Blog

62 हजार संक्रमितों में से 43.3% ठीक होकर घर गए, कोरोना की लड़ाई से जुड़े कर्मचारियों को 50 लाख का बीमा

एशिया की सबसे घनी बस्ती धारावी में मजदूरों का पलायान लगातार जारी है। इसी कड़ी में परिवार के साथ बस का इंतजार कर रहे दो बच्चे।
sports

62 हजार संक्रमितों में से 43.3% ठीक होकर घर गए, कोरोना की लड़ाई से जुड़े कर्मचारियों को 50 लाख का बीमा

[ad_1]

  • पिछले 24 घंटो में राज्य में 116 लोगो की मौत हुई है। कुल मौत का आकड़ा 2098 हो गया है
  • यहां एक दिन में 8,381 ज्यादा मरीजों को अस्पताल से छुट्टी मिली है,अब तक 26997 मरीज ठीक हुए हैं

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 10:30 AM IST

मुंबई. पिछले 24 घंटों में राज्य के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है। यहां एक दिन में 8,381 ज्यादा मरीजों को अस्पताल से छुट्टी मिली है। देश के किसी भी राज्य में यह एक दिन में ठीक हुए मरीजों की सबसे ज्यादा संख्या है। अब तक 26997 मरीज ठीक होकर घर गए हैं। यानि अब तक कुल 43.3% संक्रमित मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। वहीं 24 घंटों में कोरोना के 2,682 नए मरीज मिले हैं। कुल पॉजिटिव मरीजों का आकड़ा 62228 पहुंच गया है। वहीं पिछले 24 घंटो में राज्य में 116 लोगो की मौत हुई है। कुल मौत का आकड़ा 2098 हो गया है। 

मृतकों में मुंबई डिविजन से 58, नासिक डिविजन से 32, पुणे डिविजन से 16, कोल्हापुर डिविजन से 3, औरंगाबाद डिविजन से 5 और अकोला डिविजन से 2 लोगों की मौत हुई है। मृतकों में 77 पुरुष और 39 महिअलायें शामिल हैं, इनमें से 48 की उम्र 60 साल से अधिक, 55 की उम्र 40 से 60 के बीच और 13 की उम्र 40 साल से कम है। इनमें से 65%मरीजों में डायबिटीज, ह्रदय रोग और हाइपरटेंशन जैसी समस्या थी।

महाराष्ट्र में 16 दिन में डबल हो रहे केस
महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मरीजों की डबलिंग रेट अब 15.7 दिन है। पिछले हफ्ते कोरोना मरीजों की डबलिंग रेट 11 दिन थी। पिछले हफ्ते की तुलना में इसमें सुधार देखा गया है। वहीं महाराष्ट्र में रिकवरी रेट 43.38 प्रतिशत है। मृत्यु दर 3.37 फीसदी है।

श्रमिक स्पेशल ट्रेन पकड़ने के लिए मुंबई के धारावी से रेलवे स्टेशन जा रहे पिता पुत्र। एक आंकड़े के मुताबिक, अबतक 17 लाख लोग मुंबई से पलायन कर चुके हैं।

मुंबई में कोरोना का ग्रोथ रेट 4.93%
बीएमसी ने 22 मई से 28 मई के बीच एक सप्ताह का मुंबई में कोरोना के डेली ग्रोथ रेट का आंकड़ा जारी किया गया है, जिसके मुताबिक इस दौरान कोरोना का ग्रोथ रेट गिरकर 4.93 प्रतिशत रह गया है, जबकि इसके पहले बीएमसी द्वारा जारी ग्रोथ रेट में 21 से 27 मई के बीच मुंबई में कोरोना का ग्रोथ रेट 5.17 प्रतिशत था। गौरतलब है कि मार्च एवं अप्रैल में जहां कोरोना के मामले सबसे कम थे, मई के आखिरी सप्ताह तक वहां सबसे तेजी से कोरोना के मामले बढ़े हैं।

20 दिन में डबल हो रहे हैं कोरोना के केस
अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी ने कहा कि मुंबई में कोरोना का डबलिंग रेट करीब 20 दिन हो गया है। कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित धारावी में कोरोना का डबलिंग रेट 19 दिन है, जबकि वरली में यह 21 दिन तक पहुंच गया है। मुंबई के 11 हॉटस्पॉट में 1500 से अधिक मरीज हैं, इसे कम करने की कोशिश की जा रही है।

मुंबई का हाजी अली ट्रस्ट अपने घरों के लिए जा रही प्रवासी मजदूरों को हर दिन फेस मास्क और सैनिटाइजर दे रहा है।

धारावी में सबसे कम ग्रोथ रेट
कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित धारावी, वरली में कोरोना का ग्रोथ रेट सबसे कम है। वरली में सबसे कम 3.1 प्रतिशत ग्रोथ रेट है, तो धारावी में ग्रोथ रेट 3.6 प्रतिशत है। इसी तरह भायखला नें कोरोना की डेली ग्रोथ रेट 3.8 प्रतिशत, माटुंगा, सायन कोलीवाडा में 3.5 प्रतिशत, गोवंडी में 3.9 प्रतिशत एवं अंधेरी पश्चिम में 3.8 प्रतिशत है।

कोरोना की लड़ाई में जुड़े कर्मचारियों को मिलेगा 50 लाख का बीमा
कोरोना की रोकथाम और उपचार करने वाले संबंधित लोगों को 50 लाख रुपये का बीमा सुरक्षा कवच दिया है। इस संबंध में शुक्रवार को राज्य सरकार के वित्त विभाग ने शासनादेश जारी किया। फिलहाल सरकार की यह योजना 30 सिंतबर 2020 तक लागू रहेगी। शुक्रवार को जारी परिपत्रक के अनुसार, सेवा के दौरान संबंधित कर्मचारियों की कोरोना से मौत होने पर उनके परिजनों को 50 लाख रुपये की सानुग्रह अनुदान राशि दी जाएगी। यह योजना सभी नगर निकायों और राज्य शासकीय सार्वजनिक उपक्रमों में भी लागू की जाएगी।

मुंबई में कई जगहों पर कोरोना को लेकर एक्स-रे टेस्टिंग शुरू हुई है। इसी कड़ी में कालवा इलाके में एक पुलिसवाले का एक्सरे करता हुआ एक स्वास्थ्यकर्मी।

अबतक 25 पुलिसवालों की हुई मौत
राज्य में करीब 2,211 पुलिसकर्मी अभी तक कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और उनमें से 25 संक्रमण से अपनी जान गंवा चुके हैं। यह जानकारी एक अधिकारी ने शुक्रवार को दी। अधिकारी ने कहा कि संक्रमण से जान गंवाने वाले कुल पुलिसकर्मियों में से 16 मुंबई से, तीन अन्य नासिक ग्रामीण से, दो पुणे और एक-एक सोलापुर शहर, सोलापुर ग्रामीण, ठाणे और मुंबई एटीएस से हैं।

1962 कांस्टेबल रैंक के पुलिसकर्मी
पुलिस अधिकारी ने कहा कि इन कोविड-19 रोगियों में से 249 पुलिस अधिकारी जबकि 1,962 कॉन्स्टेबल रैंक के कर्मी हैं। उन्होंने कहा कि इन सभी का अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है। अधिकारी ने कहा कि अभी तक इनमें से 970 ठीक हो चुके हैं। उन्होंने कहा, ‘कम से कम 116 कर्मी पिछले 24 घंटे में संक्रमित पाए गए। इस पूरे हफ्ते हर दिन 100 से अधिक पुलिसकर्मियों का लगातार संक्रमित पाया जाना जारी है।’

मुंबई के सीएसएमटी स्टेशन के बाहर जमा लोगों को कुछ सामाजिक संगठन के लोगों की ओर से खाना, मास्क और सैनिटाइजर दिया। 

राज्य में स्थानीय लोगों के लिए पैदा हुए 10 लाख रोजगार के अवसर
महाराष्ट्र में लॉकडाउन की वजह से लाखों कामगारों के पलायन के बाद स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के नए द्वार खुल गए हैं। एक अनुमान के मुताबिक महाराष्ट्र में करीब 10 लाख नए रोजगार के अवसर पैदा हुए हैं। उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने उद्योगपतियों से इन नए रोजगार में भूमिपुत्रों को प्रधानता देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने यह बात विभिन्न उद्योगकर्मियों के साथ आयोजित एक वेबिनार में कही। देसाई ने कहा लॉकडाउन के बाद यहां रहने वाले उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, ओडिशा, बंगाल व तेलंगाना समेत कई राज्यों के मजदूर यहां से पलायन कर चुके हैं। ऐसे में फैक्ट्री को एक बार फिर से शुरू करने के लिए भारी संख्या में कामगारों की जरुरत पड़ेगी। ऐसे में स्थानीय युवाओं के लिए नौकरी हासिल करने का यह अच्छा मौका साबित हो सकता है।    

पश्चिम रेलवे ने चलाई 1162 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें
लॉकडाउन में फंसे 17 लाख 41 हजार 886 मजदूरों को पश्चिम रेलवे ने अपनी 1162 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के माध्यम से उनके गृह राज्यों में पहुंचाया है। इन ट्रेनों में प्रवासी मजदूरों के लिए सबसे अधिक ट्रेनें यूपी-बिहार के लिए चलाई गई हैं। मुंबई और उपनगरीय स्टेशनों से 150 से अधिक्त श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन हुआ है। 

मुंबई के कुंभारवाड़ा स्लम इलाके में संक्रमण के मामले बढ़ने के बाद बड़े पैमाने पर स्क्रीनिंग शुरू हुई है।

हर जिले में लैब व्यावहारिक नहीं: सरकार
संक्रमितों की बढ़ती संख्या के बीच राज्य सरकार ने बॉम्बे हाईकोर्ट को बताया कि राज्य के हर जिले में कोविड-19 लैब बनाना व्यावहारिक रूप से संभव नहीं है। चीफ जस्टिस दीपांकर दत्ता और जस्टिस केके तातेड की पीठ के समक्ष हुई एक जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने बताया कि कोरोना की जांच के लिए राज्य में 72 केंद्र हैं। इनमें 42 लैब सरकारी अस्पतालों में हैं। रनागिरी निवासी एक व्यक्ति ने याचिका में अनुरोध किया है कि अदालत राज्य सरकार को हर जिले में लैब खोलने का आदेश दे।

ठाणे में भी 1000 बेड का हॉस्पिटल
ठाणे के मुंब्रा स्थित मौलाना अब्दुल कलाम आजाद स्टेडियम में जल्द ही एक हजार बेड्स की सुविधा वाला कोविड-19 अस्पताल बनेगा। यहां 500 बेड्स ऑक्सिजन की सुविधा वाले तथा 100 बेड आईसीसीयू यूनिट के होंगे। इसका फायदा कलवा, मुंब्रा, दिवा और शिल-डायघर के लोगों को मिलेगा।

मामलों में आई कमी के बावजूद अभी भी धारावी में लगातार स्क्रीनिंग का काम जारी है। यहां अब तक 17सौ से ज्यादा मामले हैं। 

फायर ब्रिगेड के 40 जवान कोरोना संक्रमित

हॉस्पिटल, सरकारी कार्यालय व कोरोना मरीज मिलने पर उठा परिसर को सेनेटाइज करने वाले फायर ब्रिगेड के कर्मचारी भी कोरोना से संक्रमित हो रहे हैं। मुंबई फायर ब्रिगेड के 40 जवान कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें से 3 की मौत हो चुकी है। मुंबई फायर ब्रिगेड चीफ प्रभात रहंगदले ने बताया कि दमकल विभाग के 40 जवान कोरोना से संक्रमित हैं, जिनमें से 4 जवान आईसीयू में थे, जिसमें से एक की शुक्रवार को मौत हो गई। बाकी जवानों की स्थिति ठीक है। हम कोशिश कर रहे हैं कि हमारे कम से कम जवान संक्रमित हों। इस लिए सभी को पीपीई किट उपलब्ध कराई जा रही है।

886 राशन की दुकानों की चेकिंग, 80 लोगों पर केस दर्ज
लॉकडाउन के दौरान राशन की दुकानों पर लोगों की भीड़ बढ़ी है। इस कारण से कुछ दुकानदारों द्वारा गड़बड़ी किए जाने की भी शिकायतें आती रही हैं। उसी पृष्ठभूमि में वैध मापन शास्त्र यंत्रणा विभाग के अडिशनल डीजी अमिताभ गुप्ता ने पूरे राज्य में 886 दुकानों की जांच करवाई, जहां सरकार द्वारा भेजा अनाज बेचा जाता है। उसी में पूरे राज्य में 25 मई तक कुल 80 केस दर्ज किए गए। 

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक व्यक्ति की कोरोना जांच के लिए नमूना लेता हुआ स्वास्थ्यकर्मी।

[ad_2]

Leave your thought here

Your email address will not be published. Required fields are marked *