Blog

राज्य के 18 जिलों में आज तेज बारिश का अनुमान, अब तक 20 की जान गई; आगरा में ताजमहल को नुकसान पहुंचा

यह तस्वीर लखनऊ की है। रविवार सुबह से ही आसमान में बादल छाए हुए हैं। बारिश होने की संभावना है। यहां शनिवार देर शाम को भी जमकर बारिश हुई थी।
sports

राज्य के 18 जिलों में आज तेज बारिश का अनुमान, अब तक 20 की जान गई; आगरा में ताजमहल को नुकसान पहुंचा

[ad_1]

दैनिक भास्कर

May 31, 2020, 11:12 AM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के लखनऊ, मुजफ्फरनगर, मुरादाबाद समेत 18 जिलों में रविवार को आंधी और बारिश की संभावना है। शनिवार को भी राज्य के कई इलाकों में भारी बारिश के साथ बिजली गिरने की घटनाएं हुई थीं। इससे 20 लोगों की जान गई। कई जगहों पर पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गए। यातायात भी प्रभावित हुआ। आगरा में 124 किमी की रफ्तार से आए बवंडर ने न केवल ताजमहल बल्कि सिकंदरा, एत्माद्दौला, मेहताब बाग समेत कई स्मारकों को काफी नुकसान पहुंचाया।

मौसम विभाग का कहना है कि पश्चिमी विक्षोभ और यूपी और बिहार के सीमावर्ती इलाकों में हवा के कम दबाव के चलते मौसम में बदलाव रहेगा। इन दोनों सिस्टम को अरब सागर से लगातार पर्याप्त नमी मिल रही है, जिससे दोनों के कम से कम 48 घंटे तक सक्रिय रहने का अनुमान है। लखनऊ, आगरा, मुजफ्फरनगर, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली, पीलीभीत, बदायूं, संभल, अमरोहा, बुलंदशहर, अलीगढ़, एटा, कासगंज, फर्रूखाबाद, शाहजहांपुर, लखीमपुर खीरी और आसपास के इलाकों में आंधी, बिजली चमकने और बारिश की संभावना है।

राज्य के बृज और मध्य क्षेत्र में मौसम बदला 

मौसम विभाग के अनुसार, इन दो सिस्टम की वजह से उत्तर प्रदेश के बृज और मध्य क्षेत्र में मौसम का मिजाज काफी बिगड़ा हुआ है। इसके कारण बृज क्षेत्र के आगरा-मथुरा से लेकर हाथरस, मैनपुरी, एटा, फिरोजाबाद, औरैया, इटावा, कन्नौज और रुहेलखण्ड के बदायूं, बरेली, शाहजहांपुर, पीलीभीत, लखीमपुर के अलावा हरदोई, सीतापुर, लखनऊ तक में आंधी के अलावा गरज-चमक के साथ बारिश हुई। बुंदेलखंड के चित्रकूट, महोबा, बांदा, जालौन और हमीरपुर में भी इसके कारण मौसम में बदलाव के संकेत हैं। इसी तरह पूर्वी यूपी के कम से कम 18 जिलों में भी अगले 36 घंटे में आंधी और बारिश के आसार हैं। 

सबसे ज्यादा 7 मौतें उन्नाव में हुईं 

  • बुंदेलखंड और कानपुर के आसपास आंधी और बारिश और बिजली गिरने से उन्नाव में 7, कन्नौज में 6, बांदा और कानपुर शहर में एक-एक व्यक्ति की जान चली गई। हालांकि, 5 मौतें राज्य के अन्य जिलों में हुई हैं, जिसकी जानकारी फिलहाल राहत आयुक्त की ओर से नहीं दी गई है। उन्होंने इन मौतों की पुष्टि की है। 
  • बारिश और आंधी से  फिरोजाबाद में 10, आगरा में 3 लोग जख्मी हुए। यहां 10 पशुओं की मौत हो गई है। कानपुर शहर के बिल्हौर में आंधी-बारिश के साथ आधा घंटे तक ओले गिरे, जिससे फसले चौपट हो गईं। सैकड़ों गाड़ियों के शीशे टूट गए और कई लोग घायल भी हुए। घाटमपुर में भी जमकर ओलावृष्टि हुई।  

बुंदेलखंड: तेज बारिश से बिजली गुल
महोबा में देर शाम तेज आंधी से बिजली के खंभे और तार टूटने से बिजली की आपूर्ति ठप हो गई। जालौन, हमीरपुर, चित्रकूट में भी बारिश और ओले गिरे। कानपुर देहात में शनिवार को तेज हवाओं के साथ बारिश और ओले गिरने से मूंग की फसल को नुकसान पहुंचा। हालांकि, इससे सब्जी की फसल को फायदा होगा।

इटावा, फर्रुखाबाद, औरैया, हरदोई में दीवारें गिरीं 
इटावा में आंधी-बारिश से कई घरों की दीवारें और छप्पर गिर गए। बिजली के 12 से ज्यादा खंभे टूटने से शहर की आपूर्ति व्यवस्था बाधित हो गई। फर्रुखाबाद में शनिवार को तेज हवा के साथ बारिश होती रही। फतेहपुर में दिन में तेज धूप और तपिश के बाद शाम को तेज हवा के साथ बारिश हुई, जिससे टीन शेड उड़ गए। औरैया में शुक्रवार की रात से शनिवार सुबह तक बारिश हुई। हरदोई में भी शनिवार को दिन में कई दौर में बारिश हुई।

आगरा में आंधी से टूटीं जालियां, पेड़ टूटे
आगरा में 124 किमी की रफ्तार से आए बवंडर ने न केवल ताजमहल बल्कि सिकंदरा, एत्माद्दौला, मेहताब बाग समेत कई स्मारकों को काफी नुकसान पहुंचाया है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अफसर वसंत स्वर्णकार ने बताया कि ताजमहल परिसर के वेस्टर्न एंट्री गेट पर टिकट एरिया को नुकसान पहुंचा है। इसके अलावा, ताजमजल के वुडन गेट को नुकसान पहुंचा। मॉर्बल रैलिंग भी उखड़ गईं।  

ताजमहल के पश्चिमी गेट के मुख्य प्रवेश द्वार सहित बरामदे की फॉल सीलिंग को खासा नुकसान पहुंचा।

[ad_2]

Leave your thought here

Your email address will not be published. Required fields are marked *