Blog

राज्य सरकार ने 35 हजार कैदियों को छोड़ने का फैसला लिया, 42 हजार प्रवासी मजदूर घर भेजे गए, नियम तोड़ने वाले 1 लाख लोगों पर एफआईआर

कर्नाटक में उद्योग बंद हो जाने के बाद अपने घरों के लिए निकले कुछ प्रवासी मजदूर कोल्हापुर पहुंचे, इनमे महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं।
sports

राज्य सरकार ने 35 हजार कैदियों को छोड़ने का फैसला लिया, 42 हजार प्रवासी मजदूर घर भेजे गए, नियम तोड़ने वाले 1 लाख लोगों पर एफआईआर

[ad_1]

  • महाराष्ट्र में बुधवार तक कोरोनावायरस संक्रमण के 1026 नए मामले सामने आए, राज्य में कुल मामले बढ़कर 24,427 हो गए
  • पुणे कोरोनावायरस का एक और हॉटस्पॉट है, यहां कुल 3,377 मामले सामने आए और 185 मरीजों की मौतें हुई हैं

दैनिक भास्कर

May 13, 2020, 11:43 AM IST

मुंबई.

महाराष्ट्र सरकार ने राज्यभर की जेलों में बंद कुल 35 हजार कैदियों में 17 हजार को अस्थायी पैरोल पर छोड़ने का फैसला लिया है। प्रदेश के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने मंगलवार को कहा कि सरकार ने यह फैसला हाल में मुंबई की ऑर्थर रोड जेल में 185 कैदियों के संक्रमित पाए जाने के बाद लिया है। सरकार की तरफ से बताया गया कि 5000 विचाराधीन कैदियों को पहले ही छोड़ा जा चुका है। इधर, राज्य के गृह विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि लगभग 42,000 प्रवासी मजदूर यहां से 35 ट्रेनों के जरिए अपने गृह राज्यों भेजे गए।केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस महीने की शुरुआत में अपने-अपने राज्यों में लॉकडाउन के कारण फंसे लोगों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन शुरू की थी।

 

महाराष्ट्र में बुधवार तक कोरोनावायरस के 1026 नए मामले सामने आए, जिससे राज्य में कुल मामले बढ़कर 24,427 हो गए। एक ही दिन में 53 लोगों की मौत हुई। 28 मौतें अकेले मुंबई में, जबकि पुणे और पनवेल में 6-6 की जान गई। राज्य में मरने वालों की संख्या बढ़कर 921 हो गई। अब तक अकेले मुंबई में 14,947 संक्रमित मामले सामने आए और 556 व्यक्तियों की मौत हुई है। 

महाराष्ट्र में अभी 18,381 एक्टिव केस

पुणे जोन में शामिल सिटी, ग्रामीण, प्रिंपी स्क्वायर, कोल्हापुर कोरोनावायरस का एक बड़ा हॉटस्पॉट बन गया, यहां कुल 3,377 मामले सामने आए और 185 व्यक्तियों की मौतें हुई हैं। इधर, मुंबई डिवीजन में कोविड के 18,337 मामले सामने आए और 603 व्यक्तियों की मौत हुई है। इसमें ठाणे शहर भी आता है। अब तक राज्य में कुल 5,125 लोग स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किए गए। अभी कुल 18,381 एक्टिव मरीज हैं। पूरे राज्य में अभी तक 2,21,645 लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है।

राज्य में पॉजिटिव होने का रेट 12%
महाराष्ट्र में कोरोना का पॉजिटिव रेट 12 प्रतिशत तक पहुंच चुका है। अब हर 100 सैंपल में से 12 सैंपल पॉजिटिव आ रहे हैं। शनिवार तक पॉजिटिव रेट 9 प्रतिशत और 20 अप्रैल तक 5 प्रतिशत था। डॉक्टरों के अनुसार, आने वाले समय में इसमें और बढ़ोतरी हो सकती है।  

मुंबई से उत्तर प्रदेश के लिए एक ऑटो ड्राइवर अपने पूरे परिवार के साथ निकला है। 

 

लॉकडाउन उल्लंघन के मामले में एक लाख लोगों पर केस 

महाराष्ट्र में लॉकडाउन के उल्लंघन के मामले में अब तक एक लाख 4 हजार मामले दर्ज किए गए हैं। इस संबंध में 19 हजार 838 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गृह मंत्री देशमुख ने बताया कि पुलिस पर हमले के 212 मामले हैं। इस संबंध में 750 लोगों को पकड़ा गया। पुलिस ने अवैध ट्रांसपोर्टेशन से संबंधित 1291 मामले दर्ज किए। इस सिलसिले में 56473 वाहनों को जब्त किया गया है और करीब 3 करोड़ 97 लाख रुपये का जुर्माना वसूला है।

धारावी में अब तक 31 लोगों की हुई मौत
एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती धारावी में बुधवार सुबह 46 नए संक्रमित और एक की मौत की पुष्टि हुई। यहां अब तक 962 केस मिले और मरने वालों की संख्या बढ़कर 31 हो गई। ये मामले माटुंगा लेबर कैंप, 90 फीट रोड, 60 फीट रोड, कुम्भरवाड़ा, ट्रांजिट कैंप, क्रॉस रोड, नाइक नगर और धारावी के कुछ अन्य इलाकों में सामने आए हैं। 

 

मुंबई में एक और पुलिसकर्मी की मौत 

सिवरी पुलिस स्टेशन में तैनात एएसआई मुरलीधर शंकर वाघमारे की कोरोना से मौत हो गई।अब तक महाराष्ट्र पुलिस डिपार्टमेंट के 8 लोगों की कोरोना से जान गई। इसमें 5 पुलिसकर्मी मुंबई के हैं जबकि एक-एक पुणे, सोलापुर और नासिक ग्रामीण से हैं। महाराष्ट्र में 90 अधिकारियों समेत 819 पुलिसकर्मी संक्रमण की चपेट में हैं। इनमें मुंबई पुलिस विभाग के 400 पुलिसकर्मी शामिल हैं।

पुणे से मनमाड की पैदल यात्रा के दौरान एक महिला ने रास्ते में बच्चे को जन्म दिया। जानकारी मिलते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची और महिला को हॉस्पिटल तक पहुंचाया। 

लॉकडाउन की वजह से एक शख्स ने की खुदकुशी 

नवी मुंबई में 25 साल के एक युवक ने अकेलेपन की वजह से मंगलवार को खुदकुशी कर ली। सूरज सुरवे नामक यह युवक कोपर खैराने के सेक्टर चार इलाके में स्थित अपने घर में पंखे से लटका मिला। युवक इंजीनियर था और लॉकडाउन की वजह से घर से ही काम कर रहा था जबकि उसका परिवार अपने गृह नगर में फंसा था। पुलिस को घटनास्थल से सुसाइड नोट मिला है जिसमें उसने लिखा है कि वह अकेला था और लॉकडाउन की वजह से परिवार से नहीं मिल पा रहा था। 

मुंबई में कोरोना संक्रमण के फैलाव को देखते हुए कृषि उत्त्पन बाजार समिति मार्केट को विषाणुरहित बनाने का काम किया गया। 

 

 राज्य में शुरू होगी शराब की होम डिलीवरी 

सरकार ने दुकानों पर भीड़ को रोकने के लिए शराब की होम डिलीवरी की मंजूरी दे दी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा- गृह विभाग का आदेश तभी प्रभावी होगा जब इस संदर्भ में दिशा-निर्देशों को अंतिम रूप दे दिया जाएगा। इसका मकसद दुकानों पर भीड़ कम करना और वायरस के प्रसार को रोकना है। सरकार अगले दो दिनों में निर्देश जारी करेगी। जिन लोगों को पीने की अनुमति है, वही होम डिलीवरी के लिए ऑर्डर कर सकते हैं। शराब की दुकानों पर फोन से ऑर्डर दिया जा सकेगा। एक व्यक्ति अधिकतम 12 बोतल देश में निर्मित विदेशी शराब का ऑर्डर दे सकता है। घर पर विभिन्न तरह की शराब रखने के नियमों के बारे में आबकारी विभाग की वेबसाइट पर जानकारी उपलब्ध है।

सिंधुदुर्ग जिले में मंगलवार शाम से रुक-रुक कर बारिश हो रही है। इससे फसलों को बड़े नुकसान की आशंका व्यक्त की है।  

 

कोरोना के उपकरणों के जरिए ड्रग्स की तस्करी 

सीबीआई को अंदेशा है कि कोरोना के बचाव के लिए बाहर से जो उपकरण आ रहे हैं, ड्रग माफिया उनके जरिए तस्करी कर सकते हैं। सीबीआई ने इस संबंध में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की पुलिस और अन्य जांच एजेंसियों को हाई अलर्ट किया है। सीबीआई का कहना है कि कोरोना रोकथाम से संबंधित उपकरणों की जो भी खेप विदेशों से आ रही हैं, उनकी बारीकी से जांच की जाए। दरअसल, सीबीआई को इंटरपोल से इस तरह के इनपुट्स मिले। 

संक्रमण काल के बीच मुंबई में एक शख्स इस तरह के पोस्टर लेकर लोगों को जागरूक करने का काम कर रहा है। 

मुंबई से दिल्ली के बीच चली पहली ट्रेन

लॉकडाउन के बीच मंगलवार शाम को मुंबई सेंट्रल रेलवे स्टेशन से एक ट्रेन 1107 यात्रियों को लेकर दिल्ली के लिए रवाना हुई। मुंबई से रवाना होने वाली यह पहली ट्रेन है। इस दौरान ट्रेन के यात्रियों के मोबाइल में अनिवार्य रूप से आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करवाया गया। 

नांदेड़ में 10 और श्रद्धालु कोरोना संक्रमित

नांदेड़ में फंसे 10 और प्रवासी नागरिकों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 42 हो गई है। वहीं, यहां मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 2 तक पहुंच गया है।  

ट्रेन चलने की जानकारी मिलने के बाद मंगलवार शाम को जालना रेलवे स्टेशन के बाहर जमा हुई भीड़।   

[ad_2]

Leave your thought here

Your email address will not be published. Required fields are marked *