Blog

पुणे और मुंबई में फ्लाइट्स शुरू हुईं; 5 लाख लोग क्वारैंटाइन, संक्रमण का पता लगाने के लिए बीएमसी लोगों का एक्स-रे करेगी

यह तस्वीर मुंबई की है। यहां पश्चिम बंगाल का एक प्रवासी मजदूर घर के लिए राशन ले जाता हुआ।
sports

पुणे और मुंबई में फ्लाइट्स शुरू हुईं; 5 लाख लोग क्वारैंटाइन, संक्रमण का पता लगाने के लिए बीएमसी लोगों का एक्स-रे करेगी

[ad_1]

  • महाराष्ट्र में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 50 हजार के पार, 24 घंटे में कोरोना के 3,041 नए मामले सामने आए
  • वायरस की वजह से रविवार को 58 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी, इनमें से सबसे ज्यादा 39 मरीजों की मौत मुंबई में हुई

दैनिक भास्कर

May 25, 2020, 01:28 PM IST

मुंबई. महाराष्ट्र में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 50 हजार को पार कर गई है। रविवार से सोमवार सुबह तक 24 घंटे में कोरोना के 3,041 नए मामले सामने आए हैं। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, अब कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 50,231 हो गई है। राज्य में अब तक 1,635 लोगों की जान कोरोना से जा चुकी है। वायरस की वजह से रविवार को 58 लोगों की मौत हुई। इनमें से सबसे ज्यादा 39 मरीजों की मौत मुंबई में हुई। यहां संक्रमण से जान गंवाने वालों का आंकड़ा 988 पर पहुंच गया है।

कोरोना संक्रमितों के लक्षणों का जल्द पता लगाने के लिए बीएमसी व्यापक स्तर पर लोगों का एक्स-रे करेगी। इसके लिए प्रशासन ने 10 डिजिटल एक्स-रे मशीनें तैयार की हैं। इन्हें कहीं भी ले जाया जा सकता है। शुरू में रोज 500 एक्सर-रे करने का लक्ष्य है। चीन में भी इस तकनीक का इस्तेमाल किया गया था। बिना लक्षणों वाले मरीजों के लंग्स के एक्स-रे के आधार पर यह पता चल सकेगा कि मरीज कितना गंभीर हो सकता है। ऐसे में उन्हें पहले से ही अस्पताल में भेज दिया जाएगा। माना जा रहा है कि इससे कोरोना के चलते होने वाली मौत को कम किया जा सकता है।

  
14 हजार लोग कोरोना मुक्त, 5 लाख से ज्यादा क्वारैंटाइन
राज्य में पिछले 24 घंटे में 1,196 लोगों को घर भेज दिया गया है। अब तक कुल 14,600 मरीज कोरोनावायरस को मात दे चुके हैं। कोरोना को रोकने के लिए 4 लाख 99 हजार 387 लोगों को घरों और 35107 लोगों को अन्य स्थानों पर क्वारैंटाइन किया गया है। अब तक 3 लाख 62 हजार 862 लोगों की जांच की जा चुकी है, इनमें से 3 लाख 12 हजार 631 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है।

महाराष्ट्र सरकार ने घरेलू उड़ानों को मंजूरी दे दी है, जिसके बाद मुंबई और पुणे में दो फ्लाइट्स लखनऊ और दिल्ली से आईं हैं। यह तस्वीर रविवार शाम की मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस की है।

मुंबई और पुणे आईं फ्लाइट्स

महाराष्ट्र सरकार ने रविवार शाम को मुंबई में 50 फ्लाइट्स की अनुमति दी। यानी रोजाना राज्य में 25 फ्लाइट्स टेक ऑफ और 25 फ्लाइट्स लैंडिंग कर सकेंगी। सोमवार सुबह एक फ्लाइट दिल्ली से पुणे और दूसरी लखनऊ से मुंबई पहुंची। 

कोरोना के डर से नौकरी छोड़ रही हैं नर्सें

पुणे में निजी अस्पताल के संचालकों ने कहा है कि कोरोना संकट के बीच बड़ी तादाद में नर्सें इस्तीफा देकर जा रही हैं। इससे इस महामारी से मुकाबला करने की कोशिशों में मुश्किल आ रही है। नौकरी छोड़कर जाने वाली नर्सों में ज्यादातर केरल की हैं। अस्पताल संचालकों ने कहा कि जिला एवं निकाय प्रशासन के साथ शनिवार को हुई बैठक में इस मुद्दे को उठाया गया था। निकाय प्रशासन का कहना है कि नर्सों को यह बताया जाना चाहिए कि महाराष्ट्र आवश्यक सेवा कानून लागू है, जिसके तहत अस्पताल में काम करने वाली नर्सों का गैर जरूरी इस्तीफा नामंजूर कर सकते हैं।

मुंबई के भायखला में अपने राज्य के लिए बस पकड़ने पहुंचे बिहार के प्रवासी मजदूर। इस दौरान सभी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां तोड़ते नजर आए। 

उद्धव ठाकरे और रेल मंत्री में बहस- पीयूष गोयल ने 5 घंटे में 9 ट्वीट कर महाराष्ट्र सरकार से डिटेल मांगी
श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के मुद्दे पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल में बहस हो गई। उद्धव ने रविवार को आरोप लगाया कि रेलवे पर्याप्त ट्रेनें उपलब्ध नहीं करवा रहा। इसके जवाब में रेल मंत्री ने रविवार शाम 7 बजे से रात 12 बजे तक 9 बार ट्वीट कर महाराष्ट्र सरकार से जानकारी मांगी, लेकिन डिटेल नहीं मिल पाई। रात 2 बजे गोयल ने 10वां ट्वीट किया और बताया कि 125 ट्रेनों की लिस्ट मांगी थी, लेकिन 46 की ही मिली।

गोयल ने पहली बार शाम 7.14 बजे एक साथ 3 ट्वीट किए। उन्होंने उद्धव ठाकरे पर कटाक्ष भी किया। गोयल ने कहा- उम्मीद है कि पहले की तरह ट्रेनें स्टेशन पर आने के बाद, खाली नहीं लौटेंगी। 

रेल मंत्री का ट्वीट..

7 लाख 38 हजार प्रवासी मजदूर को घर भेजा गया 
महाराष्ट्र सरकार ने अब तक 527 ट्रेनों से सात लाख 38 हजार मजदूरों को उनके गृह राज्य पहुंचा दिया है। राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने बताया कि मजदूरों के रेल टिकट से लेकर उनके खाने वगैरह की सभी व्यवस्थाएं राज्य सरकार कर रही है। 

लॉकडाउन के बीच मुंबई के कई इलाकों में कपड़े की दुकानें भी खुली हैं। ईद के चलते रविवार को भारी संख्या में लोग कपड़े खरीदने पहुंचे थे।



[ad_2]

Leave your thought here

Your email address will not be published. Required fields are marked *