसीसीयू यूनिट के होंगे। इसका फायदा कलवा, मुंब्रा, दिवा और शिल-डायघर के लोगों को मिलेगा।

मामलों में आई कमी के बावजूद अभी भी धारावी में लगातार स्क्रीनिंग का काम जारी है। यहां अब तक 17सौ से ज्यादा मामले हैं। 

फायर ब्रिगेड के 40 जवान कोरोना संक्रमित

हॉस्पिटल, सरकारी कार्यालय व कोरोना मरीज मिलने पर उठा परिसर को सेनेटाइज करने वाले फायर ब्रिगेड के कर्मचारी भी कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। मुंबई फायर ब्रिगेड के 40 जवान कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें से 3 की मौत हो चुकी है। मुंबई फायर ब्रिगेड चीफ प्रभात रहंगदले ने बताया कि दमकल विभाग के 40 जवान कोरोना से संक्रमित हैं, जिनमें से 4 जवान आईसीयू में थे, जिसमें से एक की शुक्रवार को मौत हो गई। बाकी जवानों की स्थिति ठीक है। हम कोशिश कर रहे हैं कि हमारे कम से कम जवान संक्रमित हों। इस लिए सभी को पीपीई किट उपलब्ध कराई जा रही है।

886 राशन की दुकानों की चेकिंग, 80 लोगों पर केस दर्ज
लॉकडाउन के दौरान राशन की दुकानों पर लोगों की भीड़ बढ़ी है। इस कारण से कुछ दुकानदारों द्वारा गड़बड़ी किए जाने की भी शिकायतें आती रही हैं। उसी पृष्ठभूमि में वैध मापन शास्त्र यंत्रणा विभाग के अडिशनल डीजी अमिताभ गुप्ता ने पूरे राज्य में 886 दुकानों की जांच करवाई, जहां सरकार द्वारा भेजा अनाज बेचा जाता है। उसी में पूरे राज्य में 25 मई तक कुल 80 केस दर्ज किए गए। 

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक व्यक्ति की कोरोना जांच के लिए नमूना लेता हुआ स्वास्थ्यकर्मी।
Categories
sports

सातारा में ट्रूनेट तकनीक से कोरोना जांच; राज्य में 2 हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी संक्रमित, अब राजभवन आने वालों का फूलों से स्वागत नहीं होगा


  • राजभवन में हर साल 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) पर होने वाले कार्यक्रम को भी इस साल रद्द करने को कहा गया
  • धारावी में कोरोना संक्रमण के 36 नए मामले आए, इसके साथ क्षेत्र में संक्रमितों की संख्या 1,675 हो गई

दैनिक भास्कर

May 29, 2020, 11:22 AM IST

मुंबई. राज्य में 24 घंटे के अंदर कोरोना के 2,598 नए मामले सामने आए। इनमें से 1,438 केस मुंबई में मिले। महाराष्ट्र में कुल मरीजों की संख्या 59,546 हो गई। जबकि मुंबई में 35,273 संक्रमित हैं। कोरोना से 85 मौत की पुष्टि हुई। राज्य में अब तक 1,982 मौतें हो चुकी हैं। कोरोना के प्रभाव को कम करने के लिए 6,12,745 लोगों को घर में और 35,122 लोगों को अन्य जगहों पर क्वारैंटाइन किया गया है। राज्य में अब तक कुल 4,19,417 लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है।

सातारा में होगी ट्रूनेट तकनीक से जांच
इस बीच सातारा डिस्ट्रिक्ट सिविल हॉस्पिटल कोरोना मरीजों की जांच के लिए ट्रूनेट तकनीक का इस्तेमाल करने जा रहा है। ट्रूनेट टीबी परीक्षण के लिए विकसित की गई एक तकनीक का नाम है, जो एक घंटे में रिजल्ट देती है। इससे कोरोना जांच का परिणाम भी एक से दो घंटे में मिल सकेगा। इस तकनीक को गोवा के मोल्बियो डायग्नोस्टिक्स द्वारा विकसित किया गया है।

तस्वीर मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस स्टेशन के बाहर की है। यह बच्ची श्रमिक स्पेशल ट्रेन से घर गई। इस दौरान बच्ची ने खिलौना को नहीं छोड़ा। पूरे समय अपने हाथ में ही खिलौना लिए रही।

2,095 पुलिसवाले संक्रमित, अब तक 22 की मौत
महाराष्ट्र में कोरोना ने अब तक 22 पुलिसकर्मियों की जान ले ली। पिछले 24 घंटे में 130 से अधिक पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए। इसके साथ संक्रमित पुलिसकर्मियों की कुल संख्या बढ़कर 2,095 हो गई। संक्रमित पुलिसकर्मियों में से 236 अधिकारी हैं जबकि 1,859 अन्य कांस्टेबल रैंक के कर्मचारी हैं। सभी का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। अभी तक 75 अधिकारी और 822 कांस्टेबल रैंक के कर्मी संक्रमण से ठीक हो चुके हैं।

राज्य में 18 हजार से ज्यादा लोग हुए ठीक 
पिछले 24 घंटों में मुंबई में 763 कोरोना संक्रमित के ठीक होने पर घर भेजा गया है। बीएमसी के अनुसार, अब तक कुल 9,817 लोग कोरोना मुक्त हो चुके हैं। राज्य में कुल 18,616 मरीज कोरोना को मात देने में सफल हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, राज्य में रिकवरी रेट 31.36 प्रतिशत है, जबकि मृत्यु दर 3.32 प्रतिशत है।

धारावी में 1675 मामले
मुंबई की झुग्गी बस्ती धारावी में गुरुवार को कोरोना के 36 नए मामले मिले। इसके साथ संक्रमितों की संख्या 1,675 हो गई। पिछले 24 घंटे में वायरस से मौत का कोई मामला सामने नहीं आया। नए मामलों में 5 नगर निगम की एक चॉल में पाए गए। एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्तियों में से एक धारावी में 6.5 लाख से अधिक लोग 2.5 वर्ग किमी के क्षेत्र में रहते हैं।

मुंबई के छत्रपति शिवाजी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्‌डे पर फेस शील्ड और मास्क लगाकर बैठे कुछ यात्री। यहां दो सीटों के बीच एक गैप रखा गया है।

खर्च बचाने के लिए अब राजभवन में आने वालों को फूल नहीं दिए जाएंगे
कोरोना संकट को देखते हुए राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राजभवन के खर्च में कटौती के निर्देश दिए। यहां आने वाले मेहमानों के स्वागत में बुके देने पर होने वाला खर्च बंद कर दिया गया। गेस्ट रूम में फूलदान का खर्च भी बंद किया गया। राज्यपाल ने पुणे के राजभवन में हर साल 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) पर होने वाले कार्यक्रम को भी इस साल रद्द करने को कहा है। राज्यपाल अपने एक महीने का वेतन कोविड-19 के लिए पीएम केयर्स फंड में पहले ही दे चुके हैं। राज्यपाल एक साल तक अपने वेतन का 30 प्रतिशत भी इस कोष में देने की घोषणा कर चुके हैं।

मुंबई के 6 वार्ड में सबसे ज्यादा मरीज
मुंबई के 24 वार्ड में से 6 वार्ड में कोरोना संक्रमण के 14 हजार से ज्यादा मामले हैं, जबकि शहर में संक्रमितों की कुल संख्या 33 हजार से अधिक है। बृहन्मुंबई नगर निगम ने यह जानकारी दी। बीएमसी द्वारा वार्ड वार एकत्रित आंकड़ों के अनुसार, इन 6 वार्डों में से प्रत्येक में 2000 से अधिक कोरोना संक्रमण के मामले हैं। इसके अनुसार जी- उत्तर वार्ड इस सूची में शीर्ष पर है। यहां कुल 2,728 कोरोना संक्रमण के मामले हैं। इस वार्ड में धारावी, दादर और माहिम जैसे इलाके हैं।

किस वार्ड में कितने मरीज

वार्ड संक्रमित मरीज
जी- उत्तर 2728
2438
एफ-उत्तर 2377
एल 2321
एच-पूर्व 2094
के 2094
मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस स्टेशन के बाहर श्रमिक स्पेशल ट्रेन पकड़ने पहुंचे कुछ प्रवासी मजदूर।

लॉकडाउन उल्लंघन में 23 हजार लोग गिरफ्तार
पुलिसकर्मियों पर हमले की 254 घटनाएं हुईं। इस संबंध में अभी तक 833 लोग गिरफ्तार किए गए। लॉकडाउन में असामाजिक तत्वों ने 40 से ज्यादा बार स्वास्थ्य विभाग के स्टाफ पर भी हमले किया। लॉकडाउन उल्लंघन में 1,16,670 मामले दर्ज किए गए। इनमें 23,314 लोगों को गिरफ्तार किया गया। क्वारैंटाइन का पालन नहीं करने वाले 705 लोगों पर केस दर्ज किया गया। इस आंकड़े में मुंबई शामिल नहीं है। पुलिस द्वारा 5.75 करोड़ रुपए का जुर्माना वसूला गया है।

ठाणे में दो पार्षद कोरोना से संक्रमित
नगर निगम के दो पार्षदों समेत अब तक 393 लोग कोविड-19 से संक्रमित पाए गए। पिछले 24 घंटे में जिले में 17 और लोगों की मौत हुई। इसके साथ कोविड-19 से जान गंवाने वालों की संख्या 207 हो गई। एक अधिकारी ने बताया कि केवल ठाणे शहर से ही 156 नए मामले सामने आए। इनमें ठाणे नगर निगम के दो पार्षद शामिल हैं।

कराड में एक श्मशान घाट को सैनिटाइज्ड करता स्वास्थ्यकर्मी।

मुंबई यूनिवर्सिटी की रिपोर्ट- राज्य में स्थिति चिंताजनक नहीं
मुंबई यूनिवर्सिटी के रिसर्च रिपोर्ट के मुताबिक, महाराष्ट्र में कोरोना की स्थिति चिंताजनक नहीं है। पिछले सप्ताह महाराष्ट्र में एक दिन में करीब 3000 मामले आ रहे थे, जो पिछले 4 दिनों से 2000 से 2500 बीच रहे हैं। महाराष्ट्र के कोरोना के ग्राफ को ऊपर की बजाए स्थिर रख रहा है और आने वाले कुछ दिनों में नीचे भी ले आएगा। मुंबई में भले ही मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है लेकिन उनमें कोरोना से रिकवरी रेट 32% तक पहुंच गई है। महाराष्ट्र में कोरोना की ग्रोथ रेट की बात की जाए तो यह 6% ही है। वहीं, महाराष्ट्र का मृत्यु दर अभी 3.33 % है।

लॉकडाउन के दौरान जान गंवाने वाले पुलिसवालों को श्रद्धांजलि देने के लिए मुंबई के गुरुकुल आर्ट स्कूल टीचर ने यह चित्र बनाया है।

महाराष्ट्र से अब रोजाना 50 फ्लाइट का मूवमेंट हो रहा
मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट (सीएसएमआईए) से पिछले 2 दिनों से 50 फ्लाइट का मूवमेंट हो रहा है। इसमें 25 फ्लाइट डिपार्चर और 25 फ्लाइट एरायवल हो रही हैं। 5 एयरलाइंस कंपनियों ने गुरुवार को देश के 16 सेक्टर को मुंबई एयरपोर्ट से कनेक्ट किया। मुंबई के एयरपोर्ट के परिचालन की जिम्मेदारी संभालने वाली जीवीके मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लि. (एमआईएएल) ने बताया कि गुरुवार की सुबह 6 बजे एयर एशिया इंडिया की पहली फ्लाइट रांची के लिए डिपार्चर हुई जबकि सुबह 8.10 बजे इंडिगो की पहली फ्लाइट लखनऊ से एरायवल हुई। इस तरह दिनभर में कुल 5,583 पैसेंजर की मूवमेंट मुंबई एयरपोर्ट पर हुआ। जिसमें 4,255 पैसेंजर डिपार्चर हुए जबकि 1,328 यात्री एरायवल हुए। 25 मई से अब तक मुंबई एयरपोर्ट से कुल 19,652 पैसेंजर का मूवमेंट हुआ।

मुंबई का छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का दृश्य। यहां से हर दिन 50 प्लेन का आवागमन हो रहा है।

लॉकडाउन में बाहर नहीं जाने देने पर बच्चे ने सुसाइड किया
मुंबई से सटे मीरा-भायंदर इलाके में लॉकडाउन में बाहर घूमने और खेलने का मौका न मिलने के कारण मीरा रोड में 12 साल के एक लड़के ने खुदकुशी कर ली। बच्चा एक स्कूल में छठी कक्षा का विद्यार्थी था। वह 25 मई को ईद मनाने के बाद रात में डेढ़ बजे सोया। उसके पिता बताते हैं कि अगले दिन सुबह 6 बजे तक वह कमरे में सोया था। सुबह 7 बजे उसके कमरे में गए, तो उसे पंखे से लटका देखा। 

रेल यात्रा को लेकर एडवाइजरी जारी
रेलवे की ओर से एक एडवाइजरी जारी की गई है। मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी शिवाजी सुतार ने बताया कि पहले से किसी बीमारी (उच्च रक्तचाप, मधुमेह, हृदय रोग, कर्करोग, लो इम्यूनिटी) से ग्रसित व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं, 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे और 65 वर्ष से ज्यादा उम्र के बुजुर्ग रेल यात्रा नहीं करें।

Categories
sports

देश के 29 राज्यों में कुल मिलाकर 33 हजार केस, जबकि अकेले मुंबई में ही 34 हजार मामले; सिर्फ मुंबई में ही जितनी मौत हुई, उतनी 30 राज्यों में भी नहीं हुई


  • महाराष्ट्र के 36 जिलों में कोरोना के 56 हजार 948 मामले, मुंबई को छोड़ बाकी 35 जिलों में कुल 22 हजार 930 ही मामले
  • मुंबई के कोविड अस्पतालों में 6 हजार 420 आइसोलेशन, 3 हजार 309 ऑक्सीजन सपोर्ट, 865 आईसीयू और 353 वेंटिलेटर बेड हैं
  • कोविड अस्पतालों के अलावा मुंबई में 1,223 बेड वाले 25 कोविड हेल्थ सेंटर और 46 हजार 649 बेड वाले 463 कोविड केयर सेंटर हैं

दैनिक भास्कर

May 29, 2020, 05:54 AM IST

नई दिल्ली. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई इन दिनों कोरोना की सबसे बुरी मार झेल रही है। 27 मई तक यहां कोरोना के 34 हजार 18 मामले आ चुके हैं। जबकि, पूरे महाराष्ट्र में 56 हजार 948 मरीज मिले हैं। यानी, पूरे महाराष्ट्र में जितने केस हैं, उसका 60% अकेले मुंबई में हैं। महाराष्ट्र के 36 में से 35 जिलों में 22 हजार 930 मामले ही हैं। 

इतना ही नहीं, देश के 29 राज्यों को भी मिलाकर उतने मरीज नहीं होते, जितने मरीज अकेले मुंबई में हैं। 29 राज्यों में 33 हजार 92 मामले मिल चुके हैं। जबकि, देश के 30 राज्यों में कुल मिलाकर 1 हजार 87 मौतें हुई हैं और सिर्फ मुंबई में 1 हजार 97 मौतें।

27 दिन में देश में मामले 371% बढ़े, लेकिन मुंबई में 382% बढ़ोतरी
मई में कोरोना की रफ्तार काफी बढ़ गई। 30 अप्रैल तक देश में 33 हजार 610 मामले थे। लेकिन, 27 मई तक मामले 371% बढ़कर 1 लाख 58 हजार 333 हो गए। 

जबकि, मुंबई में मई के महीने में कोरोना की रफ्तार देश के मुकाबले 10% से ज्यादा रही। मुंबई में 30 अप्रैल तक 7 हजार 61 मामले थे। जबकि, 27 मई तक 34 हजार 18 मामले हो गए। यानी, मुंबई में 30 अप्रैल के बाद मामले 382% बढ़ गए। वहीं, महाराष्ट्र में मरीजों की संख्या में 442% से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई।

मुंबई में कितने कोविड अस्पताल हैं?
स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना मरीजों की हेल्थ फैसिलिटी को तीन कैटेगरी में बांटा है। 

  • पहली कैटेगरी में डेडिकेटेड कोविड अस्पताल हैं, जहां गंभीर मरीजों का इलाज होगा। 
  • दूसरी कैटेगरी कोविड हेल्थ सेंटर है, जहां कम गंभीर मरीजों को भर्ती किया जाएगा। 
  • तीसरी कैटेगरी में कोविड केयर सेंटर है, जहां बिना लक्षण वाले या कम लक्षण मरीजों को रखा जाएगा।

महाराष्ट्र के हेल्थ डिपार्टमेंट के मुताबिक, राज्य में कुल 276 कोविड अस्पताल, 453 कोविड हेल्थ सेंटर और 1,643 कोविड केयर सेंटर हैं। इनमें से मुंबई में 41 कोविड अस्पताल, 25 कोविड हेल्थ सेंटर और 463 कोविड केयर सेंटर हैं।

मुंबई के 41 कोविड अस्पतालों में 6 हजार 420 आइसोलेशन बेड हैं, जिनमें से 5 हजार 20 बेड कन्फर्म केस और 1 हजार 400 बेड सस्पेक्टेड केस के लिए हैं।

आइसोलेशन बेड के अलावा 3 हजार 309 ऑक्सीजन सपोर्ट और 865 आईसीयू बेड हैं। 353 वेंटिलेटर हैं।

मुंबई में क्यों कोरोना संक्रमण तेजी से फैला, इसके तीन कारण

  • पहला कारण : मुंबई, दुनिया का सबसे घनी आबादी वाला शहर है। यहां करीब 1.5 करोड़ की आबादी 600 स्क्वायर किमी में रहती है। यहां हर एक किमी के दायरे में 32 हजार से ज्यादा लोग रहते हैं।
  • दूसरा कारण : आर्थिक राजधानी होने की वजह से ऑफिस के काम से विदेशियों का मुंबई आना-जाना लगा रहता है। मुंबई के लोग भी दूसरे देश आते-जाते रहते हैं। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के आंकड़े बताते हैं कि मार्च-अप्रैल में मुंबई एयरपोर्ट पर 4.79 लाख अंतर्राष्ट्रीय और 16.71 लाख घरेलू यात्रियों का मूवमेंट रहा था।
  • तीसरा कारण : मुंबई में कोरोना का पहला मरीज 6 मार्च को मिला। इसके बाद 17 मार्च से यहां आंशिक लॉकडाउन लग गया। लेकिन लोकल ट्रेन और बसें चलती रहीं। सरकार की अपील के बावजूद लोग भीड़भाड़ वाली लोकल ट्रेन और बसों से सफर करते रहे। बाद में 23 मार्च से यहां पूरी तरह लोकल ट्रेन और बसों में रोक लगा दी।
Categories
sports

10 लाख प्रवासियों को घर भेजा गया, नवी मुंबई में शुरू हुई मास स्क्रीनिंग, 14 हजार यात्रियों ने मुंबई एयरपोर्ट से किया सफर


  • महाराष्ट्र राज्य माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के दसवीं के विद्यार्थियों को भूगोल में औसत अंक दिए जाएंगे
  • पूरे राज्य में कुल 2,190 नए मामले सामने आए है, इसे मिलाकर कुल संक्रमित 56,948 हो गए हैं

दैनिक भास्कर

May 28, 2020, 10:53 AM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना के कारण पिछले 24 घंटे में 105 लोगों की जान गई है। इसे मिलाकर गुरुवार तक मृतकों का आंकड़ा 1,897 तक पहुंच गया। मरने वालों में सबसे ज्यादा 1097 मौतें सिर्फ मुंबई में हुईं हैं। मुंबई में कोरोना के 1,044 नए मामले सामने आए हैं। यहां कुल मरीजों की संख्या 33,835 हो गई है। वहीं पूरे राज्य में कुल 2,190 नए मामले सामने आए है। कुल संक्रमित 56,948 हो गए हैं। 24 घंटे के दौरान 964 लोगों को डिस्चार्ज भी किया गया है, इसे जोड़ लें तो राज्य में अब तक 17,918 लोग ठीक हो चुके हैं।

24 घंटे में कहां-कितनी हुई मौतें
बुधवार को मुंबई में सबसे अधिक 32 मौतें हुईं। ठाणे में 16, जलगांव में 10, पुणे में 9, नवी मुंबई व रायगड में 7-7, अकोला में 6, औरंगाबाद में 4, नासिक व सोलापुर में 3-3 और सातारा में 2 मौतें हुईं। अहमदनगर, नागपुर, नांदूरबार, पनवेल और वसई-विरार में 1-1 मरीज की जान गई। पिछले 24 घंटों में मरने वाले 105 मरीजों में 72 पुरुष और 33 महिलाएं थीं। इनमें से 60 मरीजों को पहले से अन्य रोग थे।

मुंबई से गुजरात की ओर जा रहा एक प्रवासी अपने साथ पानी की बोतल का पूरा बॉक्स लेकर निकला है। 

धारावी में 1639 मरीज हुए संक्रमित

बुधवार को मरने वालों में से 50 मरीजों की आयु 60 वर्ष से अधिक, 45 की 40 से 59 से वर्ष और 10 मरीजों की आयु 40 वर्ष से कम थी। मुंबई के सबसे बड़े स्लम इलाके धारावी में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 18 नए मामले आए। यहां मई में एक दिन ये सबसे कम नए मामले हैं। इस इलाके में संक्रमितों की संख्या 1,639 हो गई है।

तकरीबन 10 लाख प्रवासी लोगों को उनके घर भेजा गया 
कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के दौरान महाराष्ट्र से अब तक 696 श्रमिक विशेष ट्रेनों से 9.82 लाख प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में पहुंचाया गया। राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने यह जानकारी दी है। उत्तर प्रदेश के लिए 374 ट्रेनें भेजी गयीं, जबकि बिहार, मध्यप्रदेश, झारखंड, कर्नाटक और ओडिशा के लिए क्रमश: 169, 33,30, छह और 13 ट्रेनों का परिचालन हुआ। राजस्थान, पश्चिम बंगाल और छत्तीसगढ़ के लिए क्रमश: 15, 33 और छह ट्रेनें भेजी गयी। देशमुख ने बताया कि छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस, लोकमान्य तिलक टर्मिनस और पनवेल रेलवे स्टेशनों से क्रमश: 111, 112 और 42 ट्रेनों के जरिए श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में भेजा गया। 

मानसून से पहले बीएमसी ने सड़कों का काम शुरू कर दिया है। कई जगह सड़कों के गड्डे भरे जा रहे हैं।

नवी मुंबई के दो इलाकों में शुरू हुई मास स्क्रीनिंग

कोरोनासंक्रमण को रोकने के लिए नवी मुंबई महानगर पालिका ने कोपरखैरणे व तुर्भे इलाके के पूर्वघोषित कंटेनमेंट जोन में बड़े पैमाने पर स्पेशल मास स्क्रीनिंग शुरू की है। इन दोनों ही क्षेत्रों में बड़ी संख्या में झोपडपट्टी हैं। इनके अलावा, विभिन्न सेक्टरों में बहुत सी चॉल भी मौजूद हैं। इन सब बस्तियों में बहुत घनी आबादी रहती है। इसके चलते पिछले कुछ दिनों में यहां कोरोना के नए मरीज भी बड़ी संख्या में मिल रहे हैं।

दसवीं के भूगोल विषय में मिलेंगे औसत अंक
महाराष्ट्र राज्य माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के दसवीं के विद्यार्थियों को भूगोल में औसत अंक दिए जाएंगे। बुधवार को बोर्ड ने अंकों लेकर महत्वपूर्ण निर्णय ले लिया। राज्य में कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए भूगोल विषय की परीक्षा रद्द कर दी गई थी, फिर लॉकडाउन के चलते नहीं ली जा सकी।

कस्टम ग्राउंड से अपना सामान लेकर अपनी मां के साथ सीएसटीएम स्टेशन की ओर आ रहा एक बच्चा। यहां से ही ज्यादातर लोगों को उनके राज्यों के लिए भेजा जा रहा है।

प्रवासियों के बच्चों की परीक्षा अब उनके जिले में

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की ओर से बताया गया है कि जिन प्रवासियों के बच्चों की दसवीं और बारहवीं की परीक्षा 1 से 15 जुलाई के बीच है और वे दूसरे जिले में शिफ्ट हो गए हैं, वे अब अपने जिले में ही परीक्षा दे सकेंगे। इसको लाकर सीबीएसई ने एक सर्कुलर जारी किया है। विद्यार्थी जिस स्कूल में पढ़ते थे, वहां के संपर्क में रहें, स्कूल ही उन्हें उनके सेंटर की जानकारी देगा।

लिफ्ट में फंसकर महिला की हुई मौत
मुंबई के एमआरए पुलिस के अंतर्गत एक सफाईकर्मी महिला की लिफ्ट में फंसकर जान चली गई। घटना सेंट जॉर्ज अस्पताल की है। महिला का नाम गीता वाघेला है। पुलिस के अनुसार, बुधवार को सुबह साढ़े दस बजे गीता किसी काम से तल मंजिल से ऊपरी मंजिल की ओर जा रही थी। उसी दौरान अचानक उसका पैर लोहे के किसी एंगल में फंस गया और वह बुरी तरह से घायल हो गई। बाद में महिला ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि वह उस लिफ्ट में चढ़ने के बाद बाहर कहीं झांकने लगी थी। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि लिफ्ट के स्पेयर पार्ट्स कमजोर होने की वजह से गीता का भार लिफ्ट सहन नहीं कर सकी और वह हादसे का शिकार हो गई।

मुंबई के सेंट ज़ेवियर कॉलेज में बने बीएमसी के क्वारंटाइन सेंटर में कार्डबोर्ड के बेड लगाए गए हैं। इन बेड पर 300 किलो से ज्यादा का वजन रखा जा सकता है।

एनएससीआई में शुरू होंगे 40 आईसीयू बेड

बीएमसी ने वरली स्थित नेशनल स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स ऑफ इंडिया ( एनएससीआई) में बने कोविड केयर सेंटर में 40 आईसीयू बेड्स एवं महालक्ष्मी रेस कोर्स में बन रहे हॉस्पिटल को 30 मई से शुरू करने की योजना है। बीएमसी कमिश्नर आईएस चहल ने बताया कि एनएससीआई में 500 बेड्स का कोविड केयर एंटर-5 शुरू है, जिसमें मरीजों का इलाज हो रहा है। 150 अतिरिक्त बेड्स की यहां व्यवस्था की गई है, जिससे यहां बेड की कुल संख्या 650 हो गई है।

पिछले तीन दिन में 14 हजार यात्रियों की मुंबई एयरपोर्ट से आवाजाही
मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट (सीएसएमआईए) से पिछले तीन दिनों में कुल 14,069 पैसेंजर की आवाजाही हुई है। मुंबई के एयरपोर्ट के परिचालन की जिम्मेदारी संभालने वाली जीवीके मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लि. (एमआईएएल) से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को 25 फ्लाइट का आगमन हुआ जबकि इतनी ही संख्या यानी 25 फ्लाइट ने उड़ान भरी।

मुंबई के सीएसटीएम स्टेशन के बाहर अपने भाई को लेकर खड़ा एक बच्चा। यहां से हर दिन 20-25 ट्रेनों को चलाने का प्रस्ताव रेलवे को मिला है।

6 एयरलाइन्स कंपनी मुंबई से कर रही ऑपरेट

मुंबई एयरपोर्ट से इस वक्त कुल 6 एयरलाइंस कंपनियां देश के 14 सेक्टर को कनेक्ट कर रही हैं। मुंबई से बुधवार को 3,592 पैसेंजर ने उड़ान भरी और 1,401 यात्रियों का आगमन हुआ। 25 मई को देश में डोमेस्टिक उड़ान सेवाएं बहाल होने के पहले दिन अब तक सर्वाधिक दिल्ली रूट पर ही यात्रियों की आवाजाही दर्ज हुई है। सुबह 6.15 पहली फ्लाइट ने अहमदाबाद के लिए उड़ान भरी जबकि सुबह 8.20 बजे पहली फ्लाइट लखनऊ से मुंबई पहुंची। 

1889 पुलिसवाले संक्रमित, 20 की अबतक मौत
महाराष्ट्र पुलिस द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक अब तक 1889 पुलिसवाले कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। जिनमें 207 अधिकारी और 1682 कर्मचारी हैं। कोरोना संक्रमण के चलते महाराष्ट्र में 20 पुलिस वालों की मौत भी हो चुकी है। कोरोना संक्रमित पुलिसवालों में से 838 बीमारी से उबर चुके हैं जबकि 1031 का अब भी इलाज चल रहा है। जहां एक ओर पुलिसवाले अपनी जान के बाजी लगाकर आम लोगों में कोरोना संक्रमण फैलने से रोकने की कोशिश कर रहे है वही पुलिसवालों पर हमले की वारदातें थमने का नाम नहीं ले रहीं हैं। राज्य में पुलिसवालों पर हमले की 252 वारदातें हो चुकी हैं। इन हमलों में शामिल 832 आरोपियों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है।

लॉकडाउन नियम तोड़ने वालों से वसूले 5 करोड़ 48 लाख रुपए
लॉक डाउन के दौरान विभिन्न वारदातों में 86 पुलिस वाले जख्मी भी हो चुके हैं। जारी आंकड़ों के मुताबिक सोमवार तक लॉक डाउन के उल्लंघन के आरोप में धारा 188 के तहत राज्य में एक लाख 15 हजार 263 मामले दर्ज कर 23 हजार 204 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। आदेश का उल्लंघन करने वालों से 5 करोड़ 48 लाख रुपए से ज्यादा जुर्माना भी वसूल गया है। लॉक डाउन के दौरान अवैध यातायात के आरोप में 1322 मामले दर्ज किए गए हैं जबकि 72687 वाहन जब्त कर लिए गए हैं।

Categories
sports

एक दिन में सबसे ज्यादा 187 मरीजों ने दम तोड़ा; महाराष्ट्र में रिकॉर्ड 105 और गुजरात में 23 संक्रमितों की मौत


  • महाराष्ट्र में अब तक 1897 मरीजों की जान गई, गुजरात में भी 938 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई
  • बुधवार को दिल्ली में 15, मध्यप्रदेश में 8, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में 6-6 लोगों ने दम तोड़ा

दैनिक भास्कर

May 28, 2020, 12:33 AM IST

नई दिल्ली. देश में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 4534 हो गई। बुधवार को एक दिन में सबसे ज्यादा 187 मरीजों ने दम तोड़ा। एक दिन पहले भी 170 संक्रमितों की मौत हुई थी। बुधवार को अकेले महाराष्ट्र में रिकॉर्ड 105 लोगों की जान गई। यह राज्य में एक दिन में मृतकों की सबसे बड़ी संख्या है। उधर, गुजरात में भी बुधवार को 23 संक्रमितों की मौत हुई।

महाराष्ट्र में बुधवार को जान गंवाने वालों में मुंबई के 32, ठाणे के 16, जलगांव के 10, पुणे के 9, नवी मुंबई के 7, रायगढ़ के 7, अकोला के 6, औरंगाबाद के 4, नासिक के 3, सोलापुर के 3, सातारा के 2, अहमदनगर का 1, नागपुर का 1, नंदुरबार का एक, पनवेल का एक और वसई विरार से 1 मरीज है। मृतकों में 72 पुरुष और 33 महिलाएं शामिल हैं। इसमें 63% संक्रमित डायबिटीज, हाई ब्लडप्रेशर और ह्रदयरोग से पीड़ित थे। 

राज्य में कोरोना से जान गंवाने वालों का आंकड़ा 1897 हो गया। एक दिन पहले भी 97 मरीजों की मौत हुई थी। राज्य में हर 14 मिनट में 1 मौत हो रही है, जबकि हर घंटे 91 मामले सामने आ रहे हैं। 

दिल्ली में बुधवार को 15 मरीजों की मौत 
इसके अलावा दिल्ली में 15, मध्यप्रदेश में 8, तमिलनाडु, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल में 6-6, उत्तरप्रदेश में 5, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर, हरियाणा में 2-2 मरीजों की मौत हुई। इसके अलावा कर्नाटक में 3, बिहार और आंध्रप्रदेश में 1-1 संक्रमित ने दम तोड़ा।  

संक्रमण से कहां कितनी मौतें?

राज्य

मौतें                            
महाराष्ट्र                               1897
गुजरात 938
मध्यप्रदेश 313
पश्चिम बंगाल 289
राजस्थान 172
दिल्ली 303
उत्तरप्रदेश 182
आंध्र प्रदेश 58
तमिलनाडु 136
तेलंगाना 63
कर्नाटक 47
पंजाब 40
जम्मू-कश्मीर 26
हरियाणा 18
बिहार 15
ओडिशा 07
झारखंड 04
हिमाचल प्रदेश 06
चंडीगढ़ 04
केरल 07
असम 04
उत्तराखंड 04
मेघालय 01
कुल 4534

टॉप-10 शहर जहां सबसे ज्यादा मौतें हुईं 

शहर

मौतें
मुंबई                           1097
अहमदाबाद 764
पुणे 291
कोलकाता 191
इंदौर 119
जयपुर 83
उज्जैन 54
सूरत 65
ठाणे 149
भोपाल 51

26 मई को 170 मौतें

तारीख

मौतें
15 मई               95
16 मई 106
17 मई 165
18 मई 131
19 मई 147
20 मई  132
21 मई 148               
22 मई 147
23 मई 142
24 मई 156
25 मई 150
26 मई 170
Categories
sports

14 दिन में डबल हो रहे केस, मुंबई में प्रति 10 लाख लोगों पर 13 हजार टेस्ट; राज्य में एक हजार स्वास्थ्यकर्मी भी संक्रमित


  • बीते 24 घंटे में राज्य में 97 लोगों की मौत हुई, एक दिन में संक्रमण से मौत का यह सबसे बड़ा आंकड़ा
  • 2091 नए केसों के साथ महाराष्ट्र में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 54,758 तक पहुंची

दैनिक भास्कर

May 27, 2020, 01:20 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है। बीते 24 घंटे में राज्य में 97 लोगों की मौत हुई है। यह एक दिन में संक्रमण से होने वाली मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इसके साथ राज्य में मृतकों का आंकड़ा 1792 तक पहुंच गया। मंगलवार को 2091 नए मामलों के साथ कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 54,758 हो गई है। हालांकि, कुल एक्टिव केस 36,004 हैं।

महाराष्ट्र के चीफ सेक्रेटरी अजोय मेहता ने बताया कि राज्य में 70-80 प्रतिशत कोरोना केस ऐसे हैं, जिनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं हैं। वहीं, संक्रमितों का डबलिंग रेट 14 दिन का हो गया है। पहले कोरोना मरीजों की संख्या 3 दिन में दोगुनी हो जाती थी। मेहता ने बताया कि शुरुआत में राज्य में दो ही टेस्टिंग लैब थीं। एक केंद्र और एक राज्य सरकार की। लेकिन, अब राज्य में 72 लैब में कोरोना की टेस्टिंग की जा रही है।

सबसे ज्यादा मुंबई में 38 लोगों की जान गई
मंगलवार को सबसे ज्यादा मौतें मुंबई में हुईं। यहां 39 लोगों की जान गई। इसके अलावा, ठाणे में 15, कल्याण में 10, पुणे में 8, सोलापुर में 7, औरंगाबाद और मीरा भायंदर में 5-5, मालेगांव और उल्हासनगर में 3-3, नागपुर, रत्नागिरी में 1-1 मरीज की मौत हुई। मृतकों में 63 पुरुष और 34 महिलाएं शामिल हैं।  इसमें 67% मरीजों में डायबिटीज, हाई ब्लडप्रेशर और दिल से जुड़ी समस्याएं थीं।

एशिया की सबसे बड़ी स्लम बस्ती धारावी से हर दिन हजारों लोगों का पलायन हो रहा है। मंगलवार को भी हजारों लोग यहां से स्टेशन के लिए निकले।

मुंबई में प्रति 10 लाख लोगों पर 13 हजार कोरोना टेस्ट
बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने बुधवार को बताया कि मुंबई में सबसे ज्यादा कोरोना मरीज हैं, यही वजह है कि देश में सबसे ज्यादा टेस्ट यहीं हुए हैं। उन्होंने बताया कि यहां प्रति 10 लाख लोगों पर 13 हजार कोरोना टेस्ट हो रहे हैं। वहीं, दिल्ली में प्रति 10 लाख पर 4,800 और गुजरात में 1200 की जांच हो रही।

लॉकडाउन में मिली छूट के बाद फिर एक बार मुंबई के सीएसटी स्टेशन के बाहर गाड़ियां नजर आईं। यह तस्वीर मंगलवार की है।

कोरोना अपडेट्स 

  • राज्य में 21 हजार लोग बने कोरोना योद्धा: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पिछले दिनों कोरोना से लड़ने के लिए सेवानिवृत्त लोगों से भी ड्यूटी करने का आह्वान किया था। राज्य से 21 हजार लोगों ने स्वेच्छा से कोरोना योद्धा बनने के चैलेंज को स्वीकार किया।
  • 1889 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए, पिछले 24 घंटे में 2 की मौत: महाराष्ट्र पुलिस के अनुसार, राज्य में पिछले 24 घंटे में 2 पुलिसकर्मियों की मौत हुई। कोरोना से मरने वाले पुलिसकर्मियों की संख्या 20 हो गई। अब तक 1,889 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए हैं। इनमें 207 अधिकारी, जबकि 1,682 कर्मचारी हैं। 1,031 पुलिसकर्मी विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं। इनमें 139 अधिकारी और 892 अन्य पुलिसकर्मी हैं। अच्छी बात यह है कि 838 पुलिसकर्मी कोरोना को मात देकर घर वापस लौटे हैं। इनमें 67 अधिकारी हैं। अधिकांश मौतें लॉकडाउन का पालन करवाने के दौरान संक्रमित होने से हुई हैं। 
  • 3 जेलों में 3 कैदियों की मौत : बॉम्बे हाईकोर्ट ने निचली अदालतों को कैदियों की जमानत याचिका पर जल्द फैसला लेने का निर्देश दिया। हाईकोर्ट का मानना है कि इससे महाराष्ट्र की जेलों में भीड़ कम होगी। 
  • मुंबई एयरपोर्ट से 44 विमानों की आवाजाही: देशभर में घरेलू विमान सेवा शुरू होने के दूसरे दिन मंगलवार को मुंबई हवाई अड्डे पर 44 विमानों की आवाजाही हुई। इस दौरान यहां 22 विमान आए और 22 ने उड़ान भरी। इसमें कुल 4,224 यात्रियों से सफर किया। इनमें से 3,114 यात्रियों ने यहां से उड़ान भरी, जबकि 1110 यात्री बाहर से यहां आए।
धारावी स्लम की मुख्य सड़क पर जमा प्रवासी मजदूरों की भीड़। ये सभी मजदूर बसों से अलग-अलग स्टेशनों के लिए जा रहे हैं।

राज्य के 59.3% मृतक सिर्फ मुंबई से

  • मुंबई में मरने वालों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। यहां अब तक 1064 लोगों की जान जा चुकी है। अगर सोमवार तक के आंकड़ों की बात की जाए तो राज्य की 59.3% मौतें सिर्फ मुंबई में ही हुईं। वहीं, यहां संक्रमितों का आंकड़ा भी बढ़कर 32,972 तक पहुंच गया है।
  • महाराष्ट्र के कुल संक्रमितों में से 60.2% संक्रमित सिर्फ मुंबई से ही हैं। वहीं, देश से अगर मुंबई की तुलना करें तो मुंबई देश में संक्रमण से हुई कुल मौतों का 25% मौत सिर्फ मुंबई में हुई हैं। पिछले 8 दिन में राज्य में 543 मौतें हुईं।
यह तस्वीर मुंबई के कस्टम ग्राउंड की है। यहां बसों में चढ़ने के लिए लोग सोशल डिस्टेंसिंग के नियम तोड़ते नजर आए।
Categories
sports

महाराष्ट्र में कोरोना से 24 घंटे में सबसे ज्यादा 97 ने जान गंवाई; गुजरात में 27, दिल्ली में 12 मरीजों ने दम तोड़ा


  • महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोना से जान गंवाने वालों में 63 पुरुष और 34 महिलाएं हैं
  • मंगलवार को दिल्ली में 12, तमिलनाडु में 9, मध्यप्रदेश और पश्चिम बंगाल में 5-5 मरीजों ने दम तोड़ा

दैनिक भास्कर

May 26, 2020, 10:34 PM IST

नई दिल्ली. देश में कोरोना संक्रमण के चलते मरने वालों की संख्या 4334 हो गई है। मंगलवार रात 9 बजे तक 160 लोगों की मौत हो गई। अकेले महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में रिकॉर्ड 97 मरीजों की मौत हुई। यह एक दिन में मृतकों की सबसे बड़ी संख्या है। इससे पहले 19 मई को 76 संक्रमितों ने दम तोड़ा था। यहां मृतकों का आंकड़ा 1792 हो गया। उधर, गुजरात में भी 25 मरीजों की मौत हुई है।

महाराष्ट्र में मंगलवार को कोरोना से जान गंवाने वालों में 63 पुरुष और 34 महिलाएं हैं। यहां मंगलवार को जिन लोगों की मौत हुई, उसमें से 67% डायबिटीज, हाई ब्लडप्रेशर और ह्रदयरोग के मरीज थे। मृतकों में से मुंबई के 39, ठाणे के 15, कल्याण के 10, पुणे के 8, सोलापुर के 7, औरंगाबाद के 5, मीरा भायंदर के 5, मालेगांव के 3, उल्हासनगर के 3, नागपुर के 1 और रत्नागिरी से 1 है।

दिल्ली में 12 मरीजों ने दम तोड़ा

इसके अलावा दिल्ली में 12, तमिलनाडु में 9, मध्यप्रदेश और पश्चिम बंगाल में 5-5, बिहार, तेलंगाना और जम्मू-कश्मीर में 1-1 मरीज की जान गई। सोमवार को 150, जबकि रविवार को 156 संक्रमितों ने जान गंवाई थी।

संक्रमण से कहां कितनी मौतें?

राज्य

मौतें                            
महाराष्ट्र                               1792
गुजरात 915
मध्य प्रदेश 305
पश्चिम बंगाल 283
राजस्थान 168
दिल्ली 288
उत्तर प्रदेश 169
आंध्र प्रदेश 57
तमिलनाडु 128
तेलंगाना 57
कर्नाटक 44
पंजाब 40
जम्मू-कश्मीर 24
हरियाणा 16
बिहार 14
झारखंड 04
हिमाचल प्रदेश 04
चंडीगढ़ 04
केरल 06
असम 04
उत्तराखंड 04
मेघालय 01
ओडिशा 07
कुल 4334

टॉप-10 शहर जहां सबसे ज्यादा मौतें हुईं 

शहर

मौतें
मुंबई                           1065
अहमदाबाद 745
पुणे 282
कोलकाता 186
इंदौर 117
जयपुर 80
उज्जैन 54
सूरत 63
ठाणे 108
भोपाल 49

17 मई को सबसे ज्यादा 165 मौतें

तारीख

मौतें
15 मई               95
16 मई 106
17 मई 165
18 मई 131
19 मई 147
20 मई  132
21 मई 148               
22 मई 147
23 मई 142
24 मई 156
25 मई 150
Categories
sports

मुंबई एयरपोर्ट से एक दिन में 4 हजार लोगों ने सफर किया; यहां कोरोना पॉजिटिव रेट 32%, बीएमसी हेल्प डेस्क के 48 में से 22 कर्मचारी संक्रमित


  • हेल्प डेस्क पर केवल 26 लोग ही बचे हैं, इन लोगों को हर दिन 4000 से अधिक कॉल देखनी पड़ रही हैं
  • महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 52,667 तक पहुंच गया, यहां एक दिन में 60 की मौत हुई

दैनिक भास्कर

May 26, 2020, 11:56 AM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में मंगलवार तक कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 52,667 तक पहुंच गया। यहां एक दिन में 60 मरीजों की मौतें हुईं। राज्य में कुल मरने वालों की संख्या 1695 पहुंच गई। पिछले 24 घंटे में राज्य में 2436 नए संक्रमित मरीज सामने आए। सबसे ज्यादा एक दिन में 1186 मरीज ठीक होकर घर लौटे। देश में एक दिन में ठीक होने वाले मरीजों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। इस हिसाब से अब राज्य में 35 हजार 178 एक्टिव केस ही बचे हैं।

मुंबई में कोरोना पॉजिटिव रेट 32% पहुंचा
हर 100 सैंपल टेस्ट करने पर 32 लोग कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं। 13 मई से 23 मई तक मुंबई में कोरोना के कुल 13,853 मामले सामने आए, जबकि इस दौरान 43,025 लोगों की टेस्टिंग की गई। मुंबई में अब तक 31 हजार से अधिक कोरोना मरीज सामने आ चुके हैं, इनमें से करीब 14 हजार मामले केवल 10 दिन में रिपोर्ट हुए हैं। रूस की राजधानी मॉस्को के बाद मुंबई दुनिया का ऐसा शहर है, जहां एक दिन में कोरोना के रोज सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं।  22 मई को मुंबई में 1,751 मामले सामने आए थे, जो मॉस्को (2,988) के बाद दुनिया में सबसे ज्यादा थे।

बीकेसी में बने 1 हजार के बेड वाले ओपन हॉस्पिटल से बाहर निकलता एक स्वास्थ्यकर्मी। इसे सोमवार शाम को शुरू कर दिया गया है।

राज्य के 60.5% मरने वाले सिर्फ मुंबई से

मुंबई में मरने वालों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा। यहां अब तक 1026 की जान गई। पिछले 24 घंटे में 38 मौतें हुईं। यानि राज्य की 60.5% मौतें सिर्फ मुंबई में ही हुईं हैं। यहां संक्रमितों का आंकड़ा भी बढ़कर 31972 तक पहुंच गया। महाराष्ट्र के कुल संक्रमितों में से 60.7% संक्रमित सिर्फ मुंबई से ही हैं। वहीं, देश से अगर मुंबई की तुलना करें तो मुंबई देश की कुल मौतों का 25% मौत सिर्फ मुंबई में हुई है। 

मुंबई के सीएसटी स्टेशन के बाहर श्रमिक स्पेशल ट्रेन का इंतजार करते सैकड़ों लोग। इस दौरान सभी ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियम जमकर तोड़े।

बीएमसी हेल्प डेस्क पर काम करने वाले 48 में से 22 को कोरोना हुआ

कोरोना मरीजों की जल्द मदद करने के लिए बीएमसी के आपदा ​प्रबंधन नियंत्रण कक्ष में 48 कर्मचारियों को रखा गया था, जिसमें से अब तक 22 कर्मचारियों में कोरोना हो चुका है। अब हेल्प डेस्क पर केवल 26 लोग ही बचे हैं। इन लोगों को अब हर दिन 4000 से अधिक कॉल देखनी पड़ रही हैं, जिसके कारण सभी कर्मचारी काफी तनाव में हैं। मरीजों को एम्बुलेंस मुहैया कराना, अस्पतालों में बेड ​की स्थिति की जानकारी रखना और सं​बंधित अस्पताल से बात कर मरीजों को हर मुमकिन मदद देना, यहां तक कि कोविड 19 से जुड़े सवालों के जवाब भी इसी नियंत्रण कक्ष से दिए जाते हैं।

मुंबई एयरपोर्ट के बाहर यात्रियों को चेक करने के लिए सीआईएसएफ ने एक शील्ड केबिन तैयार किया है।

एक दिन में मुंबई एयरपोर्ट पर 4,852 यात्रियों ने किया सफर

करीब 2 महीने बाद मुंबई एयरपोर्ट से शुरू हुई घरेलू उड़ान सेवा के दौरान 47 विमानों से 4,852 यात्रियों ने सफर किया। इसमें मुंबई आने वाले यात्रियों की संख्या 1,100 थी, जबकि यहां से 3752 लोग देश के अलग-अलग हिस्सों में गए। मुंबई एयरपोर्ट पर उतरने वाले सभी यात्रियों को 14 दिनों तक होम क्वारैंटाइन रहने का आदेश दिया गया है। अन्य प्रदेशों से आने वाले यात्रियों की पहचान के लिए उनके हाथ पर स्टैंप लगाया गया है। एयरपोर्ट प्रवक्ता के अनुसार, सोमवार को करीब 100 विमानों के परिचालन की योजना थी, लेकिन सरकार से रोज 50 उड़ानों की अनुमति मिली थी। सरकार ने सोमवार को 50 में से भी 47 उड़ानों को ही इजाजत दी।

मुंबई एयरपोर्ट के बाहर एक पिता और पुत्री अपने हाथ पर लगी क्वारैंटाइन की मुहर को दिखाते हुए। यहां आने वालों को 14 दिनों के लिए अनिवार्य रूप से होम क्वारैंटाइन में रहना है।

हर रोज 4 हजार के अधिक टेस्टिंग हो रहीं

रोजाना 4 हजार से अधिक कोरोना टेस्टिंग मुंबई में की जा रही है। मुंबई में 23 मई तक 1.7 लाख कोरोना टेस्टिंग की गई थी, इनमें से 43,025 टेस्टिंग केवल 10 दिन में की गई है यानी करीब 25 फीसद टेस्टिंग केवल 13 मई से 23 मई के बीच में की गई है।

सोमवार को महाराष्ट्र सरकार में मंत्री एकनाथ शिंदे ठाणे के सिविल हॉस्पिटल पहुंचे थे। यहां वे करीब एक घंटे तक रहे और मरीजों का हाल जाना।

धारावी में रिकवरी रेट 42% पहुंचा 

एशिया की सबसे बड़ी स्लम धारावी में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1583 तक पहुंच चुका है। लेकिन सुखद पहलू यह है कि यहां कोरोना के मरीजों का रिकवरी रेट मुंबई और महाराष्ट्र से काफी बेहतर है। धारावी में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 42 प्रतिशत है, जबकि 58 प्रतिशत एक्टिव केस हैं। यहां अब तक करीब 680 संक्रमित मरीज ठीक हो चुके हैं।

मुंबई के छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के बाहर फेस शील्ड पहनते दो यात्री। ज्यादातर एयरपोर्ट पर शील्ड एयरलाइन्स कंपनी की ओर से ही दिए जा रहे हैं।

महाराष्ट्र से जम्मू भेजे गए 3300 लोग 

महाराष्ट्र के विभिन्न हिस्सों में फंसे 1,200 छात्रों समेत जम्मू कश्मीर के करीब 3,300 निवासियों को उनके प्रदेश भेजा गया है। जम्मू के लिए पिछले 15 दिनों में 4 ट्रेनें रवाना की गईं। राज्य सरकार के कंट्रोल रूम अधिकारी के अनुसार, जम्मू कश्मीर के फंसे लोगों को निकालने के लिए श्रमिक विशेष ट्रेनों की यह सबसे ज्यादा संख्या है।

Categories
sports

पुणे और मुंबई में फ्लाइट्स शुरू हुईं; 5 लाख लोग क्वारैंटाइन, संक्रमण का पता लगाने के लिए बीएमसी लोगों का एक्स-रे करेगी


  • महाराष्ट्र में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 50 हजार के पार, 24 घंटे में कोरोना के 3,041 नए मामले सामने आए
  • वायरस की वजह से रविवार को 58 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी, इनमें से सबसे ज्यादा 39 मरीजों की मौत मुंबई में हुई

दैनिक भास्कर

May 25, 2020, 01:28 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 50 हजार को पार कर गई है। रविवार से सोमवार सुबह तक 24 घंटे में कोरोना के 3,041 नए मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, अब कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 50,231 हो गई है। राज्य में अब तक 1,635 लोगों की जान कोरोना से जा चुकी है। वायरस की वजह से रविवार को 58 लोगों की मौत हुई। इनमें से सबसे ज्यादा 39 मरीजों की मौत मुंबई में हुई। यहां संक्रमण से जान गंवाने वालों का आंकड़ा 988 पर पहुंच गया है।

कोरोना संक्रमितों के लक्षणों का जल्द पता लगाने के लिए बीएमसी व्यापक स्तर पर लोगों का एक्स-रे करेगी। इसके लिए प्रशासन ने 10 डिजिटल एक्स-रे मशीनें तैयार की हैं। इन्हें कहीं भी ले जाया जा सकता है। शुरू में रोज 500 एक्सर-रे करने का लक्ष्य है। चीन में भी इस तकनीक का इस्तेमाल किया गया था। बिना लक्षणों वाले मरीजों के लंग्स के एक्स-रे के आधार पर यह पता चल सकेगा कि मरीज कितना गंभीर हो सकता है। ऐसे में उन्हें पहले से ही अस्पताल में भेज दिया जाएगा। माना जा रहा है कि इससे कोरोना के चलते होने वाली मौत को कम किया जा सकता है।

  
14 हजार लोग कोरोना मुक्त, 5 लाख से ज्यादा क्वारैंटाइन
राज्य में पिछले 24 घंटे में 1,196 लोगों को घर भेज दिया गया है। अब तक कुल 14,600 मरीज कोरोनावायरस को मात दे चुके हैं। कोरोना को रोकने के लिए 4 लाख 99 हजार 387 लोगों को घरों और 35107 लोगों को अन्य स्थानों पर क्वारैंटाइन किया गया है। अब तक 3 लाख 62 हजार 862 लोगों की जांच की जा चुकी है, इनमें से 3 लाख 12 हजार 631 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है।

महाराष्ट्र सरकार ने घरेलू उड़ानों को मंजूरी दे दी है, जिसके बाद मुंबई और पुणे में दो फ्लाइट्स लखनऊ और दिल्ली से आईं हैं। यह तस्वीर रविवार शाम की मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस की है।

मुंबई और पुणे आईं फ्लाइट्स

महाराष्ट्र सरकार ने रविवार शाम को मुंबई में 50 फ्लाइट्स की अनुमति दी। यानी रोजाना राज्य में 25 फ्लाइट्स टेक ऑफ और 25 फ्लाइट्स लैंडिंग कर सकेंगी। सोमवार सुबह एक फ्लाइट दिल्ली से पुणे और दूसरी लखनऊ से मुंबई पहुंची। 

कोरोना के डर से नौकरी छोड़ रही हैं नर्सें

पुणे में निजी अस्पताल के संचालकों ने कहा है कि कोरोना संकट के बीच बड़ी तादाद में नर्सें इस्तीफा देकर जा रही हैं। इससे इस महामारी से मुकाबला करने की कोशिशों में मुश्किल आ रही है। नौकरी छोड़कर जाने वाली नर्सों में ज्यादातर केरल की हैं। अस्पताल संचालकों ने कहा कि जिला एवं निकाय प्रशासन के साथ शनिवार को हुई बैठक में इस मुद्दे को उठाया गया था। निकाय प्रशासन का कहना है कि नर्सों को यह बताया जाना चाहिए कि महाराष्ट्र आवश्यक सेवा कानून लागू है, जिसके तहत अस्पताल में काम करने वाली नर्सों का गैर जरूरी इस्तीफा नामंजूर कर सकते हैं।

मुंबई के भायखला में अपने राज्य के लिए बस पकड़ने पहुंचे बिहार के प्रवासी मजदूर। इस दौरान सभी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां तोड़ते नजर आए। 

उद्धव ठाकरे और रेल मंत्री में बहस- पीयूष गोयल ने 5 घंटे में 9 ट्वीट कर महाराष्ट्र सरकार से डिटेल मांगी
श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के मुद्दे पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल में बहस हो गई। उद्धव ने रविवार को आरोप लगाया कि रेलवे पर्याप्त ट्रेनें उपलब्ध नहीं करवा रहा। इसके जवाब में रेल मंत्री ने रविवार शाम 7 बजे से रात 12 बजे तक 9 बार ट्वीट कर महाराष्ट्र सरकार से जानकारी मांगी, लेकिन डिटेल नहीं मिल पाई। रात 2 बजे गोयल ने 10वां ट्वीट किया और बताया कि 125 ट्रेनों की लिस्ट मांगी थी, लेकिन 46 की ही मिली।

गोयल ने पहली बार शाम 7.14 बजे एक साथ 3 ट्वीट किए। उन्होंने उद्धव ठाकरे पर कटाक्ष भी किया। गोयल ने कहा- उम्मीद है कि पहले की तरह ट्रेनें स्टेशन पर आने के बाद, खाली नहीं लौटेंगी। 

रेल मंत्री का ट्वीट..

7 लाख 38 हजार प्रवासी मजदूर को घर भेजा गया 
महाराष्ट्र सरकार ने अब तक 527 ट्रेनों से सात लाख 38 हजार मजदूरों को उनके गृह राज्य पहुंचा दिया है। राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने बताया कि मजदूरों के रेल टिकट से लेकर उनके खाने वगैरह की सभी व्यवस्थाएं राज्य सरकार कर रही है। 

लॉकडाउन के बीच मुंबई के कई इलाकों में कपड़े की दुकानें भी खुली हैं। ईद के चलते रविवार को भारी संख्या में लोग कपड़े खरीदने पहुंचे थे।



Categories
sports

मुंबई से विमान सेवा शुरू होने को लेकर असमंजस, देश का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर तैयार हुआ; छोटे कारोबारियों के लिए जल्द आर्थिक पैकेज


  • पूरे राज्य में इस महामारी से ठीक होने वालों की संख्या 13,404 के करीब पहुंच गई है
  • राज्य में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 47,190 हो गई है

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 09:57 AM IST

मुंबई. रविवार को राज्य में बीते 24 घंटों में 2,608 नए मामले सामने आए, जबकि 60 मरीजों की कोरोना से मौत भी हई है। राज्य में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 47,190 हो गई और मरने वालों का आंकड़ा 1,577 पर पहुंच गया। वहीं पूरे राज्य में इस महामारी से ठीक होने वालों की संख्या 13,404 के करीब पहुंच गई है। शनिवार को 821 मरीज ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो गए।

कोरोना की वजह से मुंबई में 40, पुणे में 14, सोलापुर में 2 और वसई विरार, ठाणे, नांदेड और सातारा में 1-1 मरीज की मौत हुई है। रोग की वजह से राज्य में अब तक कुल 1,577 मौतें हो चुकी हैं। मरने वाले 60 मरीजों में से 41 पुरुष और 19 महिलाएं हैं। इनमें से 29 मरीजों की आयु 60 वर्ष से अधिक थी, 24 की उम्र 40 से 59 वर्ष के बीच और 7 मरीजों की उम्र 40 वर्ष से कम थी। 36 मरीजों को पहले से अन्य रोग थे। जांच के बाद राज्य में 4,85,623 लोगों को घरों में और 33,545 लोगों को अन्य स्थानों पर क्वारंटीन में रखा गया है।

मुंबई के सीएसटी स्टेशन के बाहर सोशल डिस्टेंस से बैठे कुछ प्रवासी मजदूर अपनी ट्रेन की प्रतीक्षा करते हुए।

मुंबई से विमान सेवा फिर शुरू होने को लेकर असमंजस की स्थिति

25 मई से शुरू होने वाली घरेलू उड़ानों को लेकर असमंजस की स्थिति पैदा हो गई है। महाराष्ट्र सरकार के अधिकारियों का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान हवाई सेवाओं को प्रतिबंधित किए जाने वाले आदेश में अब तक कोई संशोधन नहीं किया गया है। महाराष्ट्र सरकार ने 19 मई को कोरोना वायरस लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ाने का आदेश जारी किया था जिसके हिसाब से राज्य में यात्रियों की सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय यात्रा तब तक प्रतिबंधित रहेगी। 

दूसरी तरफ, मुंबई एयरपोर्ट कमर्शियल विमान सेवा शुरू करने को लेकर पूरी तरह दे तैयार है। उनकी ओर से बताया गया है कि अभी तक राज्य सरकार की ओर से कोई निर्देश नहीं मिले हैं। आधिकारिक निर्देशों के बाद विमानों का परिचालन शुरू करने के लिए मुंबई एयरपोर्ट पर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। 

महाराष्ट्र ने केंद्र को बताया कारण
यह भी कहा जा रहा है कि महाराष्ट्र ने शनिवार को केंद्र सरकार को इसके पीछे मुंबई और पुणे जैसे शहरों के रेड जोन में होने की वजह बताई। राज्य सरकार ने कहा कि दोनों ही अहम शहर रेड जोन में हैं और इसलिए इन शहरों में ट्रैफिक और लोगों की आवाजाही पर पूरी तरह से पाबंदी है। ऐसे में अभी विमान सेवा शुरू नहीं की जा सकती है।

मुंबई की एक सड़क पर बैठे कुछ प्रवासी मजदूर। ये सभी राज्य के अलग-अलग हिस्सों में जाने के लिए तैयार हैं।

विदेशों से मुंबई लौटे 2423 भारतीय

वंदे भारत अभियान के अंतर्गत 22 मई तक 17 विमानों द्वारा 2423 भारतीय नागरिक मुंबई आ चुके हैं। इसमें 906 यात्री मुंबई, 1139 महाराष्ट्र के अन्य भागों व दूसरे राज्यों के 378 नागरिक शामिल हैं। 7 जून तक अन्य 13 विमानों द्वारा जकार्ता, जोहान्सबर्ग, लंदन, मनीला, टोकियो, कोलंबो , मॉरिसस, नैरोबी आदि देशों में फंसे भारतीय मुंबई आएंगे। यहां 43 होटल में विदेश से आए 1128 नागरिकों को क्वारंटीन किया गया है।

छोटे कारोबारियों के लिए जल्द आर्थिक पैकेज
महाराष्ट्र सरकार छोटे कारोबारों एवं शिल्पियों की मदद के लिए शीघ्र ही एक पैकेज की घोषणा करेगी। ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुश्रीफ ने यह बात कही। मुश्रीफ ने कहा, “मंत्रीगण मांग करते आ रहे हैं कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे एवं उपमुख्यमंत्री ‘बारा बलुतेदार’ के लिए पैकेज की घोषणा करें।”  बारा बलुतेदार शिल्पियों समेत ग्राम्य अर्थव्यवस्था के विभिन्न घटकों के लिए मूल रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला शब्द है। इससे छोटे व्यापारियों, रिक्शा ड्राइवरों, फल विक्रेताओं और अन्य को मदद मिलेगी जो अपने कामधंधे नहीं कर पा रहे हैं।

मुंबई के भीड़भाड़ वाले धारावी इलाके में तैनात सीआरपीएफ का एक जवान। मुंबई पुलिस को आराम देने के लिए सेंट्रल फोर्स को यहां बुलाया गया है।

कोरोना वायरस से 18 पुलिसकर्मियों की हुई मौत

महाराष्ट्र में कोरोनावायरस से अब तक एक अधिकारी समेत कम से कम 18 पुलिस कर्मियों की मौत हो चुकी है। राज्य में लॉकडाउन का पालन कराने में जुटी महाराष्ट्र पुलिस गंभीर रूप से इस महामारी की चपेट में है। अभी तक विभाग के 174 अधिकारियों और 1,497 अन्य कर्मचारियों समेत 1,671 कर्मी संक्रमण का शिकार हो चुके हैं। अभी तक कोरोनावायरस से ग्रसित कम से कम 42 पुलिस अधिकारी और 499 कांस्टेबल उपचार के बाद स्वस्थ हो चुके हैं।

देश का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर तैयार हुआ

देश का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर (सीसीसी 2) गोरेगांव के नेस्को ग्राउंड में बनकर तैयार हो गया है। फिलहाल शहर के सभी कोविड अस्पतालों में कोरोना मरीजों को बेड नहीं मिल पा रहे हैं। 1240 बेड के इस ऑक्सीजनयुक्त कोविड सेंटर में एक सामान्य हॉस्पिटल की तरह लगभग सभी सुविधाएं मिलेंगी। 26 मई से इस हॉस्पिटल में मरीजों का ऐडमिशन शुरू करने की तैयारी है। इससे पहले 18 मई को एमएमआरडीए द्वारा तैयार किया गया 1026 बेड का कोरोना हॉस्पिटल बीएमसी को मिल चुका है।

मुंबई के दहिसर चेक नाके पर अपने परिवार के साथ बस का इंतजार कर रहे कुछ प्रवासी मजदूर। स्टेट ने राज्य के भीतर मंजूरी के बाद प्रवासियों को आने-जाने की अनुमति दी है।

आपत्तिजनक पोस्ट करने वालों पर होगी कार्रवाई

राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने चेतावनी दी है कि सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वालों पर सायबर क्राइम सेल कार्रवाई करेगी। उन्होंने कहा, ‘कोई भी मेसेज फॉरवर्ड करने से पहले उसकी पुष्टि करना जरूरी है।

Categories
sports

देश की 42.3% मौतें अकेले महाराष्ट्र में; ट्रेनें कैंसिल होने पर मजदूरों ने कहा- किराए के मकानों में वापस नहीं जा सकते


  • राज्य में पिछले 24 घंटे में इस वायरस से 63 लोगों की मौत हो चुकी है, मरने वालों का आंकड़ा 1517 पर पहुंच गया
  • सरकार ने शराब की होम डिलीवरी की मंजूरी दी, लेकिन रेड जोन में रहने वाले लोग शराब नहीं मंगा पाएंगे

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 12:46 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस से 63 लोगों की मौत हो चुकी है। राज्य में मरने वालों का आंकड़ा 1517 हो गया है। वहीं, देश में अब तक 3 हजार 583 लोगों की संक्रमण से जान गई। यानी देश की 42.3 % मौतें अकेले महाराष्ट्र में हुई हैं। शनिवार सुबह तक कोरोना के  2940 नए मामले सामने आए। जबकि देश में 6 हजार 88 संक्रमित पाए गए। इस हिसाब से बीते 24 घंटे में देश के कुल 48.2% संक्रमित मरीज अकेले महाराष्ट्र से थे। राज्य में संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 44 हजार 582 हो गया है। 

उधर, मुंबई से प्रवासी मजदूरों के जाने का सिलसिला जारी है। लेकिन ट्रेनें रद्द होने से उन लोगों को मुसीबत हो रही है, जो अपना सब कुछ लेकर और किराए के मकान छोड़कर स्टेशन पर आ गए थे। इनका कहना है कि अब हम अपने किराए के मकानों में भी वापस नहीं जा सकते हैं। इनमें से कई मजदूर तीन दिन से वडाला में पुलिस स्टेशन के पास सो रहे हैं। इन्होंने बताया कि हमारे पास न पैसा है और न काम। हम वापस जाकर क्या करेंगे।

मुंबई में राज्य के 61% मरीज 

  • महाराष्ट्र के कुल संक्रमितों में मुंबई के मरीज 61% हैं। देश के कुल संक्रमितों में मुंबई के मरीजों की हिस्सेदारी 22% है। वहीं, राज्य में इस बीमारी से अब तक 12583 लोग पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं। मुंबई में अब तक संक्रमण के कुल 27068 मामले सामने आए हैं।
  • बीते 24 घंटे में यहां 1751 नए मरीज मिले थे। यहां अब तक 909 लोगों की मौत हुई है। वहीं 7080 लोग ठीक भी हुए हैं। मुंबई के धारावी में कोरोना के अब तक 1327 पॉजिटिव केस आ चुके हैं और 56 मौतें हो चुकी हैं।

शिर्डी के साईं नगर स्टेशन के बाहर जमा प्रवासी लोगों की भीड़। इस दौरान लोग सोशल डिस्टेंसिंग के नियम को फॉलो करते नजर आए।

मुंबई में भी शुरू हुई शराब की ऑनलाइन डिलीवरी

बीएमसी ने शराब की होम डिलीवरी की अनुमति दे दी है। इसके लिए कुछ नियम-कायदे भी बताए हैं। होम डिलीवरी सिर्फ सीलबंद बोतलों की ही होगी। यह तभी संभव हो पाएगी, जब डिलीवरी वाली जगह कंटेनमेंट जोन के बाहर होगी। मुंबई में फिलहाल दुकानों से शराब की बिक्री की अनुमति नहीं है। 

लॉकडाउन नियम में मिली छूट के बाद हिंगोली जिले में मूंगफली की फसल को खेतों से निकालते किसान।

पुणे में कोरोना मरीजों पर नई दवाई का प्रयोग शुरू हुआ 

पुणे के सरकारी ससून जनरल अस्पताल में भर्ती कोविड-19 के कम से कम 25 मरीजों को टोसिलीजुमैब दवा दी जाएगी। यह दवा उन मरीजों को दी जाएगी, जिनकी हालत नाजुक लेकिन स्थिर है। नगर निगम आयुक्त शेखर गायकवाड़ ने कहा कि इस नई दवा (इंजेक्शन) की कीमत करीब 20 हजार रुपए है। यह पहले चरण में 25 मरीजों को दी जाएगी और इसके नतीजों के आधार पर आगे के उपयोग के बारे में फैसला करेंगे। पुणे जिला संक्रमण से दूसरा सबसे प्रभावित क्षेत्र है। पुणे में संक्रमण के अब तक 4,809 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 242 लोगों की मौत हुई हैं।

नांदेड़ में स्टेट ट्रांसपोर्ट की बसों के सैनिटाइजेशन का काम शिवसेना के स्थानीय नेताओं की ओर से किया जा रहा है।

25 मई से मुंबई एयरपोर्ट पर फिर विमानों का संचालन शुरू 
केंद्र सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद मुंबई एयरपोर्ट 25 मई से विमानों के संचालन के लिए तैयार हो गया है। सोमवार से मुंबई से देश के 21 शहरों के लिए विमान उड़ान भरेंगे। सेवा शुरू करने के लिए हवाई कंपनियों ने बुकिंग शुरू कर दी है। साथ ही, 1 जून से चलने वाली ट्रेनों के लिए भी बुकिंग शुरू हो गई है।

हवाई यात्रा के लिए बने कड़े नियम

  • कंटेनमेंट जोन में रहने वाले किसी भी व्यक्ति को हवाई यात्रा की अनुमति नहीं।
  • 2 घंटे पहले एयरपोर्ट पर आना होगा।
  • यात्री के फोन में आरोग्य सेतु ऐप इंस्टॉल होना चाहिए।
  • उसका स्टेटस भी ग्रीन होना चाहिए।
  • मास्क पहने यात्री को ही प्रवेश दिया जाएगा।
  • निर्धारित मानक से ज्यादा टेंपरेचर पाए जाने पर हवाई यात्रा की इजाजत नहीं।

सीएसएमटी और ठाणे समेत कई स्टेशनों पर आरक्षण केंद्र फिर शुरू
रेलवे ने शुक्रवार से मुंबई में चुनिंदा स्टेशनों पर यात्री आरक्षण केंद्र खोल दिए हैं। यहां सामान्य व्यक्ति टिकट बुक करा सकते हैं। 1 जून से चलने वाली ट्रेनों की बुकिंग गुरुवार से शुरू हो चुकी थी। मध्य रेलवे ने सीएसएमटी में 4, एलटीटी में 3, दादर, ठाणे, कल्याण व पनवेल 2-2 और बदलापुर में 1 टिकट खिड़की खोली है। पश्चिम रेलवे ने चर्चगेट, मुंबई सेंट्रल और वसई में 2-2 टिकट खिड़कियां खोली हैं। रेलवे के अनुसार, जो लोग इंटरनेट से बुकिंग नहीं कर पा रहे हैं, उनके लिए टिकट खिड़कियां खोली गई हैं। यहां सिर्फ टिकट बुकिंग होगी। रद्द टिकट का भुगतान नहीं होगा।

मुंबई के बीकेसी में बने 1008 बेड के इस ओपन हॉस्पिटल में चार दिन बाद भी मरीज नहीं पहुंचे हैं।
Categories
sports

मुंबई के बड़े हॉस्पिटलों के 4400 बेड रिजर्व, सख्त नियमों के साथ मेट्रो चलाने की तैयारी; 3 दिन में 6 पुलिसवालों की मौत


  • राज्य में कोरोना के 2,940 नए मरीजों के साथ कुल संक्रमितों की संख्या 44,582 तक पहुंच गई
  • कोरोना से राज्य में 63 और मौत हुई हैं, इनमें से 27 मरीजों की जान मुंबई में गई

दैनिक भास्कर

May 22, 2020, 09:26 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में शुक्रवार को 63 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। राज्य में 2940 नए मरीज सामने आए हैं। मरीजों की संख्या बढ़कर 44582 पहुंच गई है। मृतकों के आंकड़ा 1517 हो गया है। कोरोना के कारण शुक्रवार को जिन 63 लोगों ने जान गंवाई उनमें 27 मुंबई, 9 पुणे, 7 जलगांव, सोलापुर से 5, वसई से 3, औरंगाबाद से 3, मालेगांव से एक, ठाणे से 1, कल्याण से 1, उल्हासनगर से 1, पनवेल से 1, नागपुर से 1 और अन्य राज्य के 2 लोगों की मुम्बई में मौत हुई है।
मृतकों में 37 पुरुष और 26 महिलाएं शामिल हैं।

महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई के सभी बड़े हॉस्पिटल में बेड रिजर्व किए
सरकार ने गुरुवार रात एक नोटिफिकेशन जारी कर राज्य के प्राइवेट हॉस्पिटल और नर्सिंग होम में 80% से अधिक बेड ले लिए। अब सरकार को 4400 बेड की सुविधा मिल गई है। राज्य सरकार ने इन अस्पतालों में इलाज के लिए फीस भी निर्धारित की है। इसमें धर्मार्थ ट्रस्टों के अस्पताल भी शामिल हैं। सरकार ने जिन अस्पतालों में बेड रिजर्व किए हैं, उनमें मुंबई के एचएन रिलायंस, लीलावती, ब्रीच कैंडी, जसलोक, बॉम्बे हॉस्पिटल, भाटिया, वॉकहार्ट, नानावती, फोर्टिस, एलएच हीरानंदानी और पीडी हिंदुजा हॉस्पिटल शामिल है।

महाराष्ट्र से फिलहाल नहीं चलेंगी सामान्य ट्रेन
गुरुवार से सामान्य यात्रियों के लिए 200 ट्रेनों की बुकिंग शुरू हो चुकी है, लेकिन महाराष्ट्र में ट्रेन से यात्रा करने वालों को अभी इंतजार करना पड़ेगा। आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर महाराष्ट्र के अंदर यात्रा को ब्लॉक किया गया है। रेलवे के अनुसार, राज्य सरकार के निर्णय के बाद ऐसा किया गया है। 

सांताक्रूज के कलिना इलाके में रहने वाले नार्थ-ईस्ट के लोगों को सरकार ने बस से उनके राज्यों तक पहुंचाने का निर्णय लिया है।  बस में बैठने के लिए सैकड़ों लोग सोशल डिस्टेंसिंग के नियम तोड़ने नजर आए।

आधी क्षमता के साथ मेट्रो को चलाने की तैयारी 
मुंबई मेट्रो ने सेवाओं को फिर से शुरू करने के लिए प्रोटोकॉल तैयार करना शुरू कर दिया है। गुरुवार को मुंबई मेट्रो ने वर्सोवा-अंधेरी-घाटकोपर मेट्रो मार्ग पर अपनी ट्रेनों की तस्वीरें जारी कीं। जहां सीटों पर स्टिकर लगाए गए हैं, जिसमें एक के बाद एक सीटें खाली छोड़ी गई हैं। इसके 16 रैक पर बैठने की व्यवस्था है। अधिकारियों ने कहा- यात्रा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें।एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने कहा- फिलहाल एक मेट्रो कोच में बैठने की क्षमता 200 है, जबकि अन्य 200 लोग खड़े होकर यात्रा कर सकते हैं। नई व्यवस्था से क्षमता आधी हो जाएगी। इसलिए अब 100 यात्री बैठ सकते हैं और 75 प्रत्येक कोच में खड़े हो सकते हैं। मुंबई मेट्रो वन से रोज यात्रा करने वालों की संख्या 3.8 लाख है।

गुरुवार को ट्रेन पकड़ने के लिए मुंबई के महावीर नगर मैदान पर पहुंचे उत्तर प्रदेश के कई प्रवासी मजदूर। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए इन्होंने कतार में अपने बैग रखे थे।

6 पुलिसकर्मियों की 3 दिन में गई जान
कोरोना से महाराष्ट्र में पिछले 3 दिन में 6 पुलिसकर्मियों की जान गई है। शुक्रवार को विले पार्ले पुलिस स्टेशन में तैनात हेड कांस्टेबल अरुण फडतरे भी कोरोना की जंग हार गए। मुंबई पुलिस की ओर से ट्वीट कर इसकी जानकारी दी गई। इससे पहले गुरुवार को ठाणे के एक एएसआई ने मुंबई में दम तोड़ दिया था। वहीं, पुणे में भी एक ट्रैफिक कॉन्स्टेबल की मौत हो गई। दोनों पिछले कुछ दिनों से छुट्टी पर चल रहे थे। इससे पहले बुधवार को भी राज्य के अलग-अलग हिस्सों में तीन पुलिसकर्मियों की मौत हुई थी।

राज्य में इस समय 1666 पुलिसवाले संक्रमित हैं, इनमें से 183 ऑफिसर हैं और 1483 अन्य पुलिसकर्मी हैं। हालांकि, इसमें से 473 पुलिसकर्मी ठीक होकर घर जा चुके हैं। राज्य में 55 साल से ज्यादा उम्र के पुलिस कर्मियों को छुट्टी पर भेजा गया है।  वहीं, सरकार ने मृतक पुलिसकर्मी के परिवार को 65 लाख रुपए देने की घोषणा की है। शुक्रवार दोपहर तक राज्य में कोरोना संक्रमण संक्रमण से 16 पुलिसकर्मियों की मौत हुई है।

धारावी में 1,425 संक्रमित 

धारावी में 47 नए मामलों के साथ ही कुल मरीजों की संख्या 1,425 हो गई है। दादर में 5 नए मामलों के साथ कुल पीड़ितों की संख्या 192 और माहिम में 14 नए मामलों के साथ कुल मरीजों की संख्या 263 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 4,37,304 लोगों को घर में और 26,865 लोगों को अन्य स्थानों पर क्वारैंटाइन रखा गया है। 

रेड और कंटेनमेंट जोन को छोड़कर आज से कई हिस्सों में बस सेवा शुरू

सरकार ने शुक्रवार से कुछ शर्तों के साथ रेड और कोविड-19 कंटेनमेंट क्षेत्रों को छोड़कर बाकी हिस्सों में अंतर-जिला बस सेवा शुरू करने का फैसला किया है। महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम (एमएसआरटीसी) ने गुरुवार शाम को एक बयान में कहा कि बस सेवा कुछ शर्तों के साथ बहाल होगी। 2 महीने से निगम की बसें मुंबई तक ही सीमित हैं जहां वह आपात सेवा और जरूरी सेवाओं से जुड़े कर्मियों को लाने और छोड़ने के काम में लगी हैं।

नियमों में मिली छूट के बाद हर दिन वेस्टर्न एक्सप्रेसवे पर गाड़ियों की लंबी-लंबी कतार नजर आ रही है। यह तस्वीर गुरुवार शाम की है।

धारावी में ध्वस्त हुई उपचार प्रणाली: मंत्री

राज्य के गृह निर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखकर कहा- धारावी की पहचान मुंबई के कोविड-19 राजधानी (कोरोनावायरस) के रूप में होने लगी है। धारावी जैसी बस्तियों में स्वास्थ्य देखभाल का कोई मानक नहीं है, उपचार प्रणाली पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है। 

नीट-पीजी: सीईटी सेल की एडवाइजरी जारी
कोरोना के मद्देनजर राज्य सीईटी सेल ने विद्यार्थियों और शिक्षण संस्थानों के लिए एक एडवाइजरी जारी की है। इसमें कहा गया है कि महामारी को देखते हुए नीट-पीजी 2020 के विद्यार्थियों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इसमें विद्यार्थियों से जरूरी दस्तावेज जमा करने के लिए कहा गया है। सीईटी सेल ने कहा कि अगर कोई विद्यार्थी कुछ दस्तावेज जमा नहीं कर पाते हैं या पूरी फीस जमा करने विफल रहते हैं, तो वे उनसे लिखित एक अंडरटेकिंग लें। इसके बाद जब भी विद्यार्थी कॉलेज आए, तब उससे दस्तावेज या बकाया फीस लें।

शहर के भिंडी बाजार इलाके में स्थित एक मस्जिद को रमजान के दौरान लाइट्स से सजाया गया है। लॉकडाउन के कारण यहां लोग नजर नहीं आ रहे हैं। आम दिनों में यहां भारी भीड़ रहती है। 
Categories
sports

एक दिन में 2345 मरीज मिले, संक्रमितों का आंकड़ा 40 हजार के पार; अब तक 4 लाख से ज्यादा लोग क्वारैंटाइन


  • राज्य में अब तक 10 हजार से ज्यादा ठीक हुए; संक्रमण से दो और पुलिसकर्मियों की मौत
  • धारावी में बुधवार को संक्रमण के 25 नए मामले सामने आए, यहां कुल संक्रमितों का आंकड़ा 1378 पर पहुंचा
  • राज्य में अब तक संक्रमण से 1390 लोगों की जान जा चुकी है, इनमें सबसे ज्यादा मुंबई में 841 मरीजोंं ने दम तोड़ा

दैनिक भास्कर

May 21, 2020, 09:34 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में संक्रमितों की संख्या 40 हजार पार कर गई है। गुरुवार को 2345 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 41 हजार 642 हो गई है। गुरुवार को 64 लोगों की मौत भी हुई है। महाराष्ट्र में अब तक कोरोनावायरस के कारण 1454 लोगों की जान जा चुकी है।

राज्य में करीब 4 लाख लोग क्वारैंटाइन
संक्रमण को रोकने के लिए राज्य सरकार अब क्वारैंटाइन पर जोर दे रही है। पिछले 9 दिन में राज्य में होम क्वारैंटाइन के मामलों में 58% की बढ़ोतरी हुई है, वहीं इंस्टिट्यूशनल क्वारैंटाइन के मामलों में यह बढ़ोतरी 46 प्रतिशत है। 19 मई को होम क्वारैंटाइन में रहने वालों की संख्या 3 लाख 86 हजार 192 और इंस्टिट्यूशनल क्वारैंटाइन में रहने वालों का आंकड़ा 21 हजार 150 हो गया है। इस हिसाब से कुल क्वारैंटाइन लोगों की संख्या 4 लाख तक पहुंच गई है। 

मुंबई में केंद्रीय बल द्वारा सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालने के बाद बुधवार को चूनाभट्टी इलाके में फ्लैग मार्च किया गया।

मुंबई: धारावी में अब तक 1378 संक्रमित मरीज, 56 की मौत 

  • धारावी में बुधवार को कोरोना संक्रमण के 25 नए मामले सामने आए। इससे क्षेत्र में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 1378 हो गई। धारावी में अब तक कुल 56 लोगों की संक्रमण से जान जा चुकी है।
  • कोरोना से मुंबई में दो और पुलिसकर्मियों की बुधवार को मौत हो गई। इनमें से एक हवलदार विक्रोली पार्कसाइट पुलिस स्टेशन में तैनात थे, जबकि दूसरे की पोस्टिंग सहार में ट्रैफिक पुलिस में थी। हवलदार को करीब एक सप्ताह पहले अस्पताल में भर्ती कराया गया था। ट्रैफिक सिपाही की तबीयत दो दिन पहले बिगड़ी। सरकार ने ऐलान किया है कि, जिन पुलिसकर्मियों की मौत कोरोना संक्रमण के चलते होगी उनके परिजनों को 65 लाख का आर्थिक अनुदान दिया जाएगा। साथ ही परिवार एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी। 
मुंबई के बांद्रा टर्मिनस स्टेशन के बहार धूप से बचने के लिए अपने बच्चों के साथ छाते के नीचे बैठा एक प्रवासी मजदूर।

बिना अनुमति छुट्टी पर जाने पर अधिकारी पर केस दर्ज 

अहमदनगर उप क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) से एक मोटर वाहन निरीक्षक (एमवीआई) के खिलाफ लॉकडाउन के दौरान आदेशों की अवहेलना कर मुख्यालय से बाहर जाने के लिए मामला दर्ज किया गया है। निरीक्षक कथित रूप से कलेक्टर की पूर्व अनुमति के बिना छह मई से मेडिकल लीव पर पुणे गए थे। पुणे रेड जोन में है। कलेक्टर ने चार मई को निर्देश दिया था कि कोई भी अधिकारी बिना पूर्व अनुमति के जिले से बाहर न जाएं।।

मुंबई के बांद्रा टर्मिनस स्टेशन के बाहर ट्रेन पकड़ने के लिए लाइन में लगे कुछ प्रवासी मजदूर। 
बीकेसी मैदान में बने क्वारैंटाइन सेंटर पर जाते स्वास्थ्यकर्मी। यहां कोरोना पेशेंट्स के लिए एक हजार बेड लगाए गए हैं।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बुधवार को फिल्म उद्योग से जुड़े निर्माताओं से लॉकडाउन के दौरान सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए सीमित लोगों के साथ लंबित शो या फिल्मों की शूटिंग शुरू करने के लिए योजना तैयार करने को कहा है। हालांकि, ठाकरे ने सिनेमाघरों को फिर से खोलने पर कोई फैसला नहीं लिया। कोरोना के कारण मार्च से ही फिल्मों की शूटिंग और अन्य निर्माण कार्यों को रोक दिया गया था।

लॉकडाउन में मिली छूट के बाद कांदिवली इलाके में बुधवार शाम ऑटो रिक्शा की भारी भीड़ सड़कों पर नजर आई।

 

मुंबई में बीकेसी में देश का पहला ओपन हॉस्पिटल तैयार किया गया है। 
Categories
sports

100 से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज हुए गायब, समोसा पार्टी के आरोप में दो गिरफ्तार; एक दिन में सबसे ज्यादा 76 लोगों की हुई मौत


  • कोरोना से राज्य में अब तक 1325 लोगों की मौत हो चुकी है
  • राज्य में 2127 नए पॉजिटिव केस मिले, संख्या 37 हजार 136 हुई

दैनिक भास्कर

May 20, 2020, 11:19 AM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। मुंबई में ठाणे, नवी मुंबई और पुणे में महामारी से कोई राहत नहीं मिल रही है। बुधवार तक राज्य में 2127 लोग पॉजिटिव मिले, जिसके साथ संक्रमितों की संख्या 37 हजार 136 हो गई। 24 घंटे में 76 लोगों की मौत हुई, जिसमें मुंबई के 43 मरीज थे। कोरोना से राज्य में अब तक 1325 लोगों की मौत हो चुकी है। मुंबई में महामारी ने 800 लोगों की जान ली है। 

मंगलवार को मुंबई में 1411 मामले सामने आए, जिसके साथ महानगर में कोरोना मरीजों की संख्या 22746 तक जा पहुंची है। स्वस्थ होकर अब तक 9639 लोग घर लौट चुके हैं। इनमें से 1202 लोग मंगलवार को डिस्चार्ज किए गए। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि राज्य में कोरोना के 26164 एक्टिव मरीज हैं। 

मुंबई के केईएम हॉस्पिटल में एक कोरोना संक्रमित मरीज को ले जाते कुछ स्वास्थ्यकर्मी, यहां सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज भर्ती हैं।

धारावी में 1353 संक्रमित

एशिया की सबसे बड़ी झोपडपट्टी धारावी में संक्रमितों की संख्या 1353 हो गई है। मंगलवार को धारावी में 26 लोग पॉजिटिव पाए गए। नवी मुंबई मनपा क्षेत्र में कोरोना मरीजों की संख्या डेढ़ हजार के स्तर को पार कर गई है। माहिम में 234 और दादर में 176 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। धारावी के पास स्थित नेचर पार्क में बीएमसी 200 बेड का कोविड केयर सेंटर बनाएगी।

धारावी के गांधी मैदान में एक महिला की जांच का नमूना लेता हुआ एक स्वास्थ्यकर्मी।

गायब हुए 100 से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज

कोरोना संकट से जूझ रही देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में 100 से ज्यादा कोरोना मरीज गायब हैं। बीएमसी प्रशासन और पुलिस लापता मरीजों की खोजबीन में जुटी है। चिंताजनक यह कि गायब मरीजों ने जो पता ठिकाना दिया था, वह गलत पाया गया है। आधार कार्ड सहित अन्य माध्यमों से इनकी खोजबीन की जा रही है। गायब मरीज नहीं मिले तो बीएमसी के लिए यह महासंकट बन सकता है। क्योंकि इन मरीजों के संपर्क में आने से बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो सकते हैं।

सीसीटीवी फुटेज के सहारे हो रही तलाश 
बीएमसी के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी ने माना कि 100 से ज्यादा कोरोना मरीज लापता हैं। उन्होंने बताया कि गलत मोबाइल नंबर के कारण गायब मरीजों से संपर्क नहीं हो पा रहा। अधिकांश ने पता भी सही नहीं दिया है। इस कारण उन्हें खोजने में दिक्कत हो रही है। जानकारी अनुसार, गायब मरीजों का कोरोना टेस्ट बांद्रा की एक कंपनी ने किया था। इनके पते में बांद्रा का उल्लेख है। लापता लोगों का पता लगाने के लिए निजी लैब के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं। विक्रोली से 12, अंधेरी पूर्व से 27 और धारावी से 29 कोरोना मरीज लापता हैं।

सरकार ने तीन जोन में पूरे महाराष्ट्र को बांटा

राज्य में कोरोना वायरस के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए 31 मई तक बढ़ाए गए लॉकडाउन के चौथे चरण के लिए राज्य सरकार ने मंगलवार को नई गाइडलाइंस जारी कर दीं। लॉकडाउन-3 का समय पूरा होने के 2 दिन बाद जारी की गईं ये गाइडलाइंस 2 दिन बाद यानी 22 मई से लागू होंगी। 

नई गाइडलाइंस के अनुसार, राज्य में अब तीन जोन होंगे। एक रेड जोन, दूसरा नॉन रेड जोन और तीसरा कंटेनमेंट जोन। नॉन रेड जोन को ही ग्रीन जोन या ऑरेंज जोन समझा जाएगा। इसके अलावा कंटेनमेंट एरिया में सिर्फ अत्यावश्यक वस्तुओं और दवाओं की आपूर्ति को मंजूरी दी गई है। हालांकि, रेड जोन में कई रियायतों की घोषणा की गई है।

ये रहेंगे बंद
• प्लेन, ट्रेन, मेट्रो, अंतरराज्यीय सड़क परिवहन
• टैक्सी, कैब, ऑटोरिक्शा
• अंतर्जनपदीय बस सेवा, जिले के अंदर बस सेवा
• शिक्षण संस्थान, होटल, शॉपिंग मॉल्स
• धार्मिक स्थल और भारी भीड़
• 60 साल से ज्यादा, 10 साल से कम, गर्भवती महिलाओं का बाहर जाना
• प्राइवेट कंस्ट्रक्शन साइट्स
• प्राइवेट ऑफिस 
• कृषि संबंधित गतिविधियां
• नाई की दुकान, सैलून, स्पा

ये खुले रहेंगे

• टू वीलर्स, फोर वीलर्स (जरूरी सेवाएं) 
• मेडिकल क्लिनिक, ओपीडी
• जरूरी सामान की आपूर्ति
• जरूरी शहरी उद्योग 
• शहरी क्षेत्र में निर्माण कार्य 
• शहरी एकल दुकानें (सीमित)
• जरूरी सामान की दुकानें 
• गवर्नमेंट ऑफिस (5% कर्मचारी)
• बैंक और फाइनेंस
• कुरियर और पोस्टल 
• मेडिकल इमरजेंसी के लिए आवाजाही
• सब रजिस्ट्रार, आरटीओ

होम डिलिवरी
• रेस्टोरेंट से फृड
• ई-कॉमर्स (जरूरी-गैर जरूरी सामान)
• शराब

मुंबई में समोसा पार्टी के आरोप में दो गिरफ्तार
मुंबई में लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाती हुई तस्वीर सामने आई है, यहां घाटकोपर में पंतनगर पुलिस ने वल्लभ लेन में स्थित कुकरेजा पैलेस हाउसिंग सोसायटी ने लोगों के लिए समोसा पार्टी का आयोजन किया। इस मामले में मुंबई पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है और दो लोगों को गिरफ्तार भी किया गया। हालांकि, दोनों को जमानत पर रिहा कर दिया गया है और आगे की जांच की जा रही है। जांच में सामने आया है कि पार्टी के दौरान यहां तेज संगीत भी बज रहा था।

रेजिडेंट डॉक्टर्स ने क्वारैंटाइन की अवधि 6 दिन करने की मांग की 

मुंबई के रेजिडेंट डॉक्टरों ने प्रशासन से मांग की है कि 7 दिन काम करने के बाद उन्हें कम से कम 6 दिन का क्वारैंटाइन दिया जाए। ऐसा न होने से न केवल डॉक्टरों में बीमारी फैलने का डर रहेगा, बल्कि इसका हेल्थ वर्कर्स पर नकारात्मक असर भी पड़ सकता है। इस मांग में बीएमसी के केईएम, सायन और नायर के रेजिडेंट डॉक्टर शामिल हैं। इससे पहले बीएमसी ने एक सर्कुलर जारी किया था। इसके अनुसार, कोरोना ड्यूटी करने वाले डॉक्टरों को 5 दिन काम के बाद दो दिन क्वारन्टीन में रहना होगा, जबकि उसके बाद फिर से उन्हें काम पर लौटना होगा।

1972 लोग वंदे भारत अभियान के तहत मुंबई लौटे
वंदे भारत अभियान के तहत अबतक 1,972 लोग विदेश से मुंबई लौटे हैं। मुख्यमंत्री ने एक बयान में कहा कि 10 देशों से 13 विशेष उड़ानों के जरिये 1,972 भारतीय मुंबई लौटे हैं जबकि 27 और उड़ानों के शहर में उतरने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि इनमें से 822 लोग मुंबई के ही रहने वाले हैं जबकि 1,025 महाराष्ट्र के अलग-अलग हिस्सों से संबंध रखते हैं। इसके अलावा, 125 लोग अन्य राज्यों के हैं। बयान के अनुसार, लंदन से 653, सिंगापुर से 243, मनीला से 150, सैन फ्रैंसिस्को और ढाका से 107-107, न्यूयॉर्क से 208, कुआलालंपुर से 201, शिकागो से 195, कुवैत से दो, अदीस अबाबा से 78, काबुल से 12 और मस्कट से 16 लोग वापस लौटे हैं। 

कचरामुक्त रखने के लिए नवी मुंबई को लगातार दूसरे साल 5 स्टार 

कोरोना संकट काल के बीच एक राहत भरी खबर यह सामने आई है कि नवी मुंबई को लगातार दूसरे वर्ष 5 स्टार रेटिंग से मिली है। यह रेटिंग देश में कचरामुक्त हुए शहरों को मिलती है। इस श्रेणी में 7 स्टार तक की रेटिंग मिलती है। नवी मुंबई के मनपा आयुक्त अण्णासाहेब मिसाल ने खुशी जताते हुए कहा कि हम 7 स्टार रेटिंग प्राप्त करने के लिए लगातार प्रयत्नशील रहेंगे। आयुक्त ने नवी मुंबई की समस्त जनता को बधाई व धन्यवाद दिया है। 

फिल्म एसोसिएशन ने उद्धव से पोस्ट-प्रोडक्शन फिर शुरू करने की अनुमति मांगी
फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉइज (एफडब्ल्यूआईसीई) ने मंगलवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर फिल्मों, शो और अन्य मनोरंजन कार्यक्रमों के पोस्ट-प्रोडक्शन (शूटिंग के बाद के काम) को फिर से शुरू करने की अनुमति मांगी है। पांच लाख से अधिक सदस्यों के साथ 32 विभिन्न कला विभागों की मूल संस्था एफडब्ल्यूआईसीई ने कहा कि कई निर्माताओं ने कुछ परियोजनाओं में करोड़ों रुपये का निवेश किया है। लेकिन लॉकडाउन के कारण वे सभी परियोजनाएं लंबित हैं।

Categories
sports

आज से भाजपा का ‘महाराष्ट्र बचाओ’ आंदोलन, 20 लाख लोगों ने वापस जाने के लिए किया आवेदन; यवतमाल में सड़क हादसे में 4 मजदूरों की मौत


  • एमएमआरडीए द्वारा तैयार किया गया एक हजार बेड का हॉस्पिटल बीएमसी को हस्तांतरित हो गया
  • कोरोना संक्रमण के बिना लक्षण वाले मरीजों पर आयुर्वेद का मैनॉल सिरप का ट्रायल किया जाएगा

दैनिक भास्कर

May 19, 2020, 11:06 AM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,033 मामले सामने आए। 51 लोगों की मौत भी हो गई। राज्य में संक्रमितों की संख्या 35 हजार को पार कर गई, जबकि कुल 1249 लोगों की मौत हो चुकी है। अब तक 35058 केस सामने आए। इसमें 25392 एक्टिव केस हैं। बृहन्मुंबई महानगरपालिका के मुताबिक मुंबई में अब तक 21152 केस सामने आए, इनमें 757 की मौत हो चुकी है।

उद्धव सरकार के खिलाफ आज से ‘महाराष्ट्र बचाओ’ आंदोलन
कोरोना संक्रमण के बीच आज (मंगलवार) से भारतीय जनता पार्टी राज्य में ‘महाराष्ट्र बचाओ’ आंदोलन शुरू करने जा रही है। इसके तहत महाविकास आघाडी सरकार के फैसलों के खिलाफ भाजपा के जनप्रतिधि, पदाधिकारी जिले के कलेक्टर और तहसीलदार को ज्ञापन देंगे। शुक्रवार को पार्टी के सभी कार्यकर्ता, पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि हाथ में तख्तियां लेकर खड़े रहेंगे। उन तख्तियों पर सरकार के विरोध में नारे लिखे होंगे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि उद्धव सरकार कोरोना को रोकने में असफल रही है।

अपने गृह राज्य जा रहे प्रवासी मजदूरों की भीड़ सीएसटी स्टेशन पर देखने को मिली। यहां कुछ संस्थाओं ने इनके खाने का इंतजाम किया था।

20 लाख मजदूरों ने घर वापसी के लिए किया आवेदन
मुंबई से लेकर राज्यभर में 20 लाख ऐसे मजदूर हैं, जो अपने गृह राज्य जाने के लिए कोशिश कर रहे हैं। इसमें ज्यादातर उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चित बंगाल के मजदूर हैं। अब तक करीब 3 लाख मजदूरों को महाराष्ट्र सरकार ने उनके राज्यों में भेजा है। इसके अलावा सरकार के पास उन मजदूरों का कोई रिकॉर्ड नहीं है, जो अपने निजी वाहन से या पैदल चले गए हैं। इसकी पुष्टि राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख की ओर से की गई है।

यवतमाल में ट्रक और बस की टक्कर में चार की मौत
महाराष्ट्र के सोलापुर में स्टेट ट्रांसपोर्ट की एक बस हादसे का शिकार हो गई। इसमें अब तक 3 प्रवासी मजदूरों और एक बस ड्राइवर की मौत हुई है। बस में झारखंड के प्रवासी मजदूर सवार थे। घायल मजदूरों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बस प्रवासियों को लेकर झारखंड की ओर जा रही थी। बस ने डंपर को पीछे से टक्कर मारी है। 15 लोग घायल हैं। बताया जा रहा है कि आरणी तहसील में डंपर और राज्य परिवहन की बस में टक्कर हुई। 

बस पकड़ने के लिए लाइन में लगे प्रवासी मजदूरों को सोशल डिस्टेंस बनाने के लिए समझाते हुए पुलिस वाले। राज्य में अब तक 20 लाख लोगों ने बाहर अपने राज्यों तक जाने का आवेदन किया है।

1026 बेड का हॉस्पिटल बीएमसी को सौंपा गया 

कोरोना मरीजों के इलाज के लिए एमएमआरडीए द्वारा तैयार किया गया एक हजार बेड का हॉस्पिटल बीएमसी को हस्तांतरित हो गया। सोमवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में एमएमआरडीए के आयुक्त आरए राजीव ने बीएमसी कमिश्नर आईएस चहल को कोविड 19 के लिए बने स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) को सौंपा। यह स्वास्थ्य केंद्र 1026 बेड का है। कुल 18 वॉर्ड में प्रत्येक में 28 बेड हैं। 504 बेड के साथ ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध है। इसी तरह 9 वॉर्ड में प्रत्येक में 5 बेड हैं। इस तरह 522 बेड है, जो बिना ऑक्सीजन के है। साथ में 10 मोबाइल आईसीयू बेड है। अभी यहां 13 डॉक्टर, 8 नर्स और 14 वॉर्डबॉय हैं।

कोरोना लॉकडाउन के बीच मुंबई के फाइव गार्डन में बने ओपन जिम में कसरत करता एक शख्स। यहां जिम को बंद रखा गया है।

कोरोना लेकर अपने गांव न जाएं प्रवासी मजदूर: उद्धव
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जनता से अपील की है कि वे कोरोना लेकर अपने गांव-घर न जाएं। वह सोमवार को राज्य की जनता को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा, राज्य के जो हिस्से ग्रीन जोन हैं उन्हें सुरक्षित रखना है। उन्हें रेड जोन नहीं बनने देना है। जो अभी रेड जोन हैं, उन्हें ग्रीन जोन में बदलना है। इसीलिए रेड जोन में लॉकडाउन के दौरान लगाई गई पाबंदियों में कोई ढील नहीं दी जाएगी।

‘मैं महाराष्ट्र में अन्य देशों जैसी स्थिति उत्पन्न नहीं होने देना चाहता’
मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ाने के फैसले का समर्थन किया। कहा- ‘जिन देशों में लॉकडाउन हटाने की जल्दबाजी की गई, वहां फिर सब कुछ बंद कर देना पड़ा। मैं महाराष्ट्र में ऐसी स्थिति पैदा नहीं होने देना चाहता। अगर लॉकडाउन बढ़ाने के लिए कोई मेरी आलोचना करता है, तो वह भी मुझे स्वीकार है।’ लॉकडाउन बढ़ाकर किसी को खुशी नहीं मिल रही, लेकिन कोरोना की चेन तोड़ने के लिए फिलहाल यही एकमात्र उपाय है। उद्धव ने कहा- ‘अप्रैल में महाराष्ट्र में कोरोना के जो संभावित आंकड़े बताए जा रहे थे, उन्हें सुनकर डर लगने लगा था। मगर हमने उन आंकड़ों को काफी हद तक झूठा साबित कर दिया। मैं आंकड़ों पर नहीं जाना चाहता। मेरा फोकस लोगों की परेशानी कम करने और ज्यादा से ज्यादा राहत देने पर है।’ 

आयुर्वेद के मैनॉल सिरप का मरीजों पर ट्रायल
कोरोना संक्रमण के बिना लक्षण वाले मरीजों पर आयुर्वेद का मैनॉल सिरप का ट्रायल किया जाएगा। शुरू में यह ट्रायल सिर्फ 100 मरीजों पर किया जाएगा। इसके परिणामों का मूल्यांकन किया जाएगा, इसके बाद इसे अन्य लोगों को भी दिया जाएगा। बीमारी में आयुर्वेदिक दवाओं का असर देखने के लिए चरक फार्मा की ओर से यह विशेष ट्रायल किया जाएगा, इसके अलावा लोगों को हर्बल गार्गल भी दिया जाएगा।

कोरोना लॉकडाउन के बीच मुंबई में समुद्र किनारे का एक नजारा। आम दिनों में प्रदूषण के कारण यह इतना साफ़ नजर नहीं आता था।

1 से 31 जुलाई के बीच आयोजित होंगी मुंबई यूनिवर्सिटी में परीक्षाएं
यूजीसी गाइडलाइंस के अनुसार, मुंबई विश्वविद्यालय ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन के सभी कोर्सों के अंतिम वर्ष के अंतिम सत्र की परीक्षा 1 से 31 जुलाई तक आयोजित करेगा। विश्वविद्यालय के अनुसार, 13 मार्च तक जितना पाठ्यक्रम विश्वविद्यालय के विभागों और कॉलेजों में पढ़ाया गया है, उतने में से ही परीक्षा में प्रश्न पूछे जाएंगे। जो विद्यार्थी पिछले साल दो से अधिक विषयों में एटीकेटी की वजह से प्रवेश नहीं ले पाए थे, उन्हें अगले शैक्षणिक वर्ष में प्रवेश दिया जाएगा, लेकिन ऐसे विद्यार्थियों को अगला शैक्षणिक वर्ष शुरू होने के 120 दिन के भीतर परीक्षा देनी होगी। जुलाई में होने वाली परीक्षा के लिए टाइम टेबल 20 जून के बाद जारी होगा।

केंद्रीय सुरक्षा बलों की 10 टीमें मुंबई पहुंचीं
केंद्रीय सुरक्षा बलों की 10 टीमें मुंबई पहुंच गई हैं। इनमें रैपिड एक्शन फोर्स की 5, सीआईएसएफ की 3 और सीआरपीएफ की 2 टुकड़ियां शामिल हैं। हर टुकड़ी में 100 सुरक्षाकर्मी होते हैं। महाराष्ट्र सरकार ने 20 टुकड़ियां मांगी थीं। राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि इन्हें मुंबई, पुणे, औरंगाबाद, मालेगांव और अमरावती में तैनात किया जाएगा।

दिल्ली से लौटे महाराष्ट्र के 1600 छात्र
दिल्ली में यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे 1600 विद्यार्थियों को महाराष्ट्र वापस लाया गया। भुसावल, मुंबई, ठाणे, नासिक और पुणे के कई स्ट्डेंट्स दिल्ली में फंस गए थे। कल्याण के सांसद डॉ. श्रीकांत शिंदे को जब इस बारे में पता चला, तो उन्होंने विद्यार्थियों से बात की और फिर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को सूचित किया। सरकार ने केंद्र से बात की और फिर ट्रेन से इन स्टूडेंट्स को वापस लाया गया। विद्यार्थियों की ट्रेन शनिवार रात दिल्ली से कल्याण आई। 

बीड जिले में भूख से हुई मजदूर की मौत 

जिले में एक 40 वर्षीय मजदूर का शव एक गांव से बरामद हुआ है। उसकी पहचान पिंटू मनोहर पवार के तौर पर हुई। पवार पुणे से परभानी जिला स्थित अपने घर जाने के लिए पैदल चला था। पुलिस ने बताया कि जब मजदूर के परिवार से संपर्क किया गया तो पता चला कि वह लोग शव लेने नहीं आ सकते हैं। ऐसे में पुलिस ने ही पवार का अंतिम संस्कार किया। पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, प्रथमदृष्टया पवार की मौत भूख से होने की आशंका है। अटॉप्सी की रिपोर्ट के बाद स्थिति और स्पष्ट होगी।

लापरवाही: महिला की जगह परिजनों को सौंपा गया पुरुष का शव 
नई मुंबई के उलवे इलाके के एक अस्पताल में बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है। अस्पताल के शवगृह में मोहम्मद उमर शेख (29) नाम के व्यक्ति का शव, काजल सूर्यवंशी (18) नाम की लड़की के परिवार को सौंप दिया गया। लड़की के परिवार ने शव बिना देखे जला दिया। मामले का खुलासा तब हुआ जब शेख के परिजन शव लेने अस्पताल पहुंचे। अब मामले की शिकायत वाशी पुलिस से की गई है। शेख मूल रूप से पश्चिम बंगाल के मालदा का रहने वाला था और नई मुंबई के उलवे इलाके में मजदूरी करता था। एक घर में अकेले रहता था। काम बंद होने के बाद उसने फल बेचकर गुजर बसर शुरू कर दी थी, लेकिन इसी बीच 9 मई को उसकी तबीयत खराब हुई। उसने एक दोस्त को फोन कर इसकी जानकारी दी, लेकिन दोस्त जब तक पहुंचा, उसकी मौत हो चुकी थी। 

Categories
sports

राज्य में अब कंटेनमेंट के साथ सीलबंद जोन भी होगा; ग्रीन में पब्लिक ट्रांसपोर्ट चलेंगे, रेड में निजी दफ्तर बंद


  • मुंबई में फिलहाल 661 कंटेनमेंट जोन और कुल 1110 सीलबंद इमारते हैं
  • सोमवार सुबह तक कोरोना संक्रमण के 33,053 पॉजिटिव केस हो चुके हैं

दैनिक भास्कर

May 18, 2020, 12:25 PM IST

मुंबई. देश में आज से लॉकडाउन का चौथा चरण यानी फेज-4 शुरू हो गया है, जो 31 मई तक चलेगा। देश में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित मुंबई समेत राज्य में अब कंटेनमेंट जोन के साथ सीलबंद जोन का विकल्प भी शामिल किया गया है। फिलहाल, अभी मुंबई के लिए बीएमसी ने आदेश जारी किए हैं। आज राज्य को लेकर भी सरकार की तरफ से गाइनलाइन जारी कर दी जाएगी। मुंबई में अभी 661 कंटेनमेंट जोन और कुल 1110 सीलबंद इमारतें हैं।

बाहरी व्यक्तियों का सोसाइटी में प्रवेश वर्जित 
ऐसा ही कुछ विकल्प पुणे और अन्य रेड जोन वाले जिलों के लिए रखा गया है। अगर किसी इमारत में कोरोना मरीज पाया जाता है तो पूरे इलाके के बजाय उस इमारत या फिर इमारत के कुछ हिस्से को सीलबंद किया जाएगा। इस नियम में हाउसिंग सोसाइटी को भी शामिल किया जाएगा। सीलबंद सोसाइटी में मेडिकल सुविधा के अलावा किसी भी प्रकार के वस्तु बेचने और अन्य सेवा दे रहे व्यक्तियों को प्रवेश के लिए सख्त मनाही रहेगी। 

रेड जोन में 15 जिले और ग्रीन में सिर्फ 5 जिले
लॉकडाउन 4.0 के दौरान महाराष्ट्र के सभी जिलों को तीन जोन में डिवाइड किया गया है। रेड जोन में 15 जिले रखे गए हैं। ऑरेंज जोन में 16 जिले हैं। जबकि ग्रीन जोन में मात्र 5 जिलों को रखा गया है। आज इसका आधिकारिक ऐलान संभव है। महाराष्ट्र सरकार की ओर से जारी निर्देश के मुताबिक ग्रीन जोन में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ केंद्र की ओर से लगाए गए प्रतिबंधों के अलावा सभी कामों और सेवाओं को शुरू कर दिया गया है।

रेड जोन में प्राइवेट ऑफिस बंद
ग्रीन जोन में सभी ऑफिस भी शुरू कर दिए गए हैं। इसके अलावा मध्यम और छोटे उद्योग शुरू किए जाने की भी ग्रीन जोन में अनुमति दी गई है। हालांकि, प्रतिबंधित क्षेत्रों और रेड जोन में वैसे ही कड़ाई जारी रहेगी। मुंबई और एमएमआर इलाके, पुणे को छोड़कर बाकी सभी जगहों पर सभी सरकारी और प्राइवेट दफ्तरों को 33% कार्यक्षमता के साथ खोला गया। पुणे और मुंबई में 5% सरकारी कर्मचारी ही दफ्तरों में रहेंगे, जबकि रेड जोन में प्राइवेट ऑफिस नहीं खुलेंगे। सरकार ने रेड जोन में स्थानीय प्रशासन को यह अधिकार दिया कि किस दुकान को खोलें और किसे नहीं। 

ग्रीन जोन में 50% क्षमता के साथ शुरू किए जाएंगे पब्लिक ट्रांसपोर्ट

केंद्र की ओर से जारी दिशा-निर्देशों में जहां राज्य सरकारों को यातायात की छूट देने की बात कही गई है। वहीं, महाराष्ट्र में एक जिले से दूसरे जिले में जाने पर मनाही जारी रहेगी। यानी ग्रीन जोन से ऑरेंज जोन या ऑरेंज जोन से रेड जोन में कोई भी व्यक्ति नहीं जा सकता। हालांकि, अत्यावश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के लिए यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा और उन्हें इसमें छूट मिलेगी। ग्रीन जोन में सार्वजनिक बसों और सार्वजनिक ट्रांसपोर्ट को शुरू कर दिया गया है। उन्हें क्षमता से 50% यात्री ले जाने की ही छूट होगी।

लॉकडाउन के बीच मुंबई से हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर पहुंचे प्रवासी मजदूर चेकिंग के बाद बाहर जाने का इंतजार करते हुए।

एक दिन में सबसे ज्यादा 2347 नए पॉजिटिव केस मिले

महाराष्ट्र में सोमवार सुबह तक कोरोना संक्रमण के 33,053 पॉजिटिव केस हो चुके हैं। बीते 24 घंटों के दौरान यहां एक दिन में सबसे ज्यादा 2347 नए केस सामने आए। जबकि 63 मरीजों ने दम तोड़ दिया। इसमें करीब 1600 पॉजिटिव मरीज सिर्फ मुंबई में मिले। मुंबई में अब तक कुल 20150 मरीज हो गए हैं। पूरे राज्य में अब तक कोरोना के 1198 मरीजों की जान गई। राहत की खबर यह है कि राज्य में अब तक कोरोना से ठीक हुए कुल 7688 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है। राज्य में 2,73,239 सैम्पल लिए गए थे, जिनमें 2,40,186 निगेटिव पाए गए।

मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे पर शराब खरीदने के लिए कतार में लगे लोग। इस दौरान लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग नदारद दिखी। 

धारावी में 44 नए केस

मुंबई के धारावी में कोरोना के 44 नए मामले मिले। यहां पर कुल मरीजों की संख्या अब 1242 हो गई है। अब तक धारावी में 56 लोगों की कोरोना से जान जा चुकी है। सरकार ने हाल ही में मुंबई की झुग्गियों में बड़े स्तर पर स्क्रीनिंग कराने का भी फैसला लिया है। संदिग्ध पाए जाने वाले लोगों को क्वारैंटाइन करने का निर्णय भी लिया।

कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए बीएमसी ने महालक्ष्मी रेसकोर्स में 200 बेड का क्वारैंटाइन सेंटर तैयार किया है।

प्राइवेट हॉस्पिटल्स के आईसीयू कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व होंगेमुंबई में संक्रमितों की संख्या 11 दिन में डबल होकर 20 हजार के पार पहुंच गई है। इस बीच बीएमसी ने कोविड -19 मरीजों के इलाज के लिए सभी प्रमुख निजी अस्पतालों में सभी आईसीयू बेड और 80% सामान्य बेड लेने की योजना बनाई है। हालांकि, इससे प्राइवेट ऑपरेटर नाराज हैं। उनका कहना है कि बिना कोरोना संक्रमितों का इलाज भी उतना ही जरूरी है।

कोरोना संक्रमणकाल के बीच मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस स्टेशन को रंगीन लाइट्स से रोशन किया गया।

केंद्र नहीं दे रहा रेलवे का 85 प्रतिशत किराया

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने रविवार को कहा कि महाराष्ट्र सरकार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में प्रवासी मजदूरों के भाड़े का पूरा खर्च वहन कर रही है। इसके साथ ही उन्होंने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के उस दावे को खारिज किया कि केंद्र टिकट खर्च का 85% भुगतान कर रहा है। देशमुख ने कहा- मैं वित्त मंत्री के इस दावे के बारे में सुनकर हैरान हूं कि केंद्र प्रवासी मजदूरों के टिकट का 85% वहन कर रहा है। यह तथ्यात्मक रूप से सही नहीं है। 

मुंबई से गोवा गए 4 यात्रियों में कोरोना संक्रमण

कोरोनामुक्त हुए गोवा में धीरे-धीरे दोबारा से संक्रमण अपने पैर पसार रहा है। रविवार को मुंबई से गोवा पहुंची ट्रेन में 4 यात्रियों में कोरोना पाया गया है। राज्य में कोरोना के कुल एक्टिव मामले 26 हो गए हैं। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने बताया कि मुंबई-गोवा ट्रेन में 100 सैंपल में 4 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उन्होंने कहा कि सैंपल को अंतिम पुष्टि के लिए गोवा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल की वायरोलॉजी लैब भेजा गया है।

बेस्ट के कर्मचारियों ने हड़ताल की घोषणा की
बेस्ट संयुक्त कामगार कृति समिति ने कर्मचारियों में कोरोना के मामले बढ़ने और सुरक्षा में चूक होने के चलते 18 मई से हड़ताल की घोषणा की थी। हालांकि, आज सुबह भी सड़कों पर कुछ बेस्ट बसें नजर आईं। अब तक बेस्ट के 120 कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें से 50 ठीक होकर घर आ चुके हैं। 8 कर्मचारियों को जान गंवानी पड़ी है। 

मुंबई में मास्क नहीं पहनने के 2 हजार से ज्यादा मामले दर्ज

मुंबई में बाहर निकलने पर मास्क नहीं पहनने पर जुर्माने का प्रावधान है। पुलिस के अनुसार, अब तक 2,098 मामले दर्ज किए गए हैं। मास्क नहीं पहनने को लेकर विवाद में कुर्ला इलाके में 6-7 लोगों ने 2 लोगों पर जानलेवा हमला कर दिया था। एंटाप हिल में पुलिस ने मास्क पहनने को लेकर कहा, तो करीब आधा दर्जन लोगों ने पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया। 2 लोग गिरफ्तार किए गए हैं। 3 पुलिसकर्मी जख्मी हैं। 

उधर, पुणे में रविवार को कोरोना संक्रमण के 223 नए मामले सामने आए। यहां कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 4,018 हो गए। एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि कोविड-19 से 11 और लोगों की मौत होने के साथ कुल मृतक संख्या बढ़कर 206 हो गई। उन्होंने बताया कि पुणे नगर निगम सीमा क्षेत्र में 209 मामले और पड़ोस के पिंपरी-चिंचवड में 8 और ग्रामीण इलाकों के 6 मामले शामिल हैं।

Categories
sports

राज्य में 22 प्रतिशत मरीज हुए ठीक, मुंबई में बना देश का पहला ओपन हॉस्पिटल; कोरोना संक्रमण से एक और पुलिसकर्मी की मौत


  • मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन वानखेड़े स्टेडियम को क्वारैंटाइन सेंटर के रूप में तब्दील करने की योजना पर काम शुरू किया है
  • पिछले 24 घंटों में 49 और रोगियों की मौत के साथ ही मृतकों की संख्या 1,068 हो गई है

दैनिक भास्कर

May 16, 2020, 10:47 AM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में शनिवार तक कोरोना वायरस संक्रमण के लगभग 1,576 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमित लोगों की संख्या 29,100 हो गई। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में 49 और रोगियों की मौत के साथ ही मृतकों की संख्या 1,068 हो गई है। 49 में 36 लोगों की मौत मुंबई में हुई। इसके अलावा संक्रमण के 1,576 नए मामलों में से 933 मामले मुंबई से सामने आए हैं। बीएमसी के आंकड़ों के अनुसार, मुंबई में कोरोना के कुल मामले 17 हजार 512 हो गए हैं। राज्य में अब तक 2 लाख 50 हजार 436 लोगों की जांच की जा चुकी है।

राज्य में रिकवरी रेट 22 प्रतिशत

महाराष्ट्र में कोरोना से रिकवरी रेट 22 प्रतिशत पहुंच चुका है, जबकि मुंबई में यह 25 फीसद है। मुंबई में हर चौथा कोरोना मरीज ठीक हो रहा है। महाराष्ट्र में पिछले सात दिनों में 2,758 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं, जबकि मुंबई में सात दिनों में 1,799 मरीज ठीक हुए हैं। महाराष्ट्र में 14 मई तक 27,524 केस सामने आए। इलाज के बाद इनमें से 6,059 मरीज ठीक होकर घर गए। मुंबई से सटे उपनगरों में मीरा-भाईंदर का रिकवरी रेट सबसे बेहतर 60 फीसद है। उल्हासनगर में 81 में से सिर्फ 11 मरीज ठीक हुए हैं।

अपने घर जाने की आस में मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस स्टेशन के बाहर जमा कुछ प्रवासी मजदूर।

देश का पहला ओपन हॉस्पिटल बनकर तैयार हुआ 

मुंबई के पश्चिमी उपनगर बांद्रा इलाके के बीकेसी में एमएमआरडीए मैदान में देश का पहला ओपन हॉस्पिटल लगभग बनकर तैयार है। 1008 बेड वाले इस ओपन हॉस्पिटल में मरीजों के रहने, ऑक्सीजन और मेडिकल की जांच की सुविधाएं दी गई हैं। शनिवार को ये अस्पताल शुरू हो सकता है। इस हॉस्पिटल में नॉन क्रिटिकल कोरोना मरीजों को भर्ती किया जाएगा। 

कोरोना के लिए तैयार किया जा रहा वानखेड़े स्टेडियम

मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन वानखेड़े स्टेडियम को क्वारैंटाइन सेंटर के रूप में तब्दील करने की योजना पर काम शुरू किया है। बीएमसी की ओर से इस संबंध में एक पत्र मिलने के बाद एमसीए के अधिकारी अब स्टेडियम को क्वारैंटाइन सेंटर बनाने की स्वीकृति देने की तैयारी कर रहे हैं। बीएमसी उपायुक्त हर्षद काले ने बताया कि स्टेडियम में 800 बेड्स का क्वारैंटाइन सेंटर बनाया जाएगा। यहां ऑक्सिजन और अन्य मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध कराने की तैयारी है। बीएमसी इससे पहले वर्ली स्थित नेशनल स्पोर्ट्स क्लब ऑफ इंडिया को भी क्वारैंटाइन सेंटर बना चुकी है।

मास्क लगाने को कहने पर पुलिसवालों पर हुआ हमला

जोन 4 के अंटॉप हिल पुलिस थाने के तहत मास्क लगाने को कहने पर स्थानीय लोगों ने 4 पुलिसकर्मियों पर जानलेवा हमला कर दिया। इनमें एक पीएसआई और एसआरपीएफ के दो जवान भी हैं। सभी को स्थानीय गैलेक्सी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस मामले में 17 आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उनमें से दो आरोपियों वसीम अहमद (22) और मो. अफजल खान (32) को गिरफ्तार कर लिया गया है।

मुंबई के बांद्रा स्टेशन के बाहर जमा प्रवासी मजदूरों की भीड़। स्टेशन में घुसने के दौरान ये सोशल डिस्टेंसिंग के नियम तोड़ते हुए दिखे।

अस्पतालों के लिए दो समन्वय समितियां

सरकारी और निजी अस्पतालों के बीच बेहतर समन्वय के लिए राज्य और जिला स्तर पर दो समितियों का गठन किया है। इंडियन मेडिकल असोसिएशन (आईएमए) के प्रतिनिधियों की महाराष्ट्र के मुख्य सचिव अजय मेहता के साथ हुई एक बैठक में यह फैसला लिया गया।  समितियां महामारी को नियंत्रित करने के लिए उठाए जा रहे कदमों और चिकित्सा दिशा-निर्देश संबंधी सभी जानकारियों को उपलब्ध कराए जाने संबंधी सरकार के सभी फैसलों को क्रियान्वित करने का काम करेंगी।

250 बसों को बनाया जाएगा एम्बुलेंस

कोरोना मरीजों को हॉस्पिटल और हाई रिस्क कॉन्टैक्ट वालों को क्वारैंटाइन सेंटर ले जाने के लिए एम्बुलेंस की कमी दूर करने के लिए बीएमसी ने 250 बसों को एम्बुलेंस बनाने का फैसला किया है। इनमें 50 बेस्ट बसें और 200 मिनी बसें शामिल हैं। अडिशनल कमिश्नर पी. वेलारासू ने बताया कि इनमें से आधी एम्बुलेंस बनकर तैयार हैं। बाकी शनिवार तक तैयार हो जाएंगी। इन एम्बुलेंसों को डिजास्टर कंट्रोल रूम से कंट्रोल किया जाएगा और वहीं से इनकी मंजूरी दी जाएगी।

कोरोना संक्रमण से एक और पुलिसकर्मी की मौत

देर शाम एक 57 वर्षीय मुंबई पुलिस के अधिकारी की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। मुंबई पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के जरिए ये जानकारी दी है। ट्वीट के अनुसार कोरोना के हाई रिस्क एज ग्रुप में शामिल मधुकर माने पिछले 15 दिनों से छुट्टी पर थे। मुंबई पुलिस ने उनके निधन की जानकारी देते हुए दुःख जाहिर किया है। बता दें कि अब तक महाराष्ट्र पुलिस के 10 कर्मचारियों की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है।

अपने-अपने राज्यों में जाने की आस लेकर रानीबाग इलाके में जमा प्रवासी मजदूर। 

1 लाख 36 हजार लोगों को बॉर्डर तक पहुंचाया गया

महाराष्ट्र में परिवहन अधिकारियों के अनुसार लगभग 1 लाख 36 हजार प्रवासियों को अलग-अलग राज्य की सीमाओं तक पहुंचा दिया गया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि कुल प्रवासियों में से लगभग 70 प्रतिशत को मध्य प्रदेश की सीमा पर उतार दिया गया है। 

नर्सों को धमकाने के मामले में तीन गिरफ्तार

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में कोविड-19 अस्पताल में कार्यरत एक नर्स को कथित तौर पर मोहल्ले के एक खास रास्ते को इस्तेमाल नहीं करने की धमकी देने के मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। एमआईडीसी सिडको पुलिस थाने के अधिकारियों ने बताया कि घटना सोमवार मध्यरात्रि की है। उन्होंने कहा कि एक कोविड-19 अस्पताल में काम करने वाली नर्स को कर्भरी हिवाले, सुरेश काले और योगेश कवडे ने आने-जाने के लिए एक खास सड़क का इस्तेमाल नहीं करने को कहा। आरोपियों के खिलाफ यौन उत्पीड़न और आपराधिक धमकी देने समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार किया गया है।

Categories
sports

नई दवाई से बीएमसी के हॉस्पिटल्स में कोरोना पेशेंट्स का इलाज, चव्हाण ने कहा-मंदिर ट्रस्ट के पास पड़े सोने को कब्जे में ले सरकार


  • संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या 975 हो गई है, वहीं बुधवार को 422 मरीज ठीक होकर हॉस्पिटल से डिस्चार्ज भी हुए हैं
  • मुंबई में मरने वालों की संख्या 596 हो गई है, यहां कोरोना के 800 नए मामले सामने आए हैं

दैनिक भास्कर

May 14, 2020, 10:37 AM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के गुरुवार तक 1,495 मामले सामने आए हैं। यह एक दिन में पॉजिटिव मिले मरीजों का सबसे बड़ा आकड़ा है। इसके अलावा,  संक्रमण से 54 मौतें भी हुईं हैं। इनमें मुंबई में 40 की जान गई।

राज्य में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 25,922 पहुंच गई है। वहीं संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या 975 हो गई है। वहीं, बुधवार को 422 मरीज ठीक होकर हॉस्पिटल से डिस्चार्ज भी हुए हैं। इसे मिलाकर कुल 5,547 मरीज अब तक ठीक हो चुके हैं।

मुंबई में एक दिन में सबसे ज्यादा 40 मौतें 
कोरोना की वजह से एक दिन में मुंबई में सबसे अधिक 40 मौतें हुई हैं। अब तक कोरोना के कारण 9 मई को सबसे अधिक 27 मौतें हुई थीं। बुधवार को वायरस ने 24 घंटे में 40 लोगों की जान करले अपना ही पिछला रेकॉर्ड तोड़ दिया। अब मुंबई में मरने वालों की संख्या 596 हो गई है। वहीं, कोरोना के 800 नए मामले सामने आए हैं। मुंबई में वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 15 हजार को पार कर गई है। कुल पीड़ितों की संख्या बढ़कर 15,581 हो गई है।

मंदिर ट्रस्ट के पास पड़े सोने को कब्जे में लेना चाहिये: अशोक चव्हाण

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने केंद्र सरकार से मांग की है कि राष्ट्र को आर्थिक संकट से उबारने के लिए देशभर के मंदिर ट्रस्टों के पास पड़ा सोना सरकार अपने कब्जे में ले ले। चव्हाण ने कहा कि यह सोना राष्ट्र की संपत्ति है और राष्ट्र के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। उन्होंने केंद्र सरकार को यह भी सुझाव दिया कि अगर केंद्र सरकार चाहे, तो 1 या 2% ब्याज पर यह सोना मंदिर ट्रस्टों से लिया जा सकता है। इस संदर्भ में चव्हाण ने अंतरराष्ट्रीय संस्था वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल का हवाला देते हुए कहा कि देश के मंदिर ट्रस्टों के पास लगभग 1 ट्रिलियन डॉलर अर्थात 75 लाख करोड़ रुपये मूल्य का सोना पड़ा हुआ है।

बांद्रा टर्मिनस के बाहर अचानक आई भारी भीड़ के बाद पुलिसवालों को उन्हें काबू में लाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

महाराष्ट्र में ग्राम सभाओं पर अगले आदेश तक रोक

महाराष्ट्र के ग्रामीण विकास मंत्री हसन मुशरिफ ने बताया कि राज्य सरकार ने गांवों में ग्राम सभाएं आयोजित करने पर अगले आदेश तक अस्थायी रोक लगाने का निर्णय किया है। मुशरिफ ने कहा कि गांवों में इस महीने अनिवार्य रूप से होने वाली ग्राम सभाएं अब आयोजित नहीं होंगी। बयान में कहा गया है कि एक वित्तीय वर्ष में कम से कम चार ग्राम सभाओं का आयोजन करना अनिवार्य है। ऐसा करने में असफल रहने पर सरपंच, उप सरपंच या ग्राम सेवक के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है। लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा।

‘टोसिलिजुमैब’नाम की नई दवाई का इस्तेमाल शुरू 

कोरोना संक्रमण रोकने के लिए बीएमसी के हॉस्पिटल में गंभीर रूप से बीमार चल रहे मरीजों को ‘टोसिलिजुमैब’ नाम का इंजेक्शन लगाया जा रहा है। बीएमसी अधिकारियों के मुताबिक, इससे मरीजों की स्थिति में सुधार भी देखने को मिला है। बीएमसी ने बताया है कि मुंबई के बीएमसी मेडिकल कॉलेज, सायन अस्पताल, नायर अस्पताल, केइएम और सेवन हिल्स अस्पताल में टोसिलिजुमब इंजेक्शन की शुरुआत कर दी गई है। अब तक कुल 40 मरीजों पर इसका उपयोग किया गया है जो इस वायरस से गंभीर रूप से प्रभावित थे और इनमें से 30 से ज्यादा मरीजों में उत्साहजनक परिणाम भी देखने को मिले हैं।

मुंबई के बांद्रा टर्मिनस पर ट्रेन शुरू होने की जानकारी मिलते ही हजारों की संख्या में लोग यहां पहुंचे थे। महिलाओं और बच्चों को कड़ी धुप में कतार में लगना पड़ा।

प्रवासी मजदूरों को घर भेजने के लिए राज्य सरकार देगी 54.7 करोड़

महाराष्ट्र में फंसे दूसरे राज्यों के मजदूरों को उनके घर भेजने तथा दूसरे राज्यों में अटके महाराष्ट्र के लोगों को यहां लाने के लिए ठाकरे सरकार ने 54.75 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। सरकार यह पैसा जिला कलेक्टर को मुहैया कराएगी, ताकि कलेक्टर मजदूरों को रेलवे का टिकट मुहैया करा सके।

15 मई से होगी शराब की ऑनलाइन डिलीवरी
महाराष्ट्र में शराब की दुकानों पर लोगों की भीड़ रोकने के लिए 15 मई से घर पर शराब की आपूर्ति शुरू की जाएगी। राज्य के आबकारी विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी किया। राज्य सरकार ने मंगलवार को शराब की होम डिलीवरी की अनुमति दी थी। राज्य के आबकारी विभाग द्वारा जारी सरकारी आदेश के अनुसार दुकान मालिकों ने तैयारी के लिए कुछ और समय मांगा था। सरकार के अनुसार इसलिए अब यह सर्विस शुक्रवार से शुरू होगी।

मुंबई में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए कैथोलिक जिमखाना क्लब में गत्तों से बने बेड लगाकार क्वारैंटाइन कक्ष का निर्माण किया गया है।

संजय राउत ने की मुंबई को अलग से आर्थिक पैकेज देने की मांग 

शिवसेना के नेता संजय राउत ने कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित मुंबई के लिए विशेष पैकेज दिए जाने की मांग की है। राउत ने कहा, “कामगार शहर छोड़कर जा रहे हैं, क्योंकि उनके पास यहां काम नहीं बचा है। देश की वित्तीय राजधानी के तौर पर मुंबई की महत्ता बनी रहनी चाहिए। केंद्र को मुंबई तथा नौकरियां पैदा करने वाले अन्य शहरों के लिए विशेष पैकेज की घोषणा करनी चाहिए।” उन्होंने कहा कि शिवसेना ने, मोदी की 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज संबंधी घोषणा का स्वागत किया है।

Categories
sports

राज्य सरकार ने 35 हजार कैदियों को छोड़ने का फैसला लिया, 42 हजार प्रवासी मजदूर घर भेजे गए, नियम तोड़ने वाले 1 लाख लोगों पर एफआईआर


  • महाराष्ट्र में बुधवार तक कोरोनावायरस संक्रमण के 1026 नए मामले सामने आए, राज्य में कुल मामले बढ़कर 24,427 हो गए
  • पुणे कोरोनावायरस का एक और हॉटस्पॉट है, यहां कुल 3,377 मामले सामने आए और 185 मरीजों की मौतें हुई हैं

दैनिक भास्कर

May 13, 2020, 11:43 AM IST

मुंबई.

महाराष्ट्र सरकार ने राज्यभर की जेलों में बंद कुल 35 हजार कैदियों में 17 हजार को अस्थायी पैरोल पर छोड़ने का फैसला लिया है। प्रदेश के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने मंगलवार को कहा कि सरकार ने यह फैसला हाल में मुंबई की ऑर्थर रोड जेल में 185 कैदियों के संक्रमित पाए जाने के बाद लिया है। सरकार की तरफ से बताया गया कि 5000 विचाराधीन कैदियों को पहले ही छोड़ा जा चुका है। इधर, राज्य के गृह विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि लगभग 42,000 प्रवासी मजदूर यहां से 35 ट्रेनों के जरिए अपने गृह राज्यों भेजे गए।केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस महीने की शुरुआत में अपने-अपने राज्यों में लॉकडाउन के कारण फंसे लोगों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन शुरू की थी।

 

महाराष्ट्र में बुधवार तक कोरोनावायरस के 1026 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में कुल मामले बढ़कर 24,427 हो गए। एक ही दिन में 53 लोगों की मौत हुई। 28 मौतें अकेले मुंबई में, जबकि पुणे और पनवेल में 6-6 की जान गई। राज्य में मरने वालों की संख्या बढ़कर 921 हो गई। अब तक अकेले मुंबई में 14,947 संक्रमित मामले सामने आए और 556 व्यक्तियों की मौत हुई है। 

महाराष्ट्र में अभी 18,381 एक्टिव केस

पुणे जोन में शामिल सिटी, ग्रामीण, प्रिंपी स्क्वायर, कोल्हापुर कोरोनावायरस का एक बड़ा हॉटस्पॉट बन गया, यहां कुल 3,377 मामले सामने आए और 185 व्यक्तियों की मौतें हुई हैं। इधर, मुंबई डिवीजन में कोविड के 18,337 मामले सामने आए और 603 व्यक्तियों की मौत हुई है। इसमें ठाणे शहर भी आता है। अब तक राज्य में कुल 5,125 लोग स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किए गए। अभी कुल 18,381 एक्टिव मरीज हैं। पूरे राज्य में अभी तक 2,21,645 लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है।

राज्य में पॉजिटिव होने का रेट 12%
महाराष्ट्र में कोरोना का पॉजिटिव रेट 12 प्रतिशत तक पहुंच चुका है। अब हर 100 सैंपल में से 12 सैंपल पॉजिटिव आ रहे हैं। शनिवार तक पॉजिटिव रेट 9 प्रतिशत और 20 अप्रैल तक 5 प्रतिशत था। डॉक्टरों के अनुसार, आने वाले समय में इसमें और बढ़ोतरी हो सकती है।  

मुंबई से उत्तर प्रदेश के लिए एक ऑटो ड्राइवर अपने पूरे परिवार के साथ निकला है। 

 

लॉकडाउन उल्लंघन के मामले में एक लाख लोगों पर केस 

महाराष्ट्र में लॉकडाउन के उल्लंघन के मामले में अब तक एक लाख 4 हजार मामले दर्ज किए गए हैं। इस संबंध में 19 हजार 838 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गृह मंत्री देशमुख ने बताया कि पुलिस पर हमले के 212 मामले हैं। इस संबंध में 750 लोगों को पकड़ा गया। पुलिस ने अवैध ट्रांसपोर्टेशन से संबंधित 1291 मामले दर्ज किए। इस सिलसिले में 56473 वाहनों को जब्त किया गया है और करीब 3 करोड़ 97 लाख रुपये का जुर्माना वसूला है।

धारावी में अब तक 31 लोगों की हुई मौत
एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती धारावी में बुधवार सुबह 46 नए संक्रमित और एक की मौत की पुष्टि हुई। यहां अब तक 962 केस मिले और मरने वालों की संख्या बढ़कर 31 हो गई। ये मामले माटुंगा लेबर कैंप, 90 फीट रोड, 60 फीट रोड, कुम्भरवाड़ा, ट्रांजिट कैंप, क्रॉस रोड, नाइक नगर और धारावी के कुछ अन्य इलाकों में सामने आए हैं। 

 

मुंबई में एक और पुलिसकर्मी की मौत 

सिवरी पुलिस स्टेशन में तैनात एएसआई मुरलीधर शंकर वाघमारे की कोरोना से मौत हो गई।अब तक महाराष्ट्र पुलिस डिपार्टमेंट के 8 लोगों की कोरोना से जान गई। इसमें 5 पुलिसकर्मी मुंबई के हैं जबकि एक-एक पुणे, सोलापुर और नासिक ग्रामीण से हैं। महाराष्ट्र में 90 अधिकारियों समेत 819 पुलिसकर्मी संक्रमण की चपेट में हैं। इनमें मुंबई पुलिस विभाग के 400 पुलिसकर्मी शामिल हैं।

पुणे से मनमाड की पैदल यात्रा के दौरान एक महिला ने रास्ते में बच्चे को जन्म दिया। जानकारी मिलते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची और महिला को हॉस्पिटल तक पहुंचाया। 

लॉकडाउन की वजह से एक शख्स ने की खुदकुशी 

नवी मुंबई में 25 साल के एक युवक ने अकेलेपन की वजह से मंगलवार को खुदकुशी कर ली। सूरज सुरवे नामक यह युवक कोपर खैराने के सेक्टर चार इलाके में स्थित अपने घर में पंखे से लटका मिला। युवक इंजीनियर था और लॉकडाउन की वजह से घर से ही काम कर रहा था जबकि उसका परिवार अपने गृह नगर में फंसा था। पुलिस को घटनास्थल से सुसाइड नोट मिला है जिसमें उसने लिखा है कि वह अकेला था और लॉकडाउन की वजह से परिवार से नहीं मिल पा रहा था। 

मुंबई में कोरोना संक्रमण के फैलाव को देखते हुए कृषि उत्त्पन बाजार समिति मार्केट को विषाणुरहित बनाने का काम किया गया। 

 

 राज्य में शुरू होगी शराब की होम डिलीवरी 

सरकार ने दुकानों पर भीड़ को रोकने के लिए शराब की होम डिलीवरी की मंजूरी दे दी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा- गृह विभाग का आदेश तभी प्रभावी होगा जब इस संदर्भ में दिशा-निर्देशों को अंतिम रूप दे दिया जाएगा। इसका मकसद दुकानों पर भीड़ कम करना और वायरस के प्रसार को रोकना है। सरकार अगले दो दिनों में निर्देश जारी करेगी। जिन लोगों को पीने की अनुमति है, वही होम डिलीवरी के लिए ऑर्डर कर सकते हैं। शराब की दुकानों पर फोन से ऑर्डर दिया जा सकेगा। एक व्यक्ति अधिकतम 12 बोतल देश में निर्मित विदेशी शराब का ऑर्डर दे सकता है। घर पर विभिन्न तरह की शराब रखने के नियमों के बारे में आबकारी विभाग की वेबसाइट पर जानकारी उपलब्ध है।

सिंधुदुर्ग जिले में मंगलवार शाम से रुक-रुक कर बारिश हो रही है। इससे फसलों को बड़े नुकसान की आशंका व्यक्त की है।  

 

कोरोना के उपकरणों के जरिए ड्रग्स की तस्करी 

सीबीआई को अंदेशा है कि कोरोना के बचाव के लिए बाहर से जो उपकरण आ रहे हैं, ड्रग माफिया उनके जरिए तस्करी कर सकते हैं। सीबीआई ने इस संबंध में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की पुलिस और अन्य जांच एजेंसियों को हाई अलर्ट किया है। सीबीआई का कहना है कि कोरोना रोकथाम से संबंधित उपकरणों की जो भी खेप विदेशों से आ रही हैं, उनकी बारीकी से जांच की जाए। दरअसल, सीबीआई को इंटरपोल से इस तरह के इनपुट्स मिले। 

संक्रमण काल के बीच मुंबई में एक शख्स इस तरह के पोस्टर लेकर लोगों को जागरूक करने का काम कर रहा है। 

मुंबई से दिल्ली के बीच चली पहली ट्रेन

लॉकडाउन के बीच मंगलवार शाम को मुंबई सेंट्रल रेलवे स्टेशन से एक ट्रेन 1107 यात्रियों को लेकर दिल्ली के लिए रवाना हुई। मुंबई से रवाना होने वाली यह पहली ट्रेन है। इस दौरान ट्रेन के यात्रियों के मोबाइल में अनिवार्य रूप से आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करवाया गया। 

नांदेड़ में 10 और श्रद्धालु कोरोना संक्रमित

नांदेड़ में फंसे 10 और प्रवासी नागरिकों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 42 हो गई है। वहीं, यहां मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 2 तक पहुंच गया है।  

ट्रेन चलने की जानकारी मिलने के बाद मंगलवार शाम को जालना रेलवे स्टेशन के बाहर जमा हुई भीड़।   
Categories
sports

राज्य में 25 हजार कंपनियां फिर शुरू, कांग्रेस ने दिया 1200 प्रवासी मजदूरों का किराया, मुंबई में दी जा रही होमियोपैथी दवा


  • 587 मरीजों को अस्पताल से ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। अब तक राज्य में कुल 4786 मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं
  • मुंबई में मंगलवार तक कुल नए 791 मामले रिपोर्ट किए गए हैं। यहां कुल संक्रमितों की संख्या 14355 तक पहुंच चुकी है

दैनिक भास्कर

May 12, 2020, 10:22 AM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में मंगलवार सुबह तक 1230 नए केस सामने आए हैं। इसको मिलाकर कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 23401 हो गई है। पिछले 24 घंटे के दौरान में कुल 36 मरीजों की कोरोना के कारण मौत हुई है। वहीं मुंबई में मंगलवार तक कुल नए 791 मामले रिपोर्ट किए गए हैं। यहां कुल संक्रमितों की संख्या 14355 तक पहुंच चुकी है। 587 मरीजों को अस्पताल से ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। अब तक राज्य में कुल 4786 मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं। 

मुंबई में कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं क्लस्टर केसेज

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राज्य के कुछ हिस्सों में कम्युनिटी ट्रांसमिशन की बात शुरू हो गई, लेकिन हेल्थ विभाग ने इसे क्लस्टर केसेज का नाम दिया है। राज्य के सर्विलांस ऑफिसर डॉक्टर प्रदीप आवटे ने कहा, ‘राज्य के कुछ हिस्सों में क्लस्टर केस, यानी एक इलाके से एक ही समय में बहुत से केस आना है। कुछ मामलों में बीमारी के सोर्स का पता भी नहीं चल रहा। हालांकि यह अभी इतना नहीं है कि इसे कम्युनिटी ट्रंसमिशन का नाम दिया जाए।’

सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों में होमियोपैथी दवा से हो रहा कोरोना का इलाज 
मुंबई में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के बीच बीएमसी की ओर से लोगों को होमियोपैथी दवा आर्सेनिक अलबम 30 दी जा रही है। बीएमसी का मानना है कि इसे विशेषज्ञों की सलाह के बाद बांटा जा रहा है। इसके सकरात्मक परिणाम देखने को मिले हैं। अच्छी बात यह है कि इसके कोई साइड इफेक्ट भी नहीं हैं। बीएमसी स्वास्थ्य विभाग की कार्यकारी अधिकरी डॉ. पद्मजा केसकर की तरफ से जी-नार्थ और के-वेस्ट वॉर्ड ऑफिसर को पत्र जारी कर उनके विभाग में अधिक से अधिक लोगों को आर्सेनिक अलबम 30 देने का निर्देश दिया गया है।

बिहार जाने वाले 1200 मजदूरों का ट्रेन किराया मुंबई कांग्रेस ने दिया

सोमवार की शाम को मुंबई सीएसटी रेलवे स्टेशन से 1200 मजदूरों को लेकर बिहार के लिए रवाना हुई एक ट्रेन का पूरा किराया भरा मुंबई कांग्रेस में भरा और मजदूरों को मुफ्त यात्रा की सुविधा उपलब्ध कराई। यह जानकारी मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष एकनाथ गायकवाड ने दी। यह ट्रेन मुंबई सीएसटी से शाम को 5 बजे बिहार के लिए रवाना हुई।

एयर इंडिया पायलटों की जांच रिपोर्ट पहले पॉजिटिव, फिर नेगेटिव
मुंबई में कोरोना टेस्ट में भारी चूक सामने आई है। 10 मई को एयर इंडिया जिन 5 पायलट और दो टेक्नीकल स्टाफ में कोरोना की पुष्टि हुई थी, अब दूसरी रिपोर्ट में 4 पायलटों को नेगेटिव करार दिया गया है। आज तीन अन्य की रिपोर्ट आ सकती हैं। शनिवार को एयरलाइन के 77 पायलटों का प्राथमिकता के आधार पर परीक्षण किया गया, जिसमें से 5 लोगों को पॉजिटिव पाया गया था। इनमें कोरोना वायरस के कोई भी लक्षण नहीं थे। बोइंग 787 ड्रीमलाइनर विमान को उड़ाने वाले यह पांचों पायलट फिलहाल होम आइसोलेशन में हैं। इन्हें विदेश में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए वंदे भारत मिशन के तहत ड्यूटी पर तैनात किया गया था।

गांव वाले नहीं चाहते रेड जोन से आएं लोग: अनिल परब
महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब ने राज्य मार्ग परिवहन महामंडल (एसटी) की बसों की अंतरजिला मुफ्त सेवा पर रोक लगाने को लेकर सफाई दी है। परब ने कहा कि राज्य के विभिन्न जिलों में फंसे मजदूरों और विद्यार्थियों को अपने मूल गांव में जाने के लिए मुफ्त में एसटी बसें चलाने का फैसला लिया गया था लेकिन कई जगहों पर इसका विरोध हो रहा था। ग्रामीण इलाकों के लोगों का कहना है कि मुंबई, पुणे और नागपुर जिले जैसे रेड जोन वाले इलाकों से दूसरे इलाकों में लोगों को आने की अनुमति न दी जाए। गांवों में बड़े पैमाने पर लोगों के बीच कोरोना फैलने को लेकर अफवाह है। इसके मद्देनजर इस फैसले को स्थगित किया गया है।  

नागपुर में तैयार हो रहा 5000 बिस्तर वाला ‘कोविड-19 केंद्र’
नागपुर नगर निगम कोरोना संक्रमण से लड़ने के लिए 5,000 बिस्तर की क्षमता वाला एक ‘कोविड-19 केंद्र’ स्थापित कर रहा है। निगम आयुक्त तुकाराम मुंढे ने कहा कि नगर निगम येर्ला के पास स्थित राधा स्वामी सत्संग परिसर में विशाल ‘कोविड-19 केंद्र’ बना रहा है। यहां अबतक 500 बिस्तर स्थापति हो चुके हैं। अचानक मामलों में वृद्धि होने के मद्देनजर यह प्रबंध किया गया है।

राज्य में 25 हजार कंपनियां फिर से शुरू हुईं
महाराष्ट्र के उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने कहा कि प्रदेश में विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत 6 लाख लोगों ने लॉकडाउन में ढील दिए जाने के बाद काम काज शुरू कर दिया है । उद्योगों के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत के दौरान देसाई ने कहा कि राज्य में 25 हजार कंपनियों में काम काज शुरू हो चुका है।

सोनू सूद ने मुंबई में फंसे प्रवासी मजदूरों की बसों की व्यवस्था की
अभिनेता सोनू सूद ने लॉकडाउन के कारण मुंबई में फंसे प्रवासी मजदूरों के परिवहन के लिए बसों की व्यवस्था की। अभिनेता ने प्रवासी मजदूरों की यात्रा और भोजन का पूरा खर्चा उठाया। कर्नाटक और महाराष्ट्र सरकार से अनुमति मिलने के बाद सोमवार को कुल 10 बसें कर्नाटक के गुलबर्ग के लिए रवाना हुई। सोनू सूद ने कहा कि उनका मानना है कि इस वैश्विक संकट के समय में हर भारतीय को उसके परिवार के साथ रहने का अधिकार है और इसलिए उन्होंने राज्य सरकार से अनुमति लेकर प्रवासियों को उनके घर जाने में मदद की।

उद्योग फिर शुरू होने के कारण घर नहीं जा रहे प्रवासी मजदूर
पुणे से मध्यप्रदेश के लिए जाने वाली एक श्रमिक विशेष रेलगाड़ी के लिए तीन सौ प्रवासी कामगारों ने रविवार को यात्रा के लिए रिपोर्ट नहीं किया और उत्तराखंड जाने वाली रेलगाड़ी के लिए 80 श्रमिकों ने रिपोर्ट नहीं की। स्थानीय अधिकारियों ने दावा किया कि क्षेत्र में कई उद्योगों के फिर से खुलने के कारण ये सकारात्मक संकेत हैं। एक अधिकारी ने बताया कि मध्यप्रदेश जाने के लिए 1172 लोगों को अनुमति मिली थी लेकिन रेलगाड़ी खुलते समय तक दौंद स्टेशन पर 300 श्रमिकों ने रिपोर्ट नहीं की जिनमें अधिकतर एमआईडीसी इलाके में काम करते थे।

धारावी में एक दिन में 57 नए संक्रमित मरीज मिले
मुंबई के धारावी इलाके में मंगलवार सुबह तक कोरोना संक्रमित 57 नये मामले सामने आए, जिसके बाद यहां कुल रोगियों की संख्या 916 हो गयी है। बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। यहां अब तक कोरोना वायरस से 29 लोगों की मौत हो चुकी है। अधिकारी ने कहा, “90-फुट रोड, अबू बकर चाल, धारावी क्रॉस रोड, पीवी चाल, धोबी घाट, गौतम चाल, मुस्लिम नगर, शास्त्री नगर, कुट्टीवाड़ी और कुछ अन्य इलाकों में नये मामले आए हैं।”

Categories
sports

पुणे में 62 कंटेनमेंट जोन सील, महराष्ट्र सरकार देगी प्रवासी मजदूरों का किराया; मंत्री जितेंद्र आव्हाड अब स्वस्थ


  • मुंबई के अंधेरी वेस्ट लिंक रोड में स्थित म्यूजिक कंपनी और फिल्म प्रोडक्शन टी-सीरीज की ऑफिस बिल्डिंग सील
  • 17 मई तक जो मजदूर यात्रा का खर्च उठाने में सक्षम नहीं हैं, उनकी यात्रा का पूरा खर्च मुख्यमंत्री सहायता निधि से दिया जाएगा

दैनिक भास्कर

May 11, 2020, 10:58 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में तमाम कोशिशों के बाद भी संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है। सोमवार को राज्य में 36 संक्रमित मरीजों की मौत हुई है। इनमें मुंबई में 20, सोलापुर में 5, पुणे में 3, ठाणे में दो और अमरावती, औरंगाबाद, नांदेड़, रत्नागिरी और वर्धा से एक-एक मरीज की जान गई। मृतकों में 23 पुरुष और 13 महिलाएं हैं। इसे मिलाकर राज्य में अब तक संक्रमण से 868 लोगों की जान जा चुकी है। वहीं, सोमवार को राज्य में संक्रमण के 1230 नए मरीज सामने आए। इसे मिलाकर कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 23,401 तक पहुंच गई है।

पुणे में 69 कंटेनमेंट जोन पूरी तरह सील 
पुणे नगर निगम की सीमा में 69 कंटेनमेंट इलाकों में सोमवार से आवश्यक वस्तुओं समेत सभी दुकानों को बंद रखने का आदेश दिया गया है। यहां लोग सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य लॉकडाउन के नियमों का पालन नहीं कर रहे थे। नगर निगम के आयुक्त शेखर गायकवाड़ ने कहा- सभी दुकानों को बंद करने का निर्णय समीक्षा बैठक के बाद लिया गया। पुणे देश में संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित शहरी क्षेत्रों में से एक है। शनिवार तक यहां 2,732 मामले सामने आ चुके हैं।  2,380 पुणे नगर निगम सीमा में हैं।

ट्रेन का किराया देगी महाराष्ट्र सरकार  
महाराष्ट्र में अटके मजदूरों के घर जाने के लिए रेलवे टिकट का खर्च राज्य सरकार देगी। आदेश के तहत 17 मई तक जो मजदूर यात्रा का खर्च उठाने में सक्षम नहीं हैं, उनकी यात्रा का कुल खर्च मुख्यमंत्री सहायता निधि से दिया जाएगा। यह सुविधा दूसरे राज्यों में अटके महाराष्ट्र के लोगों के लिए भी उपलब्ध होगी। 

हॉस्पिटल से ठीक होकर घर लौटे मंत्री जितेंद्र आव्हाण ने बालकनी में आकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। 

मंत्री जितेंद्र आव्हाड अब स्वस्था
राज्य के गृह निर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड रविवार को संक्रमण मुक्त होकर घर पहुंच गए। उन्हें एक महीने तक आराम की सलाह दी गई है। घर की बालकनी से उन्होंने हाथ हिलाकर शुभचिंतकों का अभिवादन किया। आव्हाड को देखकर लगता है कि वे शारीरिक रूप से काफी कमजोर हो गए हैं। अस्पताल से डिस्चार्ज होने की सूचना उन्होंने ट्विटर पर दी। 

जितेंद्र आव्हाण का ट्वीट-

महाराष्ट्र के सोलापुर से प्रवासी मजदूर ट्रक में सवार होकर अपने घर के लिए निकले।

धारावी में 859 संक्रमित मरीज मिले
धारावी अब भी सरकार के लिए बड़ी चुनौती बना है। यहां 26 नए मामलों के साथ कुल मरीजों की संख्या 859 तक पहुंच गई है। धारावी के साथ ही माहीम में भी तेजी से मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। माहिम में 119 पॉजिटिव केस हो गए हैं।  

मानवीय आधार पर मजदूरों को पैदल घर जाने की मंजूरी दी गई
महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि हजारों प्रवासी मजदूर पैदल ही अपने घरों को लौटने को लेकर बेचैन हैं। देशमुख ने कहा कि रेल सेवाएं पहले शुरू कर दी जातीं तो मजदूरों को परेशानी थोड़ी कम होती। देशमुख ने कहा- यह सच है कि प्रवासी मजदूर सैकड़ों किलोमीटर दूर स्थित घरों के लिए पैदल निकले हैं। वे लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं लेकिन हम उन्हें मानवीय आधार पर जाने दे रहे हैं।

सिंगापुर में फंसे भारतीय छात्रों के एक ग्रुप को लेकर एयर इंडिया का विमान रविवार को मुंबई के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचा। 

कोरोना मरीज मिलने के बाद म्यूजिक कंपनी का दफ्तर सील
मुंबई के अंधेरी वेस्ट लिंक रोड में स्थित म्यूजिक कंपनी और फिल्म प्रोडक्शन टी-सीरीज के ऑफिस की बिल्डिंग को सील कर दिया गया है। यहां एक केयरटेकर संक्रमित पाया गया था। बिल्डिंग में कुछ प्रवासी भी हैं। यहीं उनके रहने-खाने की व्यवस्था है। बिल्डिंग में दो से तीन लोग और हैं जिनकी जांच की गई है। उनकी रिपोर्ट आना अभी बाकी है। 

महाराष्ट्र के ठाणे में प्रवासी मजदूरों की डिटेल लेते पुलिसकर्मी। यहां से 20 बसों में मजदूरों को उनके घरों के लिए रवाना किया गया है। 

6 और ट्रेनें मुंबई से रवाना हुईं
लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों के लगातार पलायन को देखते हुए रेलवे ने ट्रेनों की संख्या बढ़ा दी है। रविवार को मुंबई से 6 ट्रेनें अन्य राज्यों के लिए रवाना की गईं। इनमें से अधिकतर ट्रेनें उत्तर भारत की ओर निकलीं। सीएसएमटी से दो, एलटीटी से तीन और वसई रोड से एक ट्रेन रवाना की गई। लॉक डाउन से पहले मुंबई से रोजाना करीब 250 ट्रेनों की आवाजाही थी। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट करके कहा कि पूरे देश से आने वाले समय में 300 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को चलाया जाएगा।

ठाणे में पुलिस ने मजदूरों के लिए बसों का इंतजाम किया है। मजदूरों ने भी पुलिस अधिकारियों का हाथ जोड़कर धन्यवाद दिया।

मजदूरों के लिए पुलिस ने की बस की व्यवस्था 
ठाणे से जो लोग पैदल अपने राज्यों के लिए निकले हैं, उनके लिए ठाणे पुलिस ने बसों की व्यवस्था की है। रविवार को 20 बसें प्रवासियों को लेकर निकलीं, जो उन्हें मध्य प्रदेश की सीमा पर छोड़ेंगी।

भिवंडी में तेजी से बढ़ रहे हैं संक्रमित मरीज
भिवंडी में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। रविवार को शहर में कोरोना संक्रमित चार नए मरीज सामने आए। मनपा इलाके में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 25 हो गई है। इसी तरह ग्रामीण इलाके में कोरोना संक्रमित एक मरीज के संपर्क में आने वाले उसके परिवार के सात लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। 11 मरीजों के ठीक होने के बाद इस समय 36 कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज कई अस्पतालों में चल रहा है।

मुंबई के एलटीटी स्टेशन के बाहर ट्रेन पकड़ने के लिए प्रवासी मजदूरों की लंबी कतारें देखी जा रहीं। मजदूरों को स्क्रीनिंग के बाद स्टेशन में जाने दिया जा रहा है।

लंदन से लौटे 65 लोगों को होटल में रखा गया 
लॉकडाउन के कारण लंदन में फंसे 326 भारतीयों को लेकर एयर इंडिया की स्पेशल फ्लाइट मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पहुंची। फ्लाइट से आए लोगों को पुणे प्रशासन ने बालेवाडी क्षेत्र के एक होटल में क्वारैंटाइन किया है।