Blog

मुंबई एयरपोर्ट से एक दिन में 4 हजार लोगों ने सफर किया; यहां कोरोना पॉजिटिव रेट 32%, बीएमसी हेल्प डेस्क के 48 में से 22 कर्मचारी संक्रमित

धारावी स्लम में एक बच्चे की स्वास्थ्य जांच करते स्वास्थ्यकर्मी। यहां अब तक 1500 से ज्यादा संक्रमित मरीज आ चुके हैं और 680 मरीज ठीक हो चुके हैं।
sports

मुंबई एयरपोर्ट से एक दिन में 4 हजार लोगों ने सफर किया; यहां कोरोना पॉजिटिव रेट 32%, बीएमसी हेल्प डेस्क के 48 में से 22 कर्मचारी संक्रमित

[ad_1]

  • हेल्प डेस्क पर केवल 26 लोग ही बचे हैं, इन लोगों को हर दिन 4000 से अधिक कॉल देखनी पड़ रही हैं
  • महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 52,667 तक पहुंच गया, यहां एक दिन में 60 की मौत हुई

दैनिक भास्कर

May 26, 2020, 11:56 AM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में मंगलवार तक कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 52,667 तक पहुंच गया। यहां एक दिन में 60 मरीजों की मौतें हुईं। राज्य में कुल मरने वालों की संख्या 1695 पहुंच गई। पिछले 24 घंटे में राज्य में 2436 नए संक्रमित मरीज सामने आए। सबसे ज्यादा एक दिन में 1186 मरीज ठीक होकर घर लौटे। देश में एक दिन में ठीक होने वाले मरीजों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है। इस हिसाब से अब राज्य में 35 हजार 178 एक्टिव केस ही बचे हैं।

मुंबई में कोरोना पॉजिटिव रेट 32% पहुंचा
हर 100 सैंपल टेस्ट करने पर 32 लोग कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं। 13 मई से 23 मई तक मुंबई में कोरोना के कुल 13,853 मामले सामने आए, जबकि इस दौरान 43,025 लोगों की टेस्टिंग की गई। मुंबई में अब तक 31 हजार से अधिक कोरोना मरीज सामने आ चुके हैं, इनमें से करीब 14 हजार मामले केवल 10 दिन में रिपोर्ट हुए हैं। रूस की राजधानी मॉस्को के बाद मुंबई दुनिया का ऐसा शहर है, जहां एक दिन में कोरोना के रोज सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं।  22 मई को मुंबई में 1,751 मामले सामने आए थे, जो मॉस्को (2,988) के बाद दुनिया में सबसे ज्यादा थे।

बीकेसी में बने 1 हजार के बेड वाले ओपन हॉस्पिटल से बाहर निकलता एक स्वास्थ्यकर्मी। इसे सोमवार शाम को शुरू कर दिया गया है।

राज्य के 60.5% मरने वाले सिर्फ मुंबई से

मुंबई में मरने वालों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा। यहां अब तक 1026 की जान गई। पिछले 24 घंटे में 38 मौतें हुईं। यानि राज्य की 60.5% मौतें सिर्फ मुंबई में ही हुईं हैं। यहां संक्रमितों का आंकड़ा भी बढ़कर 31972 तक पहुंच गया। महाराष्ट्र के कुल संक्रमितों में से 60.7% संक्रमित सिर्फ मुंबई से ही हैं। वहीं, देश से अगर मुंबई की तुलना करें तो मुंबई देश की कुल मौतों का 25% मौत सिर्फ मुंबई में हुई है। 

मुंबई के सीएसटी स्टेशन के बाहर श्रमिक स्पेशल ट्रेन का इंतजार करते सैकड़ों लोग। इस दौरान सभी ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियम जमकर तोड़े।

बीएमसी हेल्प डेस्क पर काम करने वाले 48 में से 22 को कोरोना हुआ

कोरोना मरीजों की जल्द मदद करने के लिए बीएमसी के आपदा ​प्रबंधन नियंत्रण कक्ष में 48 कर्मचारियों को रखा गया था, जिसमें से अब तक 22 कर्मचारियों में कोरोना हो चुका है। अब हेल्प डेस्क पर केवल 26 लोग ही बचे हैं। इन लोगों को अब हर दिन 4000 से अधिक कॉल देखनी पड़ रही हैं, जिसके कारण सभी कर्मचारी काफी तनाव में हैं। मरीजों को एम्बुलेंस मुहैया कराना, अस्पतालों में बेड ​की स्थिति की जानकारी रखना और सं​बंधित अस्पताल से बात कर मरीजों को हर मुमकिन मदद देना, यहां तक कि कोविड 19 से जुड़े सवालों के जवाब भी इसी नियंत्रण कक्ष से दिए जाते हैं।

मुंबई एयरपोर्ट के बाहर यात्रियों को चेक करने के लिए सीआईएसएफ ने एक शील्ड केबिन तैयार किया है।

एक दिन में मुंबई एयरपोर्ट पर 4,852 यात्रियों ने किया सफर

करीब 2 महीने बाद मुंबई एयरपोर्ट से शुरू हुई घरेलू उड़ान सेवा के दौरान 47 विमानों से 4,852 यात्रियों ने सफर किया। इसमें मुंबई आने वाले यात्रियों की संख्या 1,100 थी, जबकि यहां से 3752 लोग देश के अलग-अलग हिस्सों में गए। मुंबई एयरपोर्ट पर उतरने वाले सभी यात्रियों को 14 दिनों तक होम क्वारैंटाइन रहने का आदेश दिया गया है। अन्य प्रदेशों से आने वाले यात्रियों की पहचान के लिए उनके हाथ पर स्टैंप लगाया गया है। एयरपोर्ट प्रवक्ता के अनुसार, सोमवार को करीब 100 विमानों के परिचालन की योजना थी, लेकिन सरकार से रोज 50 उड़ानों की अनुमति मिली थी। सरकार ने सोमवार को 50 में से भी 47 उड़ानों को ही इजाजत दी।

मुंबई एयरपोर्ट के बाहर एक पिता और पुत्री अपने हाथ पर लगी क्वारैंटाइन की मुहर को दिखाते हुए। यहां आने वालों को 14 दिनों के लिए अनिवार्य रूप से होम क्वारैंटाइन में रहना है।

हर रोज 4 हजार के अधिक टेस्टिंग हो रहीं

रोजाना 4 हजार से अधिक कोरोना टेस्टिंग मुंबई में की जा रही है। मुंबई में 23 मई तक 1.7 लाख कोरोना टेस्टिंग की गई थी, इनमें से 43,025 टेस्टिंग केवल 10 दिन में की गई है यानी करीब 25 फीसद टेस्टिंग केवल 13 मई से 23 मई के बीच में की गई है।

सोमवार को महाराष्ट्र सरकार में मंत्री एकनाथ शिंदे ठाणे के सिविल हॉस्पिटल पहुंचे थे। यहां वे करीब एक घंटे तक रहे और मरीजों का हाल जाना।

धारावी में रिकवरी रेट 42% पहुंचा 

एशिया की सबसे बड़ी स्लम धारावी में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1583 तक पहुंच चुका है। लेकिन सुखद पहलू यह है कि यहां कोरोना के मरीजों का रिकवरी रेट मुंबई और महाराष्ट्र से काफी बेहतर है। धारावी में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 42 प्रतिशत है, जबकि 58 प्रतिशत एक्टिव केस हैं। यहां अब तक करीब 680 संक्रमित मरीज ठीक हो चुके हैं।

मुंबई के छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के बाहर फेस शील्ड पहनते दो यात्री। ज्यादातर एयरपोर्ट पर शील्ड एयरलाइन्स कंपनी की ओर से ही दिए जा रहे हैं।

महाराष्ट्र से जम्मू भेजे गए 3300 लोग 

महाराष्ट्र के विभिन्न हिस्सों में फंसे 1,200 छात्रों समेत जम्मू कश्मीर के करीब 3,300 निवासियों को उनके प्रदेश भेजा गया है। जम्मू के लिए पिछले 15 दिनों में 4 ट्रेनें रवाना की गईं। राज्य सरकार के कंट्रोल रूम अधिकारी के अनुसार, जम्मू कश्मीर के फंसे लोगों को निकालने के लिए श्रमिक विशेष ट्रेनों की यह सबसे ज्यादा संख्या है।

[ad_2]

Leave your thought here

Your email address will not be published. Required fields are marked *