Blog

बाजार खुलने के बाद मुंबई-पुणे में 72 दिन बाद फिर लौटी रौनक, 6 पालतू जानवरों के लिए बुक किया 9.6 लाख में प्राइवेट जेट; 20 दिन में 17 सौ से ज्यादा की गई जान

मुंबई समेत देश के कई हिस्सों में धीरे-धीरे बाजार समेत अन्य चीजें खुलने लगी है, जिसके बाद मुंबई में समुद्र किनारे मछली पकड़ने के जाल को सुखाते हुआ एक मछुआरा।
sports

बाजार खुलने के बाद मुंबई-पुणे में 72 दिन बाद फिर लौटी रौनक, 6 पालतू जानवरों के लिए बुक किया 9.6 लाख में प्राइवेट जेट; 20 दिन में 17 सौ से ज्यादा की गई जान

[ad_1]

  • शनिवार तक मुंबई में 1099 नए केस भी मिले। वहीं, कुल केस 46,080 हैं। इनमें से 25,768 एक्टिव केस हैं
  • राज्य में अब तक कुल 2849 की मौत हुई है। राज्य में पिछले 20 दिन में 1714 मरीजों की जान गई है

दैनिक भास्कर

Jun 06, 2020, 10:22 AM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण बेकाबू होता जा रहा है। शुक्रवार को राज्य में संक्रमण से सबसे ज्यादा 139 मरीजों की मौत हुई। इससे पहले गुरुवार को 123 की जान गई थी। अब तक कुल 2849 की मौत हुई है। राज्य में पिछले 20 दिन में 1714 मरीजों की जान गई है। सबसे चिंताजनक स्थिति मुंबई की है। यहां 24 घंटे में 93 कोरोना मरीजों की मौत हुई। अब तक यहां 1519 लोगों की जान जा चुकी है। शनिवार तक मुंबई में 1099 नए केस भी मिले। वहीं, कुल केस 46,080 हैं। इनमें से 25,768 एक्टिव केस हैं।

इसके अलावा, राज्य में शुक्रवार को 2,436 पॉजिटिव केस मिले। संक्रमितों की संख्या 80,229 पहुंच गई। इसमें एक्टिव मरीजों की संख्या 42,215 है। शुक्रवार को संक्रमण के कारण जान गंवाने वालों में सबसे ज्यादा मुंबई से हैं। यहां 93 की मौत हुई। इसके अलावा नासिक में 24, पुणे में 16, रत्नागिरी में 5 और औरंगाबाद में एक मरीज की जान गई। मृतकों में 75 पुरुष और 64 महिलाएं हैं। इनमें से 78 की उम्र 60 साल से अधिक, 53 की उम्र 40 से 60 के बीच और 8 की उम्र 40 साल से कम है। इनमें से 79% मरीजों में डायबिटीज, ह्रदय रोग और हाइपरटेंशन जैसी समस्या थी।

राज्य में अब तक 5 लाख से ज्यादा लोगों की हुई कोरोना जांच
उपचार के बाद 24 घंटे में 1,475 लोगों को घर भेज दिया गया है। अब तक कुल 35,156 लोग कोरोना मुक्त हो चुके है। राज्य में 5,22,946 लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है। बुखार,सर्दी, बदन दर्द और सांस लेने में तकलीफ होने पर तत्काल करीबी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करने को कहा गया है।

मुंबई में पिछले 3 दिन में 384 लोगों की हुई मौत
मुंबई में शुक्रवार को 54, गुरुवार को 48 और बुधवार को 49 मरीजों की मौत हुई। अब तक रोग के कारण राज्य में 2,849 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से 1,519 मौतें मुंबई में हुईं। कोरोना की चपेट में आने के कारण पिछले 3 दिनों में महाराष्ट्र में 384 लोगों को जान गंवानी पड़ी है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, इस दौरान सबसे अधिक 151 मौतें मुंबई में हुई हैं।

मुंबई में फिर से बाजार खुलने के बाद हर दिन सड़कों पर इस तरह की लंबी-लंबी कतार नजर आ रही है।

72 दिन बाद मुंबई में फिर लौटी रौनक

कोरोना संकट से जूझ रही देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में 72 दिन बाद आर्थिक गतिविधियां शुरू हुईं। बीएमसी की गाइडलाइंस के अनुसार कंटेनमेंट जोन छोड़कर लगभग पूरी मुंबई में ऑड-ईवन सिस्टम के तहत दुकानें खुलीं। बाजार खुलने के पहले दिन इलेक्ट्रॉनिक्स, जूते-चप्पलों, बरसात से बचने के लिए ताल पत्री व अन्य सामान और बर्तनों की दुकानों पर ग्राहकों की भीड़ देखी गई। ग्राहकों और दुकानदारों ने पूरी सावधानी बरती। गार्डन खुले, तो लंबे अरसे से घरों में बंद लोगों, खासकर बच्चों ने वहां पहुंचकर सुहाने मौसम का लुत्फ उठाया। दिन भर मुंबई की सड़कों पर ट्रैफिक नजर आया। इससे कोरोना के डर के बावजूद जिंदगी पटरी पर लौटती नजर आई।

सैलून, होटल और धार्मिक स्थल बंद रहेंगे
अनलॉक-1.0 के पहले चरण में सैलून, होटल और धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत नहीं होगी। इसके अलावा स्कूल, कॉलेज, स्विमिंग पूल, जिम, सिनेमाघर भी बंद रहेंगे। शादियों में 50 लोगों तक कि अनुमति होगी। राजकीय, सामाजिक और अन्य बड़े आयोजन प्रतिबंधित होंगे। कपड़ों की दुकानों पर ‘ट्रायल रूम’ का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे और ‘एक्सचेंज-रिटर्न’ पॉलिसी भी प्रतिबंधित होगी।

छह पालतू जानवरों के लिए बुक किया प्राइवेट जेट

मुंबई में रहने वाली 25 साल की दीपिका सिंह ने दिल्ली में फंसे पालतू जानवरों को उनके मालिकों से दोबारा मिलाने के लिए एक निजी जेट बुक किया है। विमान जून के मध्य में दिल्ली से मुंबई के लिए उड़ान भरेगा। इसे बुक करने का खर्च 9.6 लाख रुपये आया है। यानी एक सीट के लिए 1.6 लाख रुपये का भुगतान किया गया है। साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर दीपिका ने कहा, ‘अभी तक चार लोगों ने इस विमान से अपने पालतू जानवरों को घर लाने के लिए दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए हैं। हमारी कोशिश है कि दो और ऐसे लोग मिल जाएं ताकि सभी पर आने वाला खर्च कम हो जाए। यदि लोग नहीं मिलते हैं तो चार सीटों का खर्च और बढ़ जाएगा।’

बाहर जाने की इच्छा रखने वाले सभी श्रमिकों को उनके घर भेजा
बॉम्बे हाई कोर्ट में राज्य सरकार ने प्रवासी श्रमिकों को लेकर अपना पक्ष रखा। सरकार ने कहा कि राज्य में प्रवासी श्रमिकों की ओर से श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के लिए एक भी मांग लंबित नहीं है। यानि अब राज्य से कोई भी श्रमिक बाहर जाने वाला नहीं है। आपदा प्रबंधन, राहत और पुनर्वास विभाग के सचिव किशोर निंबालकर द्वारा दाखिल हलफनामे में कहा गया कि एक जून तक राज्य से 822 ट्रेनों के जरिए 11 लाख 87 हजार 150 प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य पहुंचाया गया। सरकार ने यह भी बताया कि अगर प्रवासी श्रमिकों की तरफ से अनुरोध होगा तो वह इंतजाम करेगी। सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियंस की तरफ से दायर एक याचिका के जवाब में सरकार ने हलफनामा दाखिल किया है। याचिका में कोविड-19 महामारी के बीच प्रवासी मजदूरों की समस्याओं के प्रति चिंता व्यक्त की गई है।

क्वारैंटाइन सेंटर में भ्रष्टाचार का आरोप
भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य एवं नगरसेवक श्याम अग्रवाल ने भिवंडी महानगर पालिका के इंस्टिट्यूशनल क्वारैंटाइन में कोरोना के संदिग्ध मरीजों से वसूली करने, उन्हें भरपेट खाना न देने, खाने में कीड़े निकलने और क्वारैंटाइन सेंटर में गंदगी पसरे होने के आरोप लगाए हैं।  जिसके बाद विधान परिषद के विरोधी पक्ष नेता प्रवीण दरेकर ने पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे को तुरंत एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया है। इस मामले में मनपा आयुक्त डॉ. प्रवीण आष्टीकर ने कहा है कि संबंधित कर्मचारी के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की जाएगी।

बिना जांच के कोरोना मरीज को छोड़ने का आरोप

ठाणे शहर के अस्पतालों में भर्ती कोरोना मरीजों को सात-आठ दिनों के बाद बिना जांच किए छोड़े जाने का मामला सामने आया है। महापौर नरेश महस्के ने निजी अस्पतालों की इस लापरवाही को गंभीर मामला बताया है। उन्होंने मनपा आयुक्त को पत्र लिखकर ऐसे अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

[ad_2]

Leave your thought here

Your email address will not be published. Required fields are marked *